खराब समय से गुजरे, तो हार्दिक के भाई क्रुणाल पंड्या हुए यह फैसला लेने पर मजबूर, खड़ा हुआ "बड़ा सवाल"

गुजरे आईपीएल में अच्छा प्रदर्शन नहीं रहा, तो फिर टी20 वर्ल्ड कप के लिए भारतीय टीम में चयन नहीं हुआ. और इसके जब घरेलू सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी खेली गई, तो क्रुणाल पंड्या (Krunal Pandya) कुछ खास नहीं कर सके

खराब समय से गुजरे, तो हार्दिक के भाई क्रुणाल पंड्या हुए यह फैसला लेने पर मजबूर, खड़ा हुआ

क्रुणाल पंड्या के आगे एक नहीं, कई बड़े सवाल हैं

खास बातें

  • क्रुणाल की राह में मुश्किलें
  • आईपीएल में नहीं चल सके थे
  • मुश्ताक अली ट्रॉफी भी रही सूखी-सूखी!
नयी दिल्ली:

वक्त सही नहीं चल रहा हो, तो खिलाड़ी कोई भी फैसला लेने पर मजबूर हो जाता है. कुछ ऐसा ही क्रुणाल पंड्या के साथ भी हाल ही में हुआ है. गुजरे आईपीएल में अच्छा प्रदर्शन नहीं रहा, तो फिर टी20 वर्ल्ड कप के लिए भारतीय टीम में चयन नहीं हुआ. और इसके जब घरेलू सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी खेली गई, तो क्रुणाल पंड्या कुछ खास नहीं कर सके. नतीजा यह रहा कि अब क्रुणाल पंड्या (Kranal Pandya) ने बड़ौदा की कप्तानी छोड़ने का फैसला किया है.  बड़ौदा क्रिकेट संघ के अजीत लेले ने बताया कि कृणाल ने शुक्रवार को राज्य निकाय को अपने फैसले से अवगत कराया लेकिन टीम की नेतृत्व की भूमिका छोड़ने का कोई कारण नहीं बताया. लेले ने कहा, ‘वह एक खिलाड़ी के रूप में उपलब्ध रहेंगे. उन्होंने अपने फैसले से बोर्ड अध्यक्ष को अवगत करा दिया हैं. उनके उत्तराधिकारी का नाम चयनकर्ताओं की रविवार को होने वाली बैठक के बाद  होगा.'

यह भी पढ़ें:  साहा की जगह विकेटकीपिंग कर रहे केएस भरत ने लिया गजब का कैच, गेंदबाज अश्विन भी चौंके- Video

इस 30 साल के खिलाड़ी ने भारत के लिए पांच वनडे और 19 टी20 मैच खेले हैं. अगले महीने शुरू होने वाले विजय हजारे ट्रॉफी के लिए केदार देवधर कप्तान के पद के सबसे बड़े दावेदार होंगे.  बड़ौदा सैयद मुश्ताक अली टी20 ट्रॉफी में  एक जीत और चार हार के साथ टीम ग्रुप बी में चार अंक के साथ सबसे निचले पायदान पर रही थी.  इंडियन प्रीमियर लीग (ईपीएल) के नियमित खिलाड़ी दीपक हुड्डा ने पिछले साल कृणाल पर दुर्व्यवहार का आरोप लगाते हुए बड़ौदा टीम का साथ छोड़ दिया था. 

मुश्ताक अली ट्रॉफी में रहे फ्लॉप

जहां बड़ौदा टीम कुछ दिन पहले खत्म हुई ट्रॉफी में खास नहीं कर सकी, तो क्रुणाल का प्रदर्शन भी फीका रहा. क्रुणाल ने खेले 5 मैचों की इतनी ही पारियों में 20.75 के औसत से 83 ही रन बनाए. उनका बेस्ट स्कोर नाबाद 57 रहा और यही एकमात्र अर्द्धशतक भी रहा. गेंदबाजी में भी वह खास नहीं कर सके. फेंके 19 ओवरों में क्रुणाल 6 विकेट ही ले सके. हां यह जरूर है कि इकॉनमी रेट 5.94 का रहा. 

यह भी पढ़ें: अक्षर पटेल ने 'ललचाई गेंद' पर लेथम को करवाया स्टंप, 5 रन से शतक से चूके, देखें Video

आईपीएल से जारी है विफलता का सिलसिला
इस साल खेली गयी आईपीएल में क्रुणाल को पूरे मौके मिले. उन्होंने खेले 12 मैच की 12 पारियों में 14.30 के औसत से 143 ही रन बनाए. एक भी पचासा उनके बल्ले से नहीं निकल सका. वहीं, बॉलिंग में क्रुणाल ने 331. ओवर की गेंदबाजी की, लेकिन उनके हिस्से में सिर्फ पांच ही विकेट आए. इकॉनमी रेट रहा 7.21


अब नीलामी में क्या होगा?
मुंबई इंडियंस ने क्रुणाल पंड्या को 2018 में 8.80 करोड़ रुपये में खरीदा ता, जबकि उनका बेस प्राइस 40 लाख रुपये था, जो बढ़ते-बढ़ते 8.80 करोड़ तक पहुंच गया. और इसी साल मुंबई इंडियंस ने इसी रकम पर उन्हें रिटेन किया.  वास्तव में क्रुणाल रोहित और हार्दिक के बाद मुंबई के तीसरे सबसे महंगे खिलाड़ी थे,  लेकिन अब जो हालात हो चले हैं, उसे देखते हुए सवाल यही हो चला है कि अगले महीने होने जा रही मेगा नीलामी में क्रुणाल इस रकम के आस-पास पहुंच भी पाएंगे ?

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


सचिन तेंदुलकर ने एमपी के गांवों का किया दौरा.