कैप्टन कूल का जूता बहुत बड़ा है, उसमें पांव डालने की हिमाकत कोई ना ही करें

हार्दिक पांड्या को गुजरात मेगा नीलामी के पहले ही 15 करोड़ में ख़रीद कर कप्तान बनाया है. गुजरात ने टूर्नामेंट में शानदार शुरुआत की. जहां मुंबई और चेन्नई जैसी चैंपियन टीमें अपने पहले 4 मैच हार गयी वहीं पांड्या की कप्तानी में गुजरात ने पहले तीन मैच जीत कर जीत की हैट्रिक लगा दी.

कैप्टन कूल का जूता बहुत बड़ा है, उसमें पांव डालने की हिमाकत कोई ना ही करें

हार्दिक पांड्या की टीम ने 4 में से 3 मैच जीते हैं

नई दिल्ली:

नमस्कार मैं हूं संजय किशोर. आज बात IPL में नए कप्तानों की. इस बार 10 टीमें मुक़ाबले में हैं. दो नई टीमें हैं लखनऊ और गुजरात. इस बार मेगा ऑक्शन हुआ लिहाज़ा सभी टीमें तमाम बदलाव के साथ खेल रही हैं. इस बार 4 खिलाड़ी पहली बार कप्तानी कर रहे हैं-हार्दिक पांड्या, रविन्द्र जडेजा, मयंक अग्रवाल और फ़ैफ़ डू प्लेसी.

यह पढ़ें- IPL 2022 : शिवम दुबे और रोबिन उथप्पा ने रचा इतिहास, दोनों ने मिलकर लगाए 14 छक्के


सबसे पहले बात हार्दिक पांड्या की. शुरुआत से मुंबई की टीम में शामिल हार्दिक पांड्या को गुजरात मेगा नीलामी के पहले ही 15 करोड़ में ख़रीद कर कप्तान बनाया है. गुजरात ने टूर्नामेंट में शानदार शुरुआत की. जहां मुंबई और चेन्नई जैसी चैंपियन टीमें अपने पहले 4 मैच हार गयी वहीं पांड्या की कप्तानी में गुजरात ने पहले तीन मैच जीत कर जीत की हैट्रिक लगा दी. गुजरात ने पहले मैच में लखनऊ, दूसरे में दिल्ली और तीसरे में पंजाब को हराया. हार्दिक पांड्या की कप्तानी और एप्रोच की ख़ूब तारीफ़ होने लगी. 28 साल के ऑलराउंडर हार्दिक को मिस्टर कूल जूनियर तक कहा जाने लगा. लेकिन पिछले मैच में हैदराबाद ने ज़रा सी चुनौती क्या दी हार्दिक पांड्या आपा खो बैठे. बात हैदराबाद की पारी की है. 13वें ओवर की आख़िरी गेंद पर राहुल त्रिपाठी का एक सीधा शॉट थर्ड मैन पर मोहम्मद शमी के पास गया. गेंद शमी के 2 यार्ड आगे गिरी. शमी ने कैच पकड़ने की कोशिश भी नहीं की तो पांड्या भड़क गए. होठों की भाषा पढ़ने वाले तो ये भी कह रहे हैं कि पांड्या ने गाली भी दी थी. 

यह पढ़ें- ट्रेंट बोल्ट और सोफी डिवाइन को मिला खास सम्मान, बनें इस साल के सर्वश्रेष्ठ T20I क्रिकेटर, पढ़ें पूरी खबर

 
तो इतनी जल्दी कैप्टन कूल का चोगा उतर गया!

महेंद्र सिंह धोनी विपरीत हालात में भी अमूमन आपा नहीं खोते थे. बहरहाल हार्दिक पांड्या की टीम ने 4 में से 3 मैच जीते हैं तो इसमें उनकी कप्तानी की भी भूमिका रही है. इसे नकार नहीं जा सकता.
 

पांड्या ने 4 मैचों में 47 की औसत से 141 रन बनाए हैं और 3 विकेट भी लिए हैं. हैदराबाद के ख़िलाफ़ हारे ज़रुर लेकिन हार्दिक ने 50 रनों की पारी खेली

हार्दिक पांड्या
मैच    4
जीते    3
रन    141
विकेट    3

अब बात मयंक अग्रवाल की. 31 साल के मयंक अग्रवाल पंजाब के कप्तान हैं. उन्हें पंजाब ने नीलामी में 12 करोड़ में ख़रीदा है. लेकिन लगता है कि कप्तानी के बोझ तले उनकी बल्लेबाज़ी चरमरा रही है. 4 मैचों में 10.50    की औसत से सिर्फ़ 42 रन बना पाए हैं. पंजाब ने 4 मैचों में 2 जीते हैं.

मयंक अग्रवाल
मैच    4
जीते    2
रन    42

टूर्नामेंट में सबसे ज़्यादा रन बनाने के बाद भी विराट कोहली 9 साल तक अपनी टीम को चैंपियन नहीं बना पाए. इस बार कप्तानी छोड़ दी तो उनकी जगह फ़ैफ़ डू प्लेसी को कप्तान बनाया गया है. पिछले साल तक डू प्लेसी चेन्नई की टीम में थे और 16 मैचों में 633 रन बनाए थे. इस बार वो लय नज़र नहीं आ रहा है. पहले मैच में 88 रनों की पारी खेली लेकिन 4 मैचों में 34.50 की औसत से 138 रन ही बना पाए हैं. हालांकि टीम ने सोमवार तक 4 में से 3 मैच जीत लिए थे.

फ़ैफ़ डू प्लेसी
मैच    4
जीते    3
रन    138

इस रिपोर्ट के लिखे जाने तक बैंगलोर और चेन्नई का मुक़ाबला नहीं खेला गया था. टूर्नामेंट के 2 दिन पहले महेंद्र सिंह धोनी ने सबको चौंकाते हुए चेन्नई सुपरकिंग्स की कमान ऑलराउंडर रविन्द्र जडेजा को सौंप दी. जडेजा को चेन्नई ने सबसे ज़्यादा 16 करोड़ में रिटेन किया था. लेकिन चेन्नई ने आईपीएल के इतिहास में सबसे ख़राब शुरूआत की. जो टीम आज तक पहले 2 मैच भी कभी भी नहीं हारी थी वो इस रिपोर्ट के तैयार किए जाने तक लगातार 4 मैच हार चुकी है. 4 मैचों में 22 की औसत से 66 रन बना पाए हैं और सिर्फ़ 1 विकेट लिया है

कसौटी पर नए कप्तान
रविन्द्र जडेजा 
मैच    4
जीते    0
रन    66
विकेट    1

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


कई विशेषज्ञ कह रहे हैं कि कप्तानी अब भी धोनी ही कर रहे हैं. उनकी मौजूदगी में जडेजा खुल कर निर्णय नहीं ले पा रहे हैं. श्रेयस अययर और केएल राहुल पहली बार तो कप्तानी नहीं कर रहे हैं. श्रेयस अय्यर कोलकाता के कप्तान हैं जबकि केएल राहुल नई टीम लखनऊ की बागडोर संभाल रहे हैं. दोनों ही टीमों ने 5 में से 3-3 मैच जीते हैं. तो नए कप्तानों में फ़िलहाल हार्दिक पांड्या को सबसे ज़्यादा नंबर मिलते हैं और सबसे कम उम्मीदों पर खरे उतरे हैं. आज बस इतना ही.