विज्ञापन
Story ProgressBack

शहीद सबरीन अल-सकानी की बेटी... : गाजा में हुए इजरायली हमले में मारी गई मां के गर्भ से बच्ची को मिली जिंदगी

Israel-Hamas Conflict : इजरायल राफा पर हर रोज हमले कर रहा है. इजरायल ने अमेरिका सहित अंतरराष्ट्रीय स्तर पर संयम बरतने की अपील के बावजूद मिस्र की सीमा पर स्थित इस शहर में अपने जमीनी हमले का विस्तार करने की भी कसम खाई है.

Read Time: 4 mins
शहीद सबरीन अल-सकानी की बेटी... : गाजा में हुए इजरायली हमले में मारी गई मां के गर्भ से बच्ची को मिली जिंदगी
Israel-Hamas Conflict : मौत के मंजर के बीच गाजा में किलकारी गूंजी है.

इजरायल और फिलिस्तीनी संगठन हमास के बीच बीते साल 7 अक्टूबर से जंग चल रही है. 7 अक्टूबर को हमास ने गाजा पट्टी से इजरायल की तरफ 5 हजार से ज्यादा रॉकेट दागे थे, जिसके बाद से इजरायल गाजा पट्टी पर जवाबी कार्रवाई कर रहा है. इजरायली सेना ने गाजा के राफा शहर में बीती रात यानी शनिवार को गोलीबारी की. इस दौरान 19 लोगों की मौत की खबर है. हालांकि, मौत के मंजर के बीच किलकारी भी गूंजी है. फिलिस्तीनी स्वास्थ्य अधिकारियों ने कहा कि राफा शहर में हुए इजरायली हमले में मारी गई फिलिस्तीनी महिला के गर्भ से एक बच्ची को जन्म दिया गया. इन हमलों में महिला के पति और बड़ी बेटी की भी मौत हो गई है. 

Advertisement

न्यूज एजेंसी 'रॉयटर्स' की रिपोर्ट के मुताबिक, दो घरों पर हुए हमले में 19 लोग मारे गए. इनमें एक ही परिवार के 13 बच्चे शामिल हैं. नवजात बच्ची की देखभाल कर रहे डॉक्टर मोहम्मद सलामा ने कहा कि  बच्ची की मां सबरीन अल-सकानी 30 हफ्ते की प्रेग्नेंट थी. जन्म के समय बच्ची का वजन 1.4 किलोग्राम था. उसे इमरजेंसी सी-सेक्शन के जरिए जन्म दिया गया था. पहले तो उसकी हालत नाजुक थी. अब धीरे-धीरे उसकी हालत में सुधार हो रहा है.

"शहीद सबरीन अल-सकानी का बच्चा" 
बच्ची को राफा के अस्पताल में एक दूसरे नवजात के साथ इनक्यूबेटर में रखा गया था, उसके सीने पर स्टिकर लगा हुआ था, जिसमें "शहीद सबरीन अल-सकानी का बच्चा" लिखा हुआ था. सबरीन अल-सकानी की बड़ी बेटी की भी इस हमले में मौत हो गई. उसके चाचा रामी अल-शेख ने बताया कि वो अपनी छोटी बहन का नाम रूह रखना चाहती थी. अरबी में इसका मतलब आत्मा होता है. उन्होंने कहा, "छोटी बच्ची मलक खुश थी कि उसकी बहन दुनिया में आ रही है."

Advertisement

अभी अस्पताल में रहेगी बच्ची
डॉक्टर सलामा ने कहा, "बच्ची तीन से चार सप्ताह तक अस्पताल में रहेगी. इसके बाद हम सोचेंगे कि बच्ची कहां जाएगी... अपने परिवार के पास या किसी संस्था के पास. दुख की बात ये है कि अगर यह बच्ची बच भी गई, तो वह अनाथ रहेगी."

Advertisement

एक ही परिवार के 13 बच्चों की मौत
फिलिस्तीनी स्वास्थ्य अधिकारियों के मुताबिक, अब्देल अल परिवार के दूसरे घर पर हुए हमले में 13 बच्चे मारे गए. मृतकों में दो महिलाएं भी शामिल हैं.राफा में हताहतों की संख्या के बारे में पूछे जाने पर एक इजरायली सैन्य प्रवक्ता ने कहा कि गाजा में सैन्य परिसरों, लॉन्च पैड और सशस्त्र लोगों समेत विभिन्न आतंकवादी ठिकानों पर हमला किया गया.

Advertisement

एक परिवार की पूरी पहचान खत्म
एक फिलिस्तीनी व्यक्ति का परिवार इस हमले में खत्म हो गया है. उन्होंने सफेद कफन में एक बच्चे के शव पर शोक व्यक्त करते हुए कहा, "मेरी पत्नी, बच्चों और बाकी सभी लोगों के साथ मेरी पूरी पहचान मिटा दी गई है. एक बेटी और पोता अभी भी मलबे में है."

Advertisement

मोहम्मद अल-बेहैरी ने कहा, "यह दुख और अवसाद की भावना है. हमारे पास इस जीवन में रोने के लिए कुछ भी नहीं बचा है. हम किस भावना का अनुभव करेंगे? जब आप अपने बच्चों को खो देते हैं, जब आप अपने सबसे करीबी प्रियजनों को खो देते हैं, तो आपकी भावना कैसी होगी?" 

बता दें कि इजरायल राफा पर हर रोज हमले कर रहा है. इजरायल ने अमेरिका सहित अंतरराष्ट्रीय स्तर पर संयम बरतने की अपील के बावजूद मिस्र की सीमा पर स्थित इस शहर में अपने जमीनी हमले का विस्तार करने की भी कसम खाई है.

मिडिल ईस्ट में बढ़ी अशांति
इजरायल और हमास के बीच 7 अक्टूबर 2023 से जारी संघर्ष ने क्षेत्रीय अशांति को जन्म दिया है, जिससे इजरायल और अमेरिका पूरे मध्य पूर्व में ईरान और संबद्ध आतंकवादी समूहों के खिलाफ खड़े हो गए हैं. इस महीने की शुरुआत में इजरायल और ईरान के बीच सीधे गोलीबारी और ड्रोन हमले की कार्रवाई हुई. इससे लंबे समय से दुश्मनों के बीच युद्ध की आशंका बढ़ गई है.

34000 से अधिक फिलिस्तीनियों की मौत
स्थानीय स्वास्थ्य अधिकारियों के अनुसार, इजरायल-हमास युद्ध में 34,000 से अधिक फिलिस्तीनी मारे गए हैं. गाजा के दो सबसे बड़े शहर तबाह हो गए हैं. पूरे क्षेत्र में विनाश हुआ है. लगभग 80 प्रतिशत आबादी अपने घरों से भागकर घिरे तटीय क्षेत्र के अन्य हिस्सों में चली गई है, जिसके बारे में विशेषज्ञों का कहना है कि यह अकाल के कगार पर है.

गाजा को 9 बिलियन अमेरिकी डॉलर की सहायता
इस बीच अमेरिका ने गाजा के लिए मानवीय सहायता का ऐलान किया है. हाउस ऑफ रिप्रेजेंटेटिव्स ने शनिवार को 26 बिलियन अमेरिकी डॉलर के सहायता पैकेज को मंजूरी दी, जिसमें गाजा के लिए 9 बिलियन अमेरिकी डॉलर की मानवीय सहायता शामिल है.

NDTV.in पर ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें, व देश के कोने-कोने से और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
पाकिस्तानियों के टारगेट पर विदेशों में रहने वाले भारतीय? तुर्किये और कंबोडिया में अपहरण के आरोप में पकड़े गए
शहीद सबरीन अल-सकानी की बेटी... : गाजा में हुए इजरायली हमले में मारी गई मां के गर्भ से बच्ची को मिली जिंदगी
यमन समर्थित हूती विद्रोहियों ने लाल सागर में भारत आ रहे तेल टैंकर पर किया मिसाइलों से हमला
Next Article
यमन समर्थित हूती विद्रोहियों ने लाल सागर में भारत आ रहे तेल टैंकर पर किया मिसाइलों से हमला
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
;