मलाला यूसुफजई ने धमकी भरे पोस्‍ट को लेकर पाकिस्‍तान के PM इमरान और सेना से पूछा यह सवाल..

एहसान ने नौ साल पहले मलाला पर गोली से हमला किया था. उसे 2017 में गिरफ्तार किया गया था, लेकिन जनवरी 2020 में एक तथाकथित सुरक्षित पनाह-गाह से फरार हो गया था.

मलाला यूसुफजई ने धमकी भरे पोस्‍ट को लेकर पाकिस्‍तान के PM इमरान और सेना से पूछा यह सवाल..

धमकी मिलने के बाद मलाला ने पीएम इमरान और पाकिस्‍तान की सेना पर निशाना साधा था

आतंकवादी संगठन तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्‍तान (TTP) का पूर्व प्रवक्‍ता एहसानउल्‍ला एहसान, जिसने वर्ष 2012 में मलाला यूसुफजई (Malala Yousafzai) को गोली मारने की जिम्‍मेदारी ली थी, ने एक बार फिर नोबल अवार्ड विनर मलाला को धमकी दी है. बुधवार को अपने एक ट्वीट में एहसान ने लिखा, 'अगली बार कोई गलती नहीं होगी.' TTP के पूर्व प्रवक्‍ता की ओर से मिली इस ताजा धमकी के बाद नोबल नोबल अवार्ड विजेता मलाला ने पाकिस्‍तान के पीएम इमरान खान (Imran Khan) और वहां की सेना पर निशाना साधा था. उन्‍होंने ट्वीट करके यह सेना और पीएम ने साफ करने को कहा था कि आखिरकार सरकार की हिरासत से एहसान किस तरह से भागने में सफल हो गया,  

Malala Yousafzai हुईं ग्रेजुएट, कॉलेज में ऐसे मनाया जश्न, बताई अपनी फ्यूचर Planning
 
मलाला ने ट्वीट में लिखा, 'यह तहरीक-ए-तालिबान (TTP) का पूर्व प्रवक्‍ता है जिसने मुझ और कई निर्दोष लोगों पर हमले की जिम्‍मेदारी ली है. अब वह सोशल मीडिया पर लोगों को धमकी दे रहा है. आखिर वह कैसे बच गया @OfficialDGISPR@ImranKhanPTI?,' वैसे, ट्विटर ने बुधवार को एहसानउल्‍ला एहसान के उस खतरनाक पोस्ट के साथ अकाउंट को स्थायी रूप से हटा दिया. एहसान ने नौ साल पहले मलाला पर गोली से हमला किया था. उसे 2017 में गिरफ्तार किया गया था, लेकिन जनवरी 2020 में एक तथाकथित सुरक्षित पनाह-गाह से फरार हो गया था, जहां उसे पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी द्वारा रखा गया था. उसकी गिरफ्तारी और फरारी दोनों की परिस्थितियों को लेकर विवाद बना हुआ हैण्‍ भागने के बाद से एहसान ने ट्विटर अकाउंट के जरिए पाकिस्तानी पत्रकारों के साथ संवाद किया था, जिससे उर्दू भाषा में धमकी दी गई थी. उसके कई ट्विटर अकाउंट रहे हैं, जिनमें से सभी को बंद कर दिया गया है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com