Diabetes और High BP के रोगी सुबह बिना कुछ खाए-पिए चबाएं ये 4 पत्ते, शुगर लेवल और हाइपरटेंशन रहेगा कंट्रोल

Amazing Leaves For Diabetes: हाई ब्लड शुगर लेवल और हाई ब्लड प्रेशर को कंट्रोल और मैनेज करना बहुत महत्वपूर्ण हो जाता है. डायबिटीज और हाई ब्लड प्रेशर के मैनेजमेंट की बात करें तो घरेलू उपचार अभी भी दोनों स्थितियों को मैनेज करने का सबसे प्रभावी तरीका साबित हो सकता है.

Diabetes और High BP के रोगी सुबह बिना कुछ खाए-पिए चबाएं ये 4 पत्ते, शुगर लेवल और हाइपरटेंशन रहेगा कंट्रोल

Leaves For Diabetes: ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल करने के घरेलू उपाय काफी फायदेमंद माने जाते हैं.

खास बातें

  • ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल करने के घरेलू उपाय काफी फायदेमंद माने जाते हैं.
  • हाई ब्लड शुगर लेवल और हाई ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करना बहुत जरूरी है.
  • करी पत्ते इंसुलिन बनाने वाली कोशिकाओं को उत्तेजित करने में मदद कर सकता है

Best Leaves For Sugar Patients: डायबिटीज में ब्लड शुगर लेवल और हाइपरटेंशन में हाई ब्लड प्रेशर को लेकर कई तरह के घरेलू नुस्खे बताए जाते हैं. ज्यादातर लोग अपनी बीमारी का इलाज नेचुरल तरीके से करने का विचार बनाते हैं. ऐसे बहुत सारे उपचार हैं जो डायबिटीज को कंट्रोल करने में मदद कर सकते हैं और हाई ब्लड प्रेशर रोगियों की भी सहायता करते हैं. ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल करने के घरेलू उपाय (Home Remedies To Control Blood Sugar Level) काफी फायदेमंद माने जाते हैं. साथ जो लोग हाइपरटेंशन से पीड़ित हैं उनके लिए भी ब्लड प्रेशर मैनेज करने के नेचुरल उपचार मौजूद हैं, लेकिन बिडंबना इस बात की है कि कई लोगों को इन नुस्खों के बारे में पता नहीं होता है. हाई ब्लड शुगर लेवल और हाई ब्लड प्रेशर को कंट्रोल और मैनेज करना बहुत महत्वपूर्ण हो जाता है.

डायबिटीज और हाई ब्लड प्रेशर के मैनेजमेंट की बात करें तो घरेलू उपचार अभी भी दोनों स्थितियों को मैनेज करने का सबसे प्रभावी तरीका साबित हो सकता है. यहां तीन पत्तों का एक सरल संयोजन है जिसका हर सुबह खाली पेट सेवन करने से ब्लड शुगर लेवल और हाइपरटेंशन को कंट्रोल करने में चमत्कार हो सकता है.

इन पत्तों को चबाना डायबिटीज और ब्लड प्रेशर में करता है कमाल? | Chewing These Leaves Does Wonders In Diabetes And Blood Pressure?

1. तुलसी के पत्ते

तुलसी को जड़ी-बूटियों की रानी कहा जाता है और यह हमारे शरीर को कई तरह की बीमारियों से बचाती है. कई अध्ययनों से पता चला है कि खाली पेट तुलसी के पत्तों का सेवन टाइप 2 डायबिटी से पीड़ित लोगों में ब्लड शुगर लेवल को कम करता है. तुलसी के पत्तों को लिपिड सामग्री को कम करके, इस्किमिया, स्ट्रोक और हाई ब्लड प्रेशर को कम करके हृदय रोग को रोकने के लिए भी जाना जाता है.

नोट: तुलसी में पारा और आयरन की हाई मात्रा होती है, जिसे चबाने पर यह मुक्त हो जाता है. ये खनिज दांतों को नुकसान पहुंचा सकते हैं और रंग खराब कर सकते हैं. तुलसी के पत्ते अम्लीय प्रकृति के होते हैं, जो बहुत अधिक मात्रा में सेवन करने पर दांतों के इनेमल को खराब कर सकते हैं. इन पत्तों को मिक्सर में थोड़े से पानी के साथ मिलाना सबसे अच्छा है और फिर इसका सेवन करें.

2. करी पत्ता

करी पत्ता जिसे हिंदी में मीठी नीम भी कहा जाता है. ये भारतीय खाना पकाने में इस्तेमाल होने वाली एक आम सामग्री है. पत्ते न केवल आपके भोजन में सुगंध जोड़ते हैं बल्कि कई स्वास्थ्य गुण भी रखते हैं. करी पत्ते का नियमित सेवन इंसुलिन बनाने वाली कोशिकाओं को उत्तेजित करने में मदद कर सकता है. ये कोशिकाएं ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल रखने में मदद करती हैं.

3. नीम के पत्ते

नीम के पत्तों के भी कई तरह के स्वास्थ्य लाभ होते हैं. इस बात के प्रमाण हैं कि रोजाना नीम के पत्तों का सेवन करने से ब्लड शुगर लेवल कम हो सकता है. अगर आपको डायबिटीज है, तो नियमित रूप से अपने ब्लड शुगर लेवल की निगरानी करें क्योंकि बहुत अधिक खपत कुछ दुर्लभ मामलों में आपके ब्लड शुगर लेवल को बहुत कम कर सकती है. इस मामले में अपनी डायबिटीज की दवा को कम करना जरूरी हो सकता है. नीम के पत्तों के एंटीहिस्टामाइन प्रभाव रक्त वाहिकाओं को पतला कर सकते हैं. यही कारण है कि ये पत्ते ब्लड प्रेशर को कम करने में मदद कर सकते हैं.

4. ऑलिव के पत्ते

डायबिटीज रोगी अगर जैतून के पत्ते का सेवन करते हैं तो ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल करने में मदद मिल सकती है. साथ ही जैतून के पत्ते चबाने से ब्लड प्रेशर रोगियों को भी मदद मिल सकती है. जैतून के पत्तों में एंटीऑक्सिडेंट आपके ब्लड शुगर लेवल को कम कर सकते हैं और हेल्दी लेवल को बनाए रखने के लिए इसे स्थिर करने में सहायता कर सकते हैं.

जानें क्या है बच्चे पैदा करने की सही उम्र, 30 के बाद बेबी प्लानिंग और रिस्क

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है. यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है. अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें. एनडीटीवी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है.