तबीयत खराब होने पर अपने प्यारे डॉगी से बिछड़ गया शख्स, मगर नर्स ने जो किया उस पर लोग दिल हार गए

स्मिथ ने रोम ह्यूमन सोसाइटी (Rome humane society) से संपर्क कर बूमर को गोद लेने की फीस (adoption fee) दी और अपने पास रखने का फैसला किया.

तबीयत खराब होने पर अपने प्यारे डॉगी से बिछड़ गया शख्स, मगर नर्स ने जो किया उस पर लोग दिल हार गए

सोशल मीडिया पर ये कहानी लोगों का दिल जीत रही है.

नई दिल्ली:

अक्सर हमें सिखाया जाता है कि हर किसी को दरियादिल वाला इंसान बनना चाहिए. ताकि इंसानियत का रिश्ता हमेशा एक-दूसरे को आपस में जोड़े रखे. खासकर बुरे वक्त में तो दुश्मनी भुलाकर भी लोगों का साथ देना चाहिए. अक्सर सोशल मीडिया पर की दिल जीत लेने वाली कहानियां सुर्खियां बटोरती रहती है. इन दिनों फिर से एक ऐसी ही खबर लोगों का ध्यान अपनी तरफ खींच रही है. इस खबर को सुनकर यकीनन आप भी एक नर्स की नेकदिली पर दिल हार जाएंगे.

सोशल मीडिया पर जो फोटो तेजी से वायरल हो रही है, उसमें  एक शख्स हाथ में एक डॉगी को बड़े पकड़े हैं. जो कि रोम के जॉन बर्ली ( John burley) बर्ली अस्पताल में हैं जहां इलाज के लिए इन्हें लंबे वक्त तक रहना पड़ेगा, ऐसे में वो काफी परेशान थे कि उनके प्यारे और पालतू डॉगी बूमर (boomer) उनके बिना अब कैसे रहेगा. अस्पताल (hospital) जाने के बाद वो अकेला न रहे इसी चिंता में बर्ली ने 13 साल के डॉगी बूमर को शेल्टर होम (shelter home) को सौंप दिया.

रिहैबिलिटेशन सेंटर में बर्ली को ये बात हमेशा परेशान करती थी कि शेल्टर होम में बूमर का ठीक से ख्याल नहीं रखा जा रहा होगा. उसने जैसे ही अपनी परेशानी की ये वजह नर्स स्मिथ को बताई उसने फौरन बर्ली को दिलासा दिया कि वो बूमर की तलाश करेगी और उससे मिलवाने भी लाएगी. स्मिथ ने रोम ह्यूमन सोसाइटी (Rome humane society) से संपर्क कर बूमर को गोद लेने की फीस (adoption fee) दी और अपने पास रखने का फैसला किया.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


इसके साथ ही स्मिथ ने डॉगी का खाना, कपड़े, टॉयज़, दवाइयां सब की व्यवस्था भी की. स्मिथ (Jennifer Smith) ने बताया कि एक एडल्ट डेकेयर प्रोग्राम (day care programme) में बर्ली और स्मिथ की दोस्ती हुई थी. जहां बर्ली हमेशा बूमर के बारे में बात करते था लिहाज़ा मैं उन दोनों को अलग होते नहीं देख सकती थी. नर्स ने बर्ली के ठीक होकर घर लौटने तक उसके पालतू की देखभाल का ज़िम्मा उठाया तो हर तरफ उसके इस कदम की सराहना होने लगी.