बेंगलुरुः परिवार के पांच सदस्यों की आत्महत्या के बाद दो साल की बच्ची को बचाया

परिवार के पांच सदस्यों के शवों के साथ तीन दिनों तक रहने के बाद भी दो साल की बच्ची जीवित बच गई. पुलिस के मुताबिक शव सड़ने लगे थे.

बेंगलुरुः परिवार के पांच सदस्यों की आत्महत्या के बाद दो साल की बच्ची को बचाया

शंकर पांच दिन पहले घरेलू कलह के बाद गुस्से में घर से बाहर चले गए थे.

बेंगलुरु:

एक दो साल की बच्ची परिवार के पांच सदस्यों के शवों के साथ तीन दिनों तक जीवित रही. बेंगलुरु (Bengaluru)  स्थित घर में कथित तौर पर परिवार के सदस्यों ने आत्महत्या (Suicide) कर ली थी. हालांकि एक नौ महीने के बच्चे की भूख के कारण मौत हो गई. पुलिस के मुताबिक, शुक्रवार को दो साल की बच्ची को बचा लिया गया. एच शंकर पांच दिनों के बाद अपने घर लौटे तब जाकर उन्हें परिवार के दुखद अंत का पता लगा, सिर्फ उनकी पोती जीवित थी. 

पुलिस अधिकारी संजीव एम पाटिल के मुताबिक, "हमें पता लगा कि अंदर पांच शव थे. एक बच्ची जीवित मिली. हमें  अभी मौत के कारणों का पता नहीं चला है, हमने बच्चे को बचा लिया है." उन्होंने कहा, "जब तक शव मिले, वे सड़ने लगे थे." 

पुलिस के मुताबिक, एच शंकर पांच दिन पहले घरेलू कलह के बाद गुस्से में घर से बाहर चले गए थे. पुलिस को बताया गया कि उसकी अपनी बेटी के साथ कहासुनी हुई थी. जिसने अपने ससुराल वालों को उनके साथ रहने के लिए छोड़ दिया था. 

शंकर ने परिवार को कई फोन कॉल किए. कोई जवाब नहीं मिलने के बाद वह लौट आए और अपनी पत्नी और 27 वर्षीय बेटे और दो बेटियों को छत की दीवार से लटका हुआ पाया. 

पुलिस ने कहा कि उनके नौ महीने के पोते की भी कथित तौर पर भूख से मौत हो गई. दो साल की बच्ची चमत्कारिक रूप से बच गई है और उसे जांच के लिए अस्पताल भेजा गया है. 


(अगर आपको सहायता की ज़रूरत है या आप किसी ऐसे शख्‍स को जानते हैं, जिसे मदद की दरकार है, तो कृपया अपने नज़दीकी मानसिक स्‍वास्‍थ्‍य विशेषज्ञ के पास जाएं)

हेल्‍पलाइन :
1) वंद्रेवाला फाउंडेशन फॉर मेंटल हेल्‍थ - 9999666555 अथवा help@vandrevalafoundation.com
2) TISS iCall - 022-25521111 (सोमवार से शनिवार तक उपलब्‍ध - सुबह 8:00 बजे से रात 10:00 बजे तक)

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


- - ये भी पढ़ें - -
* कोविड-19 टीकाकरण में शीर्ष पर रहा कर्नाटक, 26.92 लाख लोगों को लगे टीके
* सड़क हादसा CCTV में कैद, तेज रफ्तार कार ने दंपति को मारी टक्‍कर, फ्लाईओवर से नीचे गिरने से दोनों की हुई मौत
* 'दिसंबर 2022 तक वर्क फ्रॉम होम करवाएं'. IT कंपनियों से कर्नाटक सरकार का आग्रह, जानें- क्यों?