दिल्ली में 'नदी' बनीं सड़कें, बैलगाड़ी पलटी, छपाक से गिर गए लोग - देखें Video

तुगलकाबाद अंडरपास (Tughlakabad Underpass) बारिश के पानी से भर गया. तुगलकाबाद अंडरपास में इतना पानी भर गया कि लोगों को पार करने के लिए बैगगाड़ी करनी पड़ी. बैलगाड़ी (Bullock Cart) का भी संतुलन बिगड़ा और लोग नीचे गिर गए. 

दिल्ली में 'नदी' बनीं सड़कें, बैलगाड़ी पलटी, छपाक से गिर गए लोग - देखें Video

दिल्ली में सड़क बनी 'नदी', पार कराने आई बैल गाड़ी भी पलटी, छपाक से गिर गए लोग... देखें Video

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली (Delhi) में रातभर बारिश (Rain In Delhi) के बाद बृहस्पतिवार सुबह भी बारिश जारी रही, जिससे शहर के कई हिस्सों में पानी भर गया. नार्थ दिल्ली (North Delhi) के ज़ख़ीरा अंडरपास (Zakira Underpass) और तुगलकाबाद अंडरपास (Tughlakabad Underpass) बारिश के पानी से भर गया. वहां लोगों को अंडरपास (Waterlogging In Tughlakabad Underpass) पार करने में काफी परेशानी हो रही है. तुगलकाबाद अंडरपास में इतना पानी भर गया कि लोगों को पार करने के लिए बैगगाड़ी करनी पड़ी. बैलगाड़ी (Bullock Cart) का भी संतुलन बिगड़ा और लोग नीचे गिर गए. 

देखें Video:

नार्थ दिल्ली के ज़ख़ीरा अंडरपास में भी जलभराव के कारण कार डूबने से बाल-बाल बची, कार चालक को समय रहते पानी के अंदर फंसे कार से लोगो ने बचाया नही तो मिंटो ब्रिज अंडरपास जैसा हादसा हो सकता था. रात भर हुई बारिश के कारण सुबह जखीरा अंडरपास के नीचे काफी पानी जमा हो गया जिसमें एक डीटीसी की बस ओटो,ट्रैक्टर और कार जलभराव के बीच फंस गया. कार ,पानी में फसे ऑटो को तो लोगो ने निकाल दिया है जबकि बस अभी भी फसी हुई है.

भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने दिल्ली में आज भी बारिश जारी रहने का पूर्वानुमान व्यक्त किया है. आईएमडी के अनुसार सुबह साढ़े पांच बजे तक पालम वेधशाला में 86 और सफदरजंग मौसम केन्द्र में 42.4 मिमी बारिश दर्ज की गई. 


आईएमडी के अनुसार बुधवार शाम तक शहर में अगस्त में होने वाली बारिश की तुलना में इस साल अब तक 72 प्रतिशत कम बारिश हुई थी। पिछले 10 साल में यह सबसे कम बारिश है. आईएमडी के क्षेत्रीय पूर्वानुमान केन्द्र के प्रमुख कुलदीप श्रीवास्तव ने बताया कि शहर में ''रात भर बारिश जारी रही'' और आज दिन में भी बारिश होने की संभावना है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


दिल्ली सरकार और एमसीडी में बैठी बीजेपी अभी तक भी बारिश से होने वाले किसी भी अंडरपास के डूबने से बचाने पर कोई ठोस उपाय नहीं कर पाई है,सारे दावे कागजी और हवा हवाई हैं.