विज्ञापन
Story ProgressBack
This Article is From Mar 18, 2023

‘टॉयलेट पेपर‘: पुतिन के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय न्यायालय के गिरफ्तारी वारंट का रूस ने उड़ाया मजाक 

क्रेमलिन के प्रवक्ता दिमित्री पेसकोव ने कहा, 'रूस कई अन्य देशों की तरह इस अदालत के अधिकार क्षेत्र को मान्यता नहीं देता है और इसलिए कानूनी दृष्टिकोण से अदालत का यह फैसला शून्य है.'

Read Time: 19 mins
‘टॉयलेट पेपर‘: पुतिन के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय न्यायालय के गिरफ्तारी वारंट का रूस ने उड़ाया मजाक 
रूस के पूर्व राष्ट्रपति दिमित्री मेदवेदेव ने पुतिन के खिलाफ वारंट की तुलना टॉयलेट पेपर से की है. (फाइल)
मॉस्को:

रूस (Russia) ने शुक्रवार को कहा कि राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन (Vladimir Putin) के लिए गिरफ्तारी वारंट जारी करने का अंतरराष्ट्रीय अपराध न्यायालय (International Criminal Court) का निर्णय कानूनी रूप से 'शून्य' है, क्योंकि मास्को हेग स्थित अदालत के अधिकार क्षेत्र को मान्यता नहीं देता है. अंतरराष्ट्रीय कोर्ट के निर्णय से रूस के शीर्ष अधिकारी गुस्से में हैं, वहीं उनके विरोधियों ने इस कदम को सराहा है.  क्रेमलिन के प्रवक्ता दिमित्री पेसकोव ने कहा, 'रूस कई अन्य देशों की तरह इस अदालत के अधिकार क्षेत्र को मान्यता नहीं देता है और इसलिए कानूनी दृष्टिकोण से अदालत का यह फैसला शून्य है.' रूस आईसीसी का सदस्य नहीं है. 

Advertisement

रूसी विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता मारिया ज़खारोवा ने कहा कि आईसीसी के फैसलों का रूस के लिए कोई मतलब नहीं है.

उन्होंने टेलीग्राम पर कहा, "रूस रोम की अंतरराष्ट्रीय अपराध न्यायालय की व्यवस्था का पक्षकार नहीं है और इसके तहत कोई दायित्व नहीं है."

Advertisement

पुतिन का नाम लिए बिना जखारोवा ने कहा, "रूस इस निकाय के साथ सहयोग नहीं करता है और जहां तक ​​हमारा संबंध है, अंतरराष्ट्रीय अदालत से गिरफ्तारी के संभावित ‘नुस्खे‘ कानूनी रूप से अमान्य होंगे." 

Advertisement

रूस के पूर्व राष्ट्रपति दिमित्री मेदवेदेव ने भी ट्विटर पर वारंट की तुलना टॉयलेट पेपर से की है. 

इससे पहले, आईसीसी ने शुक्रवार को घोषणा की कि उसने यूक्रेनी बच्चों के 'गैरकानूनी निर्वासन' के लिए पुतिन के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी किया. 

Advertisement

अदालत ने इसी तरह के आरोपों पर बच्चों के अधिकारों के लिए रूस की राष्ट्रपति आयुक्त मारिया लावोवा-बेलोवा के खिलाफ वारंट भी जारी किया था. 

Advertisement

सरकारी समाचार एजेंसी आरआईए नोवोस्ती ने लवोवा-बेलोवा के हवाले से कहा, ‘सभी देशों, यहां तक ​​कि जापान से भी मेरे खिलाफ प्रतिबंध लगे हैं और अब गिरफ्तारी वारंट... लेकिन हम अपना काम जारी रखेंगे.‘

प्रमुख अपराधों की जांच करने वाली जांच समिति के प्रमुख ने ‘रूसी नागरिकों‘ के खिलाफ आईसीसी वारंट की जांच का आदेश दिया. 

ये भी पढ़ें :

* नित्यानंद के 'कैलासा' ने 'सिस्टर सिटी' स्कैम के जरिए से 30 अमेरिकी शहरों को ठगा : रिपोर्ट
* अंतरराष्ट्रीय अदालत ने राष्ट्रपति पुतिन के खिलाफ जारी किया गिरफ्तारी का वारंट, जानें क्या है इसकी वजह
* क्या है इमरान खान के खिलाफ दायर तोशखाना केस ? समझिए

NDTV.in पर ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें, व देश के कोने-कोने से और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
'ड्रैगन' की नापाक चाल! सिक्किम से 150 KM दूर तैनात किए जेट, सैटेलाइट तस्वीरों से खुलासा
‘टॉयलेट पेपर‘: पुतिन के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय न्यायालय के गिरफ्तारी वारंट का रूस ने उड़ाया मजाक 
"भारत मामले को गंभीरता से ले रहा है" : पन्नू की हत्या की साजिश संबंधी रिपोर्ट पर अमेरिकी
Next Article
"भारत मामले को गंभीरता से ले रहा है" : पन्नू की हत्या की साजिश संबंधी रिपोर्ट पर अमेरिकी
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
;