अब रुस ने दवाओं की पूर्ति के लिए भारत का आभार जताया, कहा- कोरोनावायरस के खिलाफ लड़ाई में भारत का फैसला...

भारत में रूसी दूतावास के अनुसार रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के प्रवक्ता ने कहा, 'COVID19 से लड़ने के लिए दवाओं की आपूर्ति के निर्णय के लिए रूस भारत का आभारी है.

अब रुस ने दवाओं की पूर्ति के लिए भारत का आभार जताया, कहा- कोरोनावायरस के खिलाफ लड़ाई में भारत का फैसला...

कोरोनावायरस से लड़ने के लिए दवाओं की आपूर्ति के निर्णय के लिए रूस ने जताया भारत का आभार

नई दिल्ली:

कोरोनावायरस के खिलाफ जंग में भारत महत्वपूर्ण निभाता हुआ नजर आ रहा है, अन्य देशों के लिए मलेरिया रोधी दवा ‘हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन' के निर्यात का रास्ता खोलने के बाद कई देश खुले दिल से भारत का आभार जता चुके हैं. इसी कड़ी में रुस का नाम भी जुड़ गया है. भारत में रूसी दूतावास के अनुसार रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के प्रवक्ता ने कहा, 'COVID19 से लड़ने के लिए दवाओं की आपूर्ति के निर्णय के लिए रूस भारत का आभारी है. हम भारत के इस फैसले को कोरोनावायरस के खिलाफ लड़ाई में सहयोग पर समझौतों को लागू करने की दिशा में एक प्रभावी कदम मानते हैं.'


बता दें कि रूस सरकार ने अपने यहां कोरोना वायरस से पीड़ित रोगियों के इलाज में मलेरिया रोधी दवा ‘हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन' के इस्तेमाल की अनुमति दे दी है. मलेरिया रोधी इस दवा के प्रभाव और सुरक्षा संबंधी अंतरराष्ट्रीय चिंताओं के बीच रूस ने इसके इस्तेमाल को स्वीकृति प्रदान की है. आपकी जानकारी के लिए बता दें कि ‘हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन' का दशकों से मलेरिया के उपचार में इस्तेमाल किया जा रहा है और अब यह दवा तमाम चिंताओं के बावजूद कोरोना वायरस के उपचार में भी इस्तेमाल की जा रही है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


गौर हो कि दुनियाभर में आधिकारिक स्रोतों से गुरुवार को रात तक संकलित आंकड़ों के अनुसार कोरोना वायरस महामारी से अब तक 1,40,000 लोगों की मौत हो चुकी है. चीन में दिसंबर में सबसे पहली बार कोरोना वायरस महामारी के सामने आने के बाद से 193 देशों में अब तक संक्रमण के 20,83,820 से अधिक मामलों की पुष्टि हुई है.