समलैंगिकता और ब्लैकमेलिंग के चलते कत्ल की चौंकाने वाली कहानी, 3 आरोपी गिरफ्तार

मुख्य आरोपी प्रेमवीर की सरोजिनी नगर में कपड़े की दुकान है और वो शादीशुदा है. उसके 2 बच्चे भी हैं. आरोपी पविंदर आईटीआई कर चुका है और अभी स्नातक कर रहा है, जबकि तीसरा आरोपी रोहित पेशे से पेंटर है.

समलैंगिकता और ब्लैकमेलिंग के चलते कत्ल की चौंकाने वाली कहानी, 3 आरोपी गिरफ्तार

29 जनवरी को दिल्ली पुलिस ने सरोजिनी नगर में एक अज्ञात शख्स का शव बरामद किया था.

नई दिल्ली:

दिल्ली के सरोजिनी नगर में कत्ल की एक वारदात हुई, जहां सरोजिनी नगर मार्किट में कपड़े की एक दुकान में काम करने वाले शख्स को दुकान के मालिक ने ही मौत के घाट उतार दिया. दरअसल, दुकानदार और मृतक के बीच समलैंगिक रिश्ते थे. मृतक के पास आरोपी का एक वीडियो भी था, जिसे लेकर वो उसे ब्लैकमेल कर रहा था. इसी वजह से हत्या की साजिश रची गई. आरोप है कि मृतक के पास कत्ल के इस केस में समलैंगिकता से जुड़ा हुए तार और कहानी सामने आई है. पुलिस ने सनसनीखेज मामला 40 घंटे में सुलझा लिया है. दक्षिणी दिल्ली के डीसीपी गौरव शर्मा के मुताबिक 29 जनवरी को दिल्ली पुलिस को सरोजिनी नगर में एक अज्ञात शख्स का शव बरामद हुआ था. काफी कोशिशों के बाद उस शख्स की पहचान 22 साल के शमशेर खान के तौर पर हुई जो कि मूल रूप से कोडरमा झारखंड का रहने वाला था और सरोजिनी नगर में प्रेमवीर नाम के शख्स की दुकान पर काम किया करता था. 

CCTV में कैद : दिल्ली में लालकिले के पास बाइक सवार युवकों ने की अंधाधुंध फायरिंग, तीन को लगी गोली

उन्होंने बताया कि शव की पहचान होने के बाद दिल्ली पुलिस ने जांच शुरू की तो चौंकाने वाले खुलासे होने लगे. जांच में पता चला कि मृतक के दुकान मालिक परमवीर उर्फ प्रेमी के साथ समलैंगिक संबंध थे. यह भी खुलासा हुआ कि मृतक लगातार दुकान के मालिक प्रेमी को ब्लैकमेल करके वसूली कर रहा था. मृतक के पास दोनों का एक वीडियो था, जिसे वायरल करने की धमकी दी जा रही थी. दिल्ली पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज के आधार पर दुकान के मालिक प्रेमवीर को गिरफ्तार कर लिया.

पूछताछ में प्रेमवीर ने खुलासा किया कि उसने अपने भतीजे पविंदर को खुर्जा से बुलाया था. पविंदर अपने दोस्त रोहित के साथ टैक्सी से 28 जनवरी की शाम दिल्ली पहुंच गया था. प्रेमवीर ने दोनों को युसूफ सराय के स्मार्ट इन होटल में कमरा दिलवा दिया था. प्लान के मुताबिक प्रेमवीर 29 तारीख को रात 8:30 बजे तक शमशेर खान को गेस्ट हाउस अपने साथ लेकर गया, जहां पहले से दोनों आरोपी प्रेमवीर का इंतजार कर रहे थे. तीनों ने मिलकर शमशेर खान का नायलॉन की रस्सी से गला दबा दिया और शव को एक ट्रॉली बैग में रखकर सरोजनी नगर मेट्रो स्टेशन के पास छोड़कर फरार हो गए.

दिल्‍ली : पुलिस ने अवैध हथियारों के सिंडिकेट का किया भंडाफोड़, MP से हथियार लाकर दिल्‍ली-NCR में बेचते थे

सीसीटीवी से यह भी खुलासा हुआ कि यह दोनों एक बैग लेकर जाते हुए नजर आए. कत्ल की वारदात अंजाम देने के बाद दोनों प्रेमवीर के साथ ही खुर्जा वापस चले गए और अपने साथ मृतक का मोबाइल, पर्स और दूसरा सामान भी ले गए. कुछ सामान जला भी दिया. दिल्ली पुलिस के अफसरों ने दोनों आरोपियों की तलाश में खुर्जा में भी छापेमारी की और दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया. आरोपियों ने बताया कि वो 19 जनवरी को ही शमशेर को मारना चाहते थे, लेकिन उस दिन दिल्ली में पुलिस की ज्यादा तैनाती के चलते ऐसा नहीं कर पाये. जिस टैक्सी में ये शव को ले गए थे, उसके ड्राइवर ने पुलिस को बताया कि आरोपियों ने उससे कहा था कि ट्रॉली बैग में कपड़े हैं. मुख्य आरोपी प्रेमवीर की सरोजिनी नगर में कपड़े की दुकान है और वो शादीशुदा है. उसके 2 बच्चे भी हैं. आरोपी पविंदर आईटीआई कर चुका है और अभी स्नातक कर रहा है, जबकि तीसरा आरोपी रोहित पेशे से पेंटर है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


आतंकी संगठन 'हमास' ने चुराए थे दिल्ली के शख्स के क्रिप्टोकरेंसी वॉलेट से करोड़ों रुपये