बार बार आते हैं चक्कर, जी मिचलाता है और आने लगता है पसीना... ये बीमारी हो सकती है वजह

Vertigo Treatment: ऐसे लोग जिन्हें सर्वाइकल प्रॉब्लम या फिर गर्दन में दर्द रहता या कान से सम्बंधित कोई समस्या रहती है, उनमें ऐसी स्थिति अक्सर देखी जाती है.  वर्टिगो के पीड़ित लोगों को बहुत चक्कर आता है.

बार बार आते हैं चक्कर, जी मिचलाता है और आने लगता है पसीना... ये बीमारी हो सकती है वजह

अक्सर लोग Vertigo के लक्षणों को समझ नहीं पाते.

Vertigo का अर्थ होता है चक्कर आना या सिर चकराना. वर्टिगो के पीड़ित लोगों को बहुत चक्कर आता है. सिर दर्द होता है या फिर असंतुलन बना रहता है. इस स्थिति में अधिक पसीना आना अथवा जी मचलना, उल्टी आना जैसी समस्याएं होती है. इससे पीड़ित व्यक्ति बहुत ही ज्यादा कमजोरी महसूस करने लगता है. वहीं कुछ लोगों को ऊंचाई से बड़ा ही डर लगता है और ज्यादा ऊंचाई वाली जगह पर जाने से उनका सिर चकराने लगता है. ऐसे लोग जिन्हें सर्वाइकल प्रॉब्लम या फिर गर्दन में दर्द रहता या कान से सम्बंधित कोई समस्या रहती है, उनमें ऐसी स्थिति अक्सर देखी जाती है. 

Painful Frozen Shoulder: क्या है फ्रोजन शोल्डर, क्यों होता है ये और क्या है इलाज

खतरनाक है वर्टिगो, जानिए लक्षण और इसका कारण | What is Vertigo, Causes, Symptoms and Treatment

कई बार ऐसा देखा जाता है कि कुछ लोगों को ऊँचाई पर जाने से उनका सिर चकराने लगता है, ऐसी स्थिति वर्टिगो से अलग है. ऊँचाई पर जाने में डर लगना या चक्कर आना वर्टिगो नहीं बल्कि  इस समस्या को एक्रोफोबिया कहा जाता है. 

वर्टिगो के कारण (What causes vertigo)

  • शरीर में खून की सप्लाई कम होने से ब्लड प्रेशर गिरने लगता है इस कारण वर्टिगो का अटैक आ सकता है. ऐसे में मरीज को तेज चक्कर आने लगता है. 
  • लगातार काम करते रहना और इन वजह से खानपान पर ध्यान न देना भी इसकी एक बड़ी वजह है. ऐसा करने से काम करने के लिए शरीर को वो ऊर्जा नहीं मिल पाती जिसकी उसे जरूरत होती है. 
  •  बहुत ज्यादा टेंशन लेने से भी ऐसी स्थिति पैदा हो सकती है.  वर्टिगो का प्रभाव कभी-कभी थोड़े समय के लिए रहता है तो वहीं कई बार लंबे समय के लिए भी ये हो सकता है. 
  •   कान के भीतर किसी भी प्रकार का संक्रमण
  •  माइग्रेन भी इसकी एक वजह हो सकती है. 
  • लेब्रिथीनाइटिस होने की कारण

नेचुरल फूड सोर्सेज से जैसे संतरा, नींबू से एक दिन में कितना Vitamin C लेना चाहिए? एक्सपर्ट से जानें

वर्टिगो के लक्षण (Vertigo Symptoms) 

  •  चक्कर आना और आंखों के आगे अंधेरा सा छा जाना.
  •  अचानक बहुत ज्यादा पसीना आना.
  •  बहुत अधिक कमजोरी का अहसास करना.
  •  तेज आवाज के कारण सिरदर्द शुरू हो जाना.
  • चलते हुए सही बैलेंस न बना पाना.
  •  कम सुनाई पड़ना
  •  गिरने का एहसास होना.

वर्टिगो का इलाज (Vertigo Treatment)

वर्टिगो अटैक आने पर डॉक्टर आपको कुछ दिनों तक फुल बेड रेस्ट करने की सलाह देते हैं. हालत गंभीर होने की स्थिति में डॉक्टर दवाइयां भी देते हैं. टेंशन से दूर रहकर दिमाग को सुकून देने की सलाह दी जाती है. जरूरत हो तो मनोचिकित्सक की सलाह भी ली जानी चाहिए.

Benefits Of Cloves: इस वजह से डायबिटीज रोगियों में ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल रखती है लौंग, अच्छे स्वास्थ्य का है खजाना

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है. यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है. अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें. एनडीटीवी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है.