हमारी सरकार ने चार लाख से ज्‍यादा लोगों को दी सरकारी नौकरी : योगी

उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने अपनी सरकार के कार्यकाल में चार लाख से ज्‍यादा लोगों को सरकारी नौकरी देने का दावा करते हुए बुधवार को कहा कि उनकी सरकार युवाओं को रोजगार के ज्‍यादा से ज्‍यादा मौके देने के लिये संकल्‍पबद्ध है.

हमारी सरकार ने चार लाख से ज्‍यादा लोगों को दी सरकारी नौकरी : योगी

उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ (फाइल फोटो)

लखनऊ:

उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने अपनी सरकार के कार्यकाल में चार लाख से ज्‍यादा लोगों को सरकारी नौकरी देने का दावा करते हुए बुधवार को कहा कि उनकी सरकार युवाओं को रोजगार के ज्‍यादा से ज्‍यादा मौके देने के लिये संकल्‍पबद्ध है. राज्‍य सरकार के एक प्रवक्‍ता ने बताया कि मुख्यमंत्री ने यहां उत्तर प्रदेश अधीनस्थ सेवा चयन आयोग द्वारा सिंचाई एवं जल संसाधन विभाग के नवचयनित 3,209 नलकूप चालकों को नियुक्ति पत्र वितरण के बाद कहा कि उनकी सरकार ने चार लाख से अधिक लोगों को राजकीय सेवाओं में रोजगार दिया है.

योगी ने कहा कि उनकी सरकार ने 15 लाख से अधिक लोगों को निजी क्षेत्र में तथा लगभग 1.5 करोड़ लोगों को स्वरोजगार से जोड़ा है. प्रदेश सरकार ने पुलिस विभाग में 1.37 लाख भर्तियां करने के साथ-साथ लगभग एक लाख सहायक अध्यापकों की भर्ती की है. मुख्‍यमंत्री ने कहा, ‘‘राज्य सरकार युवाओं को रोजगार के अधिक से अधिक अवसर मुहैया कराने के लिए संकल्पबद्ध है. इसके लिए मिशन रोजगार के अन्तर्गत विभिन्न विभागों, संस्थाओं एवं निगमों आदि के समन्वित प्रयास से प्रदेश के नौजवानों को रोजगार उपलब्ध कराया जाएगा.


राज्य सरकार ने चार वर्षों में चार लाख नौजवानों को रोजगार उपलब्ध कराने का लक्ष्य तय किया है, जिसकी प्राप्ति के लिए निरन्तर प्रयास किये जा रहे हैं.'' उन्‍होंने कहा कि राज्य सरकार की नीति है कि पूरी निष्पक्षता, पारदर्शिता एवं भेदभाव रहित ढंग से विभिन्न पदों के लिए भर्ती प्रक्रिया पूर्ण की जाए. प्रदेश सरकार द्वारा युवाओं का चयन एवं पदस्थापन उनकी योग्यता और क्षमता के आधार पर किया जा रहा है, जिससे उनकी ऊर्जा और कौशल का प्रदेश के विकास के लिए पूरा उपयोग किया जा सके. योगी ने कहा कि पहली बार नलकूप चालकों की भर्ती में 516 महिलाओं का भी चयन हुआ है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


सभी चयनित अभ्यर्थियों को एक माह का प्रशिक्षण देने की व्यवस्था की गयी है. इस अवसर पर उन्होंने कुल नवचयनित नलकूप चालकों को चयन एवं पदस्थापन का प्रमाण पत्र प्रदान किया. मुख्‍यमंत्री ने वीडियो कांफ्रेंस के जरिये विभिन्‍न जिलों में चयनित नलकूप चालकों से बात भी की और उनसे पूछा कि चयन और तैनाती प्रक्रिया के दौरान उन्हें किसी प्रकार के लेनदेन, सिफारिश या भेदभाव का सामना तो नहीं करना पड़ा. मुख्यमंत्री जी को सभी अभ्यर्थियों से नहीं में जवाब मिला.



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)