बीजिंग और लंदन के बीच तनातनी, ब्रिटिश संसद ने चीनी राजदूत की यात्रा पर लगाया जवाबी प्रतिबंध

चीन ने मार्च में ब्रिटिश सांसदों और उनके परिवार के सदस्यों की यात्रा पर प्रतिबंध लगा दिया था और उन्हें चीन या हांगकांग के पूर्व में स्थित ब्रिटिश उपनिवेश में प्रवेश करने से मना कर दिया था.

बीजिंग और लंदन के बीच तनातनी, ब्रिटिश संसद ने चीनी राजदूत की यात्रा पर लगाया जवाबी प्रतिबंध

ब्रिटिश सांसदों ने चीनी राजदूत की यात्रा पर प्रतिबंध लगा दिए. (फाइल फोटो)

लंदन:

बीजिंग (Beijing) द्वारा ब्रिटिश सांसदों के खिलाफ प्रतिबंध लगाने के बाद ब्रिटेन की संसद (UK Parliament) में नेताओं ने जवाबी कार्रवाई में मंगलवार (14 सितंबर) को चीन के नए राजदूत झेंग ज़ेगुआंग (Zheng Zeguang) की यात्रा पर भी रोक लगा दी. झेंग ज़ेगुआंग बुधवार को हाउस ऑफ कॉमन्स और हाउस ऑफ लॉर्ड्स, दोनों सदनों के सदस्यों के एक समूह को एकसाथ संबोधित करने वाले थे जो यूके-चीन संबंधों को बढ़ावा देने पर काम करते हैं.

लेकिन ब्रिटिश सांसद इयान डंकन स्मिथ– जो ब्रिटेन के उन नौ सांसदों में एक हैं, जो और चीन की कम्युनिस्ट पार्टी की नीतियों का विरोध करते हैं और विशेष रूप से शिनजियांग प्रांत के उत्तर-पश्चिमी क्षेत्र में उइगरों को प्रभावित करने वाली नीति की खिलाफत करते हैं- ने कहा कि चीनी राजदूत का संबोधन "निंदनीय” होगा.

बता दें कि चीन ने मार्च में ब्रिटिश सांसदों और उनके परिवार के सदस्यों की यात्रा पर प्रतिबंध लगा दिया था और उन्हें चीन या हांगकांग के पूर्व में स्थित ब्रिटिश उपनिवेश में प्रवेश करने से मना कर दिया था. ब्रिटिश सांसदों पर चीन की यह कार्रवाई तब सामने आई थी, जब शिनजियांग में मानवाधिकारों के हनन के लिए चीन को जिम्मेदार ठहराते हुए चीनी अधिकारियों पर ब्रिटेन के साथ-साथ संयुक्त राज्य अमेरिका, कनाडा और यूरोपीय संघ ने प्रतिबंध लगा दिए थे. 


"प्रतिस्पर्धा हो, संघर्ष नहीं", सात महीनों में पहली बार जो बाइडेन ने शी चिनफिंग से की फोन पर बात

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


ब्रिटिश सांसद डंकन स्मिथ और अन्य ने हाउस ऑफ कॉमन्स के अध्यक्ष लिंडसे हॉयल को पत्र लिखकर मांग की कि वह झेंग को संसदीय परिसर में बोलने से रोकें. इसके बाद एक बयान में हॉयल ने जवाब दिया कि वह नियमित रूप से दुनिया भर के राजदूतों के साथ सांसदों के साथ संबंधों को आगे बढ़ाने के लिए मिलते हैं "लेकिन मुझे नहीं लगता कि चीन के राजदूत के लिए कॉमन्स एस्टेट और हमारे कार्यस्थल पर मिलना उचित है, जबकि उनके देश ने हमारे कुछ सदस्यों के खिलाफ प्रतिबंध लगाए हैं."