दिल्ली : ज्वैलर पर हमला करके लूटा था 4 किलो सोना, बदमाशों को क्राइम ब्रांच ने किया गिरफ्तार

बदमाशों ने लूट के दौरान ज्वैलर के दोनों पैरों पर चाकू मारकर घायल किया था, ताकि वो पीछा न कर सके. वहीं, पीड़ित के सिर पर पिस्टल की बट मारकर लहूलुहान कर दिया था. पुलिस ने आरोपियों की निशानदेही पर करीब दो किलो सोना, एक बाइक और सात मोबाइल फोन बरामद किए हैं, जबकि दो लुटेरे अभी फरार हैं.

दिल्ली : ज्वैलर पर हमला करके लूटा था 4 किलो सोना, बदमाशों को क्राइम ब्रांच ने किया गिरफ्तार

बदमाशों ने ज्वैलर को घायल कर दिया था लूट को अंजाम, गिरफ्तार.

नई दिल्ली:

दिल्ली के शकरपुर इलाके में ज्वैलर पर हमला कर 4 किलो सोने की ज्वैलरी लूटने वाले दो शातिर लुटेरों समेत चार अन्य को गिरफ्तार कर लिया गया. पकड़े गए आरोपियों में मुकेश शर्मा उर्फ गोलू, प्रदीप बजाज उर्फ टोनी, प्रशांतो उर्फ कोची और उत्तम डागर है. आरोपियों ने लूट के दौरान ज्वैलर के दोनों पैरों पर चाकू मारकर घायल किया था, ताकि वो पीछा न कर सके. जाते-जाते बदमाशों ने ज्वैलर के सिर पर पिस्टल की बट मारकर लहूलुहान कर दिया था. हालांकि पुलिस ने आरोपियों की निशानदेही पर करीब दो किलो सोना, एक बाइक और सात मोबाइल फोन बरामद किए हैं, जबकि दो लुटेरे अभी फरार हैं.

दिल्ली पुलिस क्राइम ब्रांच के डीसीपी भीष्म सिंह के मुताबिक, मूलरूप से पश्चिम बंगाल के रहने वाले 40 वर्षीय चंपक ज्ञान परिवार के साथ करोल बाग में रहते हैं. घर में ही चंपक 2010 से एलजीएस नाम से सोने-हीरे के जेवरात बनाने का काम हैं. 9 दिसंबर की सुबह उन्हें करीब चार किलो सोने के जेवरात लेकर बरेली और मुरादाबाद जाना था. सुबह करीब छह बजे वह दो बैग में सोने के जेवरात लेकर अपने कारीगर सौरभ मांझी के साथ निकले और रैगरपुरा से दोनों आनंद विहार जाने के लिए एक ऑटो में सवार हो गए.

इस बीच करीब 6.30 बजे इनका ऑटो लक्ष्मी नगर मेट्रो स्टेशन विकास मार्ग पर पहुंचा. अचानक बाइक सवार दो युवकों ने इनके ऑटो को ओवरटेक कर रुकवा लिया. आते ही आरोपियों ने बैग छीनने का प्रयास किया. सौरभ ने विरोध किया तो बदमाशों ने उस पर हमला कर दिया. इस बीच एक बदमाश ने चंपक की दोनों जांघ पर चाकू से वार कर दिए. दूसरे बदमाश ने पिस्टल की बट से उसके सिर पर वार किया. बुरी तरह घायल होने के बाद चंपक हिम्मत हार गए. बदमाशों ने जेवरात के दोनों बैग लूटे और बाइक से बैठकर लक्ष्मी नगर की ओर फरार हो गए. बाद में उनके बयान पर पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया. सरेआम हुई इस वारदात के चलते लोगों में काफी दहशत थी जिसके चलते मामले की जांच का जिम्मा क्राइम ब्रांच को सौंप दिया गया.

यह भी पढ़ें : मुंबई : बांग्लादेशी घुसपैठियों को फर्जी पासपोर्ट-आधार कार्ड दिलाने वाले गिरोह का भंडाफोड

टीम ने घटना स्थल के आसपास लगे सीसीटीवी फुटेज की जांच की तो इस दौरान हेड कांस्टेबल रविंद्र सिंह को पता चला कि वारदात के पीछे गोलू गैंग है. तभी गैंग के सरगना मुकेश उर्फ गोलू और टोनी के आने की सूचना मिली और ट्रैप लगाकर मुकेश उर्फ गोलू और प्रदीप बजाज उर्फ टोनी को करोलबाग से गिरफ्तार कर लिया गया. दोनों आरोपियों ने पूछताछ में बताया कि नरेश और शैंकी के साथ मिलकर वारदात को अंजाम दिया था.

उन्होंने बताया कि करोल बाग में प्रशांतो और उत्तम डागर गहने बनाने का काम करता है. उन्होंने गहना कारोबारी के बारे में जानकारी दी थी. उन्होंने बताया था कि पीड़ित 4 किलो गहने लेकर जा रहा है.  इस जानकारी पर पुलिस ने प्रशांतो और उत्तम को भी गिरफ्तार कर लिया है. पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि लगभग चार महीने पहले पहाड़गंज के एक होटल में बैठकर लूट की साजिश रची थी.. बैठक में मुकेश, प्रदीप, नरेश, शैंकी, प्रशांतो और उत्तम शामिल थे. वारदात के लिए प्रदीप बजाज और नरेश ने बाइक का इंतजाम किया था, जबकि शैंकी और नरेश ने हथियार का इंतजाम किया था.

गिरफ्तार किया गया मुकेश शर्मा करोल बाग के फिल्मिस्तान इलाके का रहने वाला है. उसके खिलाफ पहले से 11 आपराधिक मामले दर्ज हैं. दूसरा आरोपी प्रदीप बजाज उर्फ टोनी सफदरजंग एनक्लेव का रहने वाला है. उसके खिलाफ चार एफआईआर दर्ज हैं. फिलहाल पुलिस आरोपियों से पूछताछ कर रही है.

Video: क्राइम रिपोर्ट इंडिया : दिल्ली सरकार के अधिकारी लापता


Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com