Weight Loss: मेटाबॉलिज्म के बारे में वो 10 बातों जो आप बिल्कुल नहीं जानते होंगे, जानेंगे तो मिल जाएगा Fat Loss करने का मंत्र

Metabolism For Weight Loss: यहां मेटाबॉलिज्म के बारे में उन फैक्ट्स के बारे में बताया गया है जो आपको सही तरीके से वजन कम करने में मदद कर सकते हैं.

Weight Loss: मेटाबॉलिज्म के बारे में वो 10 बातों जो आप बिल्कुल नहीं जानते होंगे, जानेंगे तो मिल जाएगा Fat Loss करने का मंत्र

मांसपेशियों का निर्माण मेटाबॉलिज्म को बढ़ाने में मदद कर सकता है

खास बातें

  • मेटाबॉलिक प्रोसेस का एक ग्रुप है जो हमारे शरीर में एनर्जी पैदा करते हैं.
  • तेज मेटाबॉलिज्म वजन कम करने में मदद करता है.
  • मेटाबॉलिज्म हमारे वजन घटाने को कैसे प्रभावित करता है जानिए.

Role Of Metabolism In Weight Loss: वजन कम करने के लिए यह समझना जरूरी है ह्यूमन मैकेनिज्म कैसे काम करती है. वजन घटाना कई कारकों से प्रभावित होता है. वजन घटाने (Weight Loss) पर पर चर्चा करते समय मेटाबॉलिज्म सबसे अधिक इस्तेमाल किए जाने वाले शब्दों में से एक है. मेटाबॉलिज्म (Metabolism) हमारे वजन घटाने को कैसे प्रभावित करता है? मेटाबॉलिक प्रोसेस का एक ग्रुप है जो हमारे शरीर में एनर्जी पैदा करते हैं. हम अक्सर सुनते हैं कि तेज मेटाबॉलिज्म वजन कम करने में मदद करता है. यहां हम मेटाबॉलिज्म से संबंधित कई फैक्ट्स पर चर्चा करेंगे जो आपको यह समझने में मदद कर सकते हैं कि यह हमारे वजन घटाने को कैसे प्रभावित करता है.

मेटाबॉलिज्म के बारे में 10 फैक्ट्स | 10 Facts About Metabolism 

1. मेटाबॉलिक प्रोसेस 3 प्रकार के होते हैं

यह ज्यादातर लोगों के लिए आश्चर्य की बात हो सकती है लेकिन मेटाबॉज्म एक सरल प्रक्रिया नहीं है. इसे 3 प्रक्रियाओं में बांटा गया है. ये तीन प्रकार की मेटाबॉलिक प्रोसेस की कार्यों के लिए होती हैं. यहां 3 प्रक्रियाएं हैं:

Liver को पूरी तरह खराब कर देती हैं ये 5 चीजें, आज से ही करें परहेज Detoxification में नहीं आएगी दिक्कत

  • शरीर के बुनियादी कार्यों पर खर्च की गई एनर्जी, खर्च की गई एनर्जी की सबसे अधिक मात्रा, जिसे बेसल मेटाबॉलिज्म रेट के रूप में भी जाना जाता है.
  • भोजन को तोड़ने में ऊर्जा खर्च होती है. इसके लिए तीनों की न्यूनतम मात्रा में ऊर्जा की जरूरत होती है.
  • शारीरिक गतिविधियों में भाग लेते समय खर्च की गई ऊर्जा.

2. आपको बेसल मेटाबॉलिक रेट (बीएमआर) पर ध्यान देने की जरूरत है

जैसा कि ऊपर चर्चा की गई है, बेसल मेटाबॉलिज्म प्रक्रिया शरीर के बुनियादी कार्यों के जरिए से हमारी ज्यादातर एनर्जी को बर्न कर देती है. इसका मतलब है कि आपका बीएमआर जिंदा रहने के लिए इस्तेमाल की जाने वाली ऊर्जा है. आपके बीएमआर में सुधार आपके मेटाबॉलिज्म के ज्यादातर हिस्से को प्रभावित करता है. बेहतर बीएमआर आपको वजन कम करने में मदद करेगा, भले ही आप कई बार वर्कआउट नहीं कर रहे हों.

कैसे पता करें कि आपको पेट का कैंसर है? इन संकेतों और लक्षणों से करें पहचान, जानिए Gastric Cancer का कारण

3. प्रोटीन मेटाबॉलिज्म को बढ़ाता है

वजन कम करने या मांसपेशियों को हासिल करने की कोशिश करते समय हाई प्रोटीन डाइट खाने को प्रोत्साहित किया जाता है. जैसा कि हमने ऊपर बताया, भोजन पचाने से कैलोरी बर्न करने में मदद मिलती है. प्रोटीन कैलोरी बर्न को बढ़ाने में मदद करता है और मेटाबॉलिक रेट को भी बढ़ाता है. हालांकि, आपको नियमित रूप से प्रोटीन का सेवन करने की जरूरत है क्योंकि शरीर इसे बाद के लिए संग्रहीत नहीं कर सकता है.

4. विटामिन डी मेटाबॉलिज्म को तेज करता है

प्रोटीन की तरह ही विटामिन डी से भरपूर फूड्स खाने से आपके बीएमआर में सुधार होता है. कई अध्ययनों से पता चला है कि विटामिन डी की कमी वाले लोगों का मेटाबॉलिज्म धीमा था.

Vaginal Yeast Infection से छुटकारा पाने के 6 प्राकृतिक तरीके, आसान और प्रभावी भी

lk2g5jrg

5. अधिक मांसपेशियों का अर्थ है हाई मेटाबॉलिज्म

हम समझते हैं कि बर्न की हुई एनर्जी की सबसे अधिक मात्रा बेसल अवस्था में होती है. इसका मतलब है कि हम अपने शरीर को बनाए रखने के लिए सबसे अधिक कैलोरी बर्न करते हैं. हमारे शरीर में लगभग एक किलो मांसपेशियों को जीवित रहने के लिए एक दिन में लगभग 12 कैलोरी की जरूरत होती है. तो, हाई मसल मास का अर्थ है हाई बीएमआर.

6. आपकी हेल्थ कंडिशन आपके चयापचय को प्रभावित करती हैं

अलग-अलग मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य स्थितियां आपके मेटाबॉलिज्म को प्रभावित करती हैं. उदाहरण के लिए थायराइड विकार, इंसुलिन रेजिस्टेंस, एंटीडिप्रेसेंट आदि आपके मेटाबॉलिज्म को धीमा कर देते हैं.

आसानी से स्टेमिना बढ़ाने में मदद करने वाले 5 उपाय, जल्दी नहीं लगेगी थकान

7. व्यायाम करने से मेटाबॉलिज्म बूस्ट होता है

जैसा कि शुरुआत में बताया गया है अपनी शारीरिक गतिविधियों को बढ़ाने से आपको अधिक कैलोरी बर्न करने में मदद मिल सकती है. हालांकि, व्यायाम करने से भी आपके बीएमआर को बेहतर बनाने में मदद मिलती है. बीएमआर का आपके मेटाबॉलिज्म पर बड़ा प्रभाव पड़ता है. व्यायाम करने से मसल्स मास बढ़ाने में भी मदद मिलती है जिससे बीएमआर में सुधार होता है.

8. आपकी स्लिप साइकिल मेटाबॉलिज्म को प्रभावित करता है

मेटाबॉलिज्म एक ऐसी प्रक्रिया है जो हर समय होती रहती है, तब भी जब हम सो रहे होते हैं. हमारा मेटाबॉलिज्म अंतःस्रावी तंत्र द्वारा मैनेज किया जाता है. नींद की कमी हमारे अंतःस्रावी तंत्र पर भारी और नकारात्मक प्रभाव डाल सकती है.

मॉनसून में भी मोतियों की तरह चमकेंगे आपके दांत और रहेंगे एकदम हेल्दी, बस फॉलो करें ये टिप्स

9. कुछ फूड्स मेटाबॉलिज्म को बढ़ावा देते हैं

जैसा कि आप पहले से ही जानते हैं, कई मेटाबॉलिज्म-बढ़ाने वाले फूड्स हैं जो हमारे मेटाबॉलिज्म को बेहतर बनाने और बढ़ाने में मदद करते हैं. कॉफी, ग्रीन टी, अंडे आदि जैसी चीजें हमारे मेटाबॉलिज्म को मैनेज करने में मदद करते हैं.

10. पानी मेटाबॉलिज्म को तेज कर सकता है

वजन कम करने की कोशिश कर रहे लोगों को पर्याप्त पानी पीना एक और सलाह है. पानी न केवल अस्वास्थ्यकर स्नैक्स खाने की जरूरत को पार करने में मदद करता है बल्कि यह हमारे मेटाबॉलिज्म को बेहतर बनाने में भी मदद करता है. अध्ययनों से पता चलता है कि ठंडा पानी पीने से मेटाबॉलिज्म में सुधार होता है क्योंकि हमारा शरीर ठंडे पानी को संसाधित करने के लिए अधिक एनर्जी बर्न करता है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है. यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है. अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें. एनडीटीवी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है.