बिहार: तेजस्‍वी यादव ने हांगकांग का जिक्र करके CM नीतीश पर बोला हमला, कहा-कुर्सी के लिए कुछ भी..

तेजस्‍वी ने ट्वीट में लिखा, 'और नीतीश कुमार को लगता है कि बिहार राज्‍य हांगकांग से अधिक आगे, अधिक विकसित और मेडिकल इन्‍फ्रास्‍ट्रक्‍चर के मामले में अधिक सज्‍ज‍ित और क्षमतावान है.' उन्‍होंने आगे लिखा-कुर्सी के लिए कुछ भी माने कुछ भी करेंगे, जनता मर रही है और मरे तो मरे उन्हें क्या?

बिहार: तेजस्‍वी यादव ने हांगकांग का जिक्र करके CM नीतीश पर बोला हमला, कहा-कुर्सी के लिए कुछ भी..

खास बातें

  • कोरोना संकट के चलते चुनाव टालने की मांग कर रही RJD
  • तेजस्‍वी ने कोरोना के चलते हांगकांग में चुनाव टाले जाने का जिक्र किया
  • कहा-नीतीश को लगता है हांगकांग से ज्‍यादा विकसित है बिहार
पटना:

Corona cases in Bihar:बिहार (Bihar)में चुनाव के नजदीक आते ही हमलों का दौर तेज हो गया है. राज्‍य में इसी वर्ष विधानसभा चुनाव (Assembly elections) होने हैं हालांकि मुख्‍य विपक्षी पार्टी राष्‍ट्रीय जनता दल (RJD) राज्‍य में कोरोना वायरस के लगातार बढ़ते केसों के मद्देजनर चुनाव का टालने की मांग कर रही है. आरजेडी नेता और पूर्व उप मुख्‍यमंत्री तेजस्‍वी प्रसाद (Tejashwi Yadav)  ने कोरोना मामले को लेकर फिर सीएम नीतीश कुमार(CM Nitish Kumar) पर निशाना साधा है. इस मामले में ट्वीट करते हुए तेजस्‍वी में एक खबर पोस्‍ट की है जिसमें हांगकांग में कोरोना के मामले बढ़ने के चलते वहां चुनाव एक साल के लिए स्‍थगित करने का जिक्र है. मामले में तेजस्‍वी ने इशारों-इशारों में संकेत किया है कि यदि हांगकांग में कोरोना के मामले बढ़ने के चलते चुनाव स्‍थगित किए जा सकते हैं तो बिहार में क्‍यों नहीं?

c3d1oh7g

तेजस्‍वी बोले, 'बिहार में कोरोना की स्थिति विस्‍फोटक, चुनाव कराने का अभी सही माहौल नहीं'

तेजस्‍वी ने ट्वीट में लिखा, 'और नीतीश कुमार को लगता है कि बिहार राज्‍य हांगकांग से अधिक आगे, अधिक विकसित और मेडिकल इन्‍फ्रास्‍ट्रक्‍चर के मामले में अधिक सज्‍ज‍ित और क्षमतावान है.' उन्‍होंने आगे लिखा-कुर्सी के लिए कुछ भी माने कुछ भी करेंगे, जनता मर रही है और मरे तो मरे उन्हें क्या?

नीतीश कुमार का तेजस्वी यादव पर पलटवार, कहा- 'खुद कहां रहता है भाग करके...'

गौरतलब है कि इससे पहले 21 जुलाई को एक बयान में तेजस्वी (Tejashwi Yadav) ने आरोप लगाया था कि बिहार सरकार कोरोना संकटकाल में भी सूबे के निवासियों के साथ खिलवाड़ कर रही है. तेजस्वी के अनुसार, आज भी बिहार में आवश्यकता से बहुत कम कोरोना टेस्‍ट किए जा रहे हैं. उन्‍होंने कहा कि जब तक बड़ी संख्या में कोरोना टेस्‍ट नहीं होंगे, संक्रमण की भयावहता का सही अंदाज़ा कैसे लगेगा? आरजेडी नेता ने दावा किया कि अगर प्रतिदिन 30 हज़ार टेस्ट होंगे तो रोजाना कम से कम 5 हज़ार केस सामने आएंगे! यही नहीं, जो लोग टेस्ट करवा रहे हैं उनकी जांच रिपोर्ट आने में 20 से 30 दिन लग जा रहे हैं. ऐसे में पॉज़िटिव लोग अन्य लोगों को संक्रमित कर या तो जान गंवा चुके होते हैं या अस्पताल पहुंच चुके होते हैं. कुछ मामलों में तो अस्‍पताल में भर्ती होने के बाद मरीज जान चली गई और बाद में जांच रिपोर्ट आई.


84 दिन बाद बंगले से निकले नीतीश कुमार

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com