महाराष्ट्र ने नर्सरी से पहली कक्षा के दाखिलों के लिए न्यूनतम आयु में छूट दी

सरकार के 18 सितंबर 2020 के प्रस्ताव के अनुसार, स्कूल में दाखिले के लिए न्यूनतम आयु के लिए कट-ऑफ तारीख 31 दिसंबर है. इसके कारण अक्टूबर, नवंबर और दिसंबर में जन्मे बच्चों को स्कूलों में दाखिला लेने में दिक्कतें आ रही हैं.

महाराष्ट्र ने नर्सरी से पहली कक्षा के दाखिलों के लिए न्यूनतम आयु में छूट दी

नर्सरी से लेकर पहली कक्षा के दाखिले के लिए न्यूनतम आयु में छूट दी है. (फाइल फोटो)

पुणे:

महाराष्ट्र के शिक्षा विभाग ने अकादमिक वर्ष 2022-23 के लिए नर्सरी से लेकर पहली कक्षा के दाखिले के लिए न्यूनतम आयु में छूट दी है. अधिकारियों ने मंगलवार को यह जानकारी दी. सरकार के 18 सितंबर 2020 के प्रस्ताव के अनुसार, स्कूल में दाखिले के लिए न्यूनतम आयु के लिए कट-ऑफ तारीख 31 दिसंबर है. इसके कारण अक्टूबर, नवंबर और दिसंबर में जन्मे बच्चों को स्कूलों में दाखिला लेने में दिक्कतें आ रही हैं. सरकारी परिपत्र में सोमवार को कहा गया कि इस मुद्दे पर विचार करते हुए शिक्षा विभाग ने अकादमिक वर्ष 2022-23 के लिए दाखिले के वास्ते न्यूनतम आयु के मानदंड बदल दिए हैं. '

नए नियम के अनुसार, एक अक्टूबर 2018 से 31 दिसंबर 2019 के बीच जन्मे बच्चे तथा 31 दिसंबर 2022 तक तीन साल की न्यूनतम आयु पूरी कर चुके बच्चे नर्सरी में दाखिला ले सकते हैं.

कुत्ते और बंदर की दोस्ती ने जीता लोगों का दिल, वीडियो देख लोग बोले- ‘इसे कहते हैं असली याराना'

इसी तरह एक अक्टूबर 2016 से 31 दिसंबर 2017 के बीच जन्मे बच्चे और 31 दिसंबर 2022 तक पांच साल की न्यूनतम आयु वाले बच्चे सीनियर केजी दाखिले के योग्य हैं.

महाराष्ट्र के इस जिले में शराब बिक्री पर लगी रोक हटाने पर हाईकोर्ट में याचिका दायर


पहली कक्षा के लिए न्यूनतम आयु 31 दिसंबर 2022 तक छह वर्ष होनी चाहिए. परिपत्र में कहा गया है कि प्राइमरी से पूर्व दाखिले के लिए आयु सीमा में छूट दी जा सकती है. कोई भी स्कूल उम्र संबंधी मुद्दे का हवाला देते हुए बच्चों को दाखिला देने से इनकार नहीं कर सकता.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


परिपत्र में कहा गया है कि दाखिलों के लिए कोई ऊपरी सीमा तय नहीं की गयी है और इसमें छूट दी जा सकती है.



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)