'संसद का अपमान हुआ' : पेपर छीनने और 'पापड़ी चाट' के कमेंट को लेकर बोले पीएम मोदी

मंगलवार को संसदीय दल की बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विपक्ष पर जमकर निशाना साधा. उन्‍होंने कहा कि विपक्ष संसद नहीं चलने दे रहा.यह संसद, संविधान, लोकतंत्र और देश की जनता का अपमान है

नई दिल्ली:

Parliament Monsoon Session: पेगासस स्‍कैंडल और कृषि कानूनों के मुद्दे को लेकर संसद सत्र की कार्यवाही (Parliament Monsoon Session)लगातार बाधित हो रही है. कोशिशों के बावजूद सरकार और विपक्ष के बीच गतिरोध दूर नहीं हो सका है. मंगलवार को संसदीय दल की बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने विपक्ष पर जमकर निशाना साधा. उन्‍होंने कहा कि विपक्ष संसद नहीं चलने दे रहा.यह संसद, संविधान, लोकतंत्र और देश की जनता का अपमान है.संसद की कार्यवाही के दौरान एक कैबिनेट मंत्री से पेपर छीनने और तृणमूल कांग्रेस के राज्‍यसभा सांसद डेरेक ओ'ब्रायन के पापड़ी चाट कमेंट का उल्‍लेख करते हुए पीएम ने कहा कि संसद का अपमान किया गया है. इससे पहले, 27 जुलाई को भी बीजेपी संसदीय दल की बैठक में पीएम मोदी ने कांग्रेस पर जमकर निशाना साधते हुए कहा था कि यह पार्टी सदन नहीं चलने दे रही.

पेगासस कांड पर संसद ठप, राहुल गांधी संग नाश्ते पर जुटे विपक्ष के नेता, बनी साझा रणनीति

उन्‍होंने कहा था कि जब कोविड-19 पर बैठक बुलाई गई तो कांग्रेस ने बहिष्कार भी किया और अन्य दलों को आने से रोका. पीएम मोदी ने बीजेपी सांसदों से आग्रह किया था कि वे कांग्रेस और विपक्ष के इस 'कार्य' को जनता और मीडिया के सामने एक्सपोज करें. पीएम ने सांसदों से यह भी कहा था कि आजादी के 75 साल पूरा होने के मौके पर 75 गांव जाएं, 75 घंटे रुकें. गांवों में देश की उपलब्धियां, देश की आजादी इन तमाम चीजों के बारे में लोगों को बताएं. छोटी-छोटी जोड़ियां बना करके जाना चाहिए. उन्‍होंने कहा था कि यह सुनिश्चित करना होगा कि आजादी के 75 साल का यह कार्यक्रम सरकारी कार्यक्रम बनकर न रह जाए, इस कार्यक्रम में देश के जन-जन की भागीदारी होनी चाहिए.


पीएम ने हॉकी टीम के कप्तान से की बात, बेल्जियम के खिलाफ मैच में हार के बाद बढ़ाया हौसला

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


गौरतलब है कि पेगासस जासूसी और कृषि कानूनों के मुद्दे पर दोनों सदनों की कार्यवाही में लगातार बाधा उत्‍पन्‍न हो रही है. सरकार-विपक्ष के बीच गतिरोध दूर नहीं हो पा रहा है. अगस्‍त माह के पहले वर्किंग डे यानी सोमवार को भी कार्यवाही स्‍थगित करनी पड़ी थी. संसद सत्र 19 जुलाई से प्रारंभ हुआ हैलेकिन ज्‍यादा समय विपक्षी सांसदों के हंगामे और विरोध की ही भेंट चढ़ा है.