देश को लॉकडाउन से बचाना है, इसे अंतिम उपाय के रूप में ही अपनाएं राज्य : PM नरेंद्र मोदी

भारत में कोरोनावायरस संकट (Coronavirus in India) के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने आज (मंगलवार) राष्ट्र को संबोधित किया.

देश को लॉकडाउन से बचाना है, इसे अंतिम उपाय के रूप में ही अपनाएं राज्य : PM नरेंद्र मोदी

PM नरेंद्र मोदी ने राष्ट्र को संबोधित किया

खास बातें

  • पीएम मोदी का राष्ट्र के नाम संबोधन
  • कोविड-19 पर प्रधानमंत्री का संबोधन
  • पीएम बोले- देश को लॉकडाउन से बचाना है
नई दिल्ली:

भारत में कोरोना संकट (Coronavirus in India) के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने मंगलवार को राष्ट्र को संबोधित किया. प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, 'कोरोना के खिलाफ देश आज फिर एक बहुत बड़ी लड़ाई लड़ रहा है. कुछ समय पहले तक स्थितियां संभली हुई थीं, फिर ये कोरोना की दूसरी वेव तूफान बनकर आ गई. जो पीड़ा आपने सही है, जो आप सह रहे हैं, उसका मुझे पूरा अहसास है. जिन लोगों ने बीते दिनों में अपने को खोया है, मैं सभी देशवासियों की तरफ से संवेदनाएं प्रकट करता हूं. मैं आपके दुख मैं शामिल हूं. चुनौती बड़ी है लेकिन हमें मिलकर अपने संकल्प, अपने हौसले और तैयारी के साथ इसको पार करना है.'

पीएम मोदी ने कहा, 'इस बार जैसे ही कोरोना के केस बढ़े, फार्मा सेक्टर ने दवाइयों का उत्पादन और बढ़ा दिया है. इसे अभी और तेज किया जा रहा है. प्रोडक्शन बढ़ाने के लिए हर तरीके से दवाई कंपनियों की मदद ली जा रही है. हमारे पास इतना मजबूत फार्मा सेक्टर है. अस्पतालों में बेड की संख्या को बढ़ाने का भी काम चल रहा है.'

पीएम मोदी ने कहा, 'कठिन से कठिन समय में भी हमें धैर्य नहीं खोना चाहिए. तभी हम विजय हासिल कर सकते हैं. जो फैसले लिए गए हैं, वह स्थिति को तेजी से सुधारेंगे. ऑक्सीजन की डिमांड बहुत ज्यादा बड़ी है. इस दिशा में बहुत तेजी से काम किया जा रहा है.'

पीएम ने कहा, 'हर जरूरतमंद को ऑक्सीजन मिले इसके लिए कई स्तर पर उपाय किए जा रहे हैं. राज्यों में नए ऑक्सीजन प्लांट, राज्यों को 1,00,000  सिलेंडर पहुंचाने हो, औद्योगिक इकाइयों में इस्तेमाल हो रही ऑक्सीजन का मेडिकल इस्तेमाल हो, रेल हो...हर स्तर पर प्रयास हो रहा है.'

उन्होंने आगे कहा, 'आज दुनिया की सबसे सस्ती वैक्सीन भारत में है. वैक्सीन को फास्ट ट्रैक अप्रूवल और रेगुलेटरी सेवक के तहत तैयार किया गया. दुनिया में सबसे तेजी से भारत में 12 करोड़ से ज्यादा लोगों को वैक्सीन दिया गया है. 1 मई के बाद से 18 वर्ष के ऊपर के किसी भी व्यक्ति को वैक्सीनेट किया जा सकेगा. पहले की तरह सरकारी अस्पतालों में मुफ्त वैक्सीन मिलती रहेगी.'

पीएम मोदी ने कहा, 'यह एक टीम एफर्ट है, जिसके कारण हमारा भारत, दो मेड इन इंडिया वैक्सीन्स के साथ दुनिया का सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान शुरू कर पाया. टीकाकरण के पहले चरण से ही गति के साथ ही इस बात पर जोर दिया गया कि ज्यादा से ज्यादा क्षेत्रों तक, जरूरतमंद लोगों तक वैक्सीन पहुंचे.'

पीएम मोदी ने कहा, 'आज की स्थिति में हमें देश को लॉकडाउन से बचाना है. मैं राज्यों से कहूंगा कि वह लॉकडाउन को आखिरी विकल्प के तौर पर ही देखें. लॉकडाउन से हमें बचने की भरपूर कोशिश करनी है. राज्य माइक्रो कंटेनमेंट जोन पर ज्यादा ध्यान दें. युवा साथियों से अनुरोध है कि अपने मोहल्ले में कमेटियां बनाकर कोविड-19 शासन करवाने में मदद करें. घर का माहौल कम करना जरूरी लोग अफवाहों में ना आए.'

प्रधानमंत्री ने कहा, 'मेरा राज्य प्रशासन से आग्रह है कि वो श्रमिकों का भरोसा जगाए रखें. उनसे आग्रह करें कि वो जहां हैं, वहीं रहें. राज्यों द्वारा दिया गया ये भरोसा उनकी बहुत मदद करेगा कि वो जिस शहर में हैं, वहीं पर अगले कुछ दिनों में वैक्सीन भी लगेगी और उनका काम भी बंद नहीं होगा.'

प्रधानमंत्री ने कहा, 'हमारे शास्त्रों में कहा गया है- त्याज्यं न धैर्यं विधुरेऽपि काले. कठिन से कठिन समय में भी हमें धैर्य नहीं खोना चाहिए. किसी भी परिस्थिति से निपटने के लिए हम सही निर्णय लें, सही दिशा में प्रयास करें तभी विजय हासिल कर सकते हैं. इसी मंत्र को लेकर आज देश दिन-रात काम कर रहा है.'

पीएम मोदी ने कहा, 'अपने बाल मित्रों से एक बात विशेष तौर पर कहना चाहता हूं. मेरे बाल मित्र, घर में ऐसा माहौल बनाएं कि बिना काम, बिना कारण घर के लोग, घर से बाहर न निकलें. आपकी जिद बहुत बड़ा परिणाम ला सकती है.'

बताते चलें कि भारत में COVID-19 के मामले थमने का नाम नहीं ले रहे हैं. कोरोना से मौतों का भी आंकड़ा बढ़ा है. आज (मंगलवार) सुबह केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार, भारत में पिछले 24 घंटों में कोरोना के 2,59,170 नए मामले सामने आए. संक्रमितों की कुल संख्या बढ़कर 1,53,21,089 हो गई है. इस दौरान 1,761 और लोगों की मौत हो गई. कुल मृतक संख्या बढ़कर 1,80,530 हो गई है. देश में इस समय कोरोना से संक्रमित 20,31,977 लोगों का इलाज चल रहा है.

एक मई से ओपन मार्केट में उपलब्ध होगी कोरोना वैक्सीन, जानिए टीकाकरण के तीसरे फेज की खास बातें...


गौरतलब है कि अब से कुछ देर पहले पीएम मोदी ने वैक्सीन निर्माताओं के साथ बैठक की थी. सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (SII) के CEO अदार पूनावाला (Adar Poonawala) ने केंद्र द्वारा टीकाकरण की नीति में बदलाव लाने के कदम का स्वागत किया. उन्होंने कहा कि अब हर वयस्क को टीका लगाने और दवा-निर्माण उद्योग को आर्थिक मदद बढ़ाने का फैसला सराहनीय है. इससे वैक्सीन के निर्माण और वितरण में मदद मिलेगी. भारत की सबसे बड़ी वैक्सीन निर्माता कंपनी के मालिक पूनावाला ने इसके लिए पूरी इंडस्ट्री की ओर से प्रधानमंत्री मोदी को धन्यवाद दिया.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


VIDEO: कोरोना को लेकर PM मोदी ने अधिकारियों के साथ की बैठक