'बच्ची' को बचाने के लिए पुलिस ने तोड़ा कार का शीशा, मगर गोद में लेते ही सब रह गए दंग

पुलिस ने बताया कि शिकायत मिलने पर जब वो कार के पास पहुंचे तो उन्होंने कार में देखा कि बच्ची बैठी है. इसलिए उन्होंने तुरंत ही शीशा तोड़ दिया, ताकि बच्ची को बचाया जा सके. असल में हुआ ये कि वहां मौजूद पुलिसवालों ने गलती से गुड़िया को बच्ची समझ लिया.

'बच्ची' को बचाने के लिए पुलिस ने तोड़ा कार का शीशा, मगर गोद में लेते ही सब रह गए दंग

इस खबर को सुनने के बाद कई लोग हैरत में पड़ गए.

नई दिल्ली:

अक्सर हम ऐसी घटनाओं के बारे में सुनते रहते हैं, जिनमें कोई न कोई कार के अंदर बंद हो जाने की वजह से दम तोड़ देता है. हाल ही में इंग्लैंड में एक ऐसी घटना सामने आई है जिसने सभी के होश उड़ा दिए. दरअसल यहां कि खड़ी एक कार में पुलिस वालों को एक मासूम बच्ची दिखाई पड़ी. पुलिस ने बच्ची को बंद कार से बचाने के लिए उसका शीशा तोड़ दिया. लेकिन जब उन्होंने उसे गोद में उठाया तो उनके पैरों तले की जमीन खिसक गई.

Dailymail की रिपोर्ट के मुताबिक इंग्लैंड के थॉर्नबे (Thornaby, England) में रहने वाली 36 साल की एमी मैक्क्वीलेन (Amy McQuillen) अपनी बेटी डार्सी (Darci) के साथ शॉपिंग करने पहुंची थी. डार्सी के पास एलियट नाम की एक गुड़िया है जिसकी शक्ल बिल्कुल इंसानों की शक्ल से मेल खाती है. डॉर्सी ने थकने के बाद इस गुड़िया को वापस कार में रख दिया. इसके बाद बेटी और मां एक साथ मिलकर शॉपिंग करने चली गई.

जब थोड़ी देर बाद एमी अपनी बच्ची के साथ शॉपिंग कर के लौटी तो उसने देखा कि वहां बहुत भीड़ जुटी है. आसपास कुछ पुलिसवाले भी खड़े हैं और कार का शीशा टूटा है. पुलिस ने बताया कि शिकायत मिलने पर जब वो कार के पास पहुंचे तो उन्होंने कार में देखा कि बच्ची बैठी है. इसलिए उन्होंने तुरंत ही शीशा तोड़ दिया, ताकि बच्ची को बचाया जा सके. असल में हुआ ये कि वहां मौजूद पुलिसवालों ने गलती से गुड़िया को बच्ची समझ लिया.

ये भी पढ़ें: बास्केटबॉल कोर्ट में महिला डांसर को मिला शादी का प्रपोजल, वीडियो देख खुशी से चहक उठे लोग

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


एमी ने जैसे ही ये नजारा देखा उनके होश उड़ गए. उसने कहा कि गुड़िया को उसने डार्सी के लिए गिफ्ट के तौर पर खरीदा था. वो गुड़िया भले ही बच्ची जैसी दिखती हो लेकिन मुझे इसका अंदाजा बिल्कुल नहीं था कि उसे कोई सच में इंसान समझ लेगा. हालांकि पुलिस ने अपनी गलफहमी के लिए सबके सामने एमी से माफी मांगी और वो उसके कांच को तोड़ने के लिए 26 हजार रुपये चुकाएंगे.