'अगर हर किसी तक वैक्सीन नहीं पहुंची तो....' - UN महासचिव ने दावोस में चेताया

संयुक्त राष्ट्र महासचिव ने कोविड-रोधी टीके की असमानता को दूर करने को लेकर वैश्विक नेताओं का आह्वान करते हुए ने कहा कि कोविड-19 महामारी का मुकाबला तभी संभव है, जब दुनियाभर में प्रत्येक व्यक्ति तक टीके की पहुंच सुनिश्चित की जा सके.

'अगर हर किसी तक वैक्सीन नहीं पहुंची तो....' - UN महासचिव ने दावोस में चेताया

UN चीफ एंटोनियो गुतारेस ने वैक्सीन असमानता पर चेताया. (फाइल फोटो)

नयी दिल्ली/दावोस:

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुतारेस ने सोमवार को कोरोनावायरस महामारी के खिलाफ चल रहे वैक्सीनेशन को विश्व में हर किसी तक पहुंचाने की महत्ता पर जोर दिया. उन्होंने कहा कि 'हर किसी के पास वैक्सीन तक पहुंच सुनिश्चित करनी होगी, क्योंकि अगर हम एक को पीछे छोड़ेंगे, इसका मतलब हम हर एक को पीछे छोड़ेंगे.' संयुक्त राष्ट्र महासचिव ने विश्व आर्थिक मंच (डब्ल्यूईएफ) के ऑनलाइन दावोस एजेंडा, 2022 शिखर सम्मेलन में कोविड-रोधी टीके की असमानता को दूर करने को लेकर वैश्विक नेताओं का आह्वान करते हुए ने कहा कि कोविड-19 महामारी का मुकाबला तभी संभव है, जब दुनियाभर में प्रत्येक व्यक्ति तक टीके की पहुंच सुनिश्चित की जा सके.

उन्होंने चेताया कि ऐसा नहीं होने की सूरत में वायरस के नए स्वरूप सामने आते रहेंगे, जिससे सामान्य जीवन के साथ-साथ आर्थिक गतिविधियां भी उबर नहीं पाएंगी.

दावोस एजेंडा, 2022 शिखर सम्मेलन में गुतारेस ने कहा कि कोविड-19 महामारी से वैश्विक स्तर पर आर्थिक सुधार बेहद धीमा और असमान है. उन्होंने इसके साथ ही कहा कि वैश्विक वित्तीय प्रणाली कम आय वाले देशों में ऐसे समय में विफल हो गई है, जब उन्हें इसकी सबसे ज्यादा जरूरत थी.

शिखर सम्मेलन में उन्होंने कहा कि उत्सर्जन लक्ष्यों को पूरा करने में एक-दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप में उलझने के बजाय वैश्विक समुदाय की बेहतरी के लिए विकासशील देशों की सहायता करने की आवश्यकता है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


उन्होंने भारत द्वारा समर्थन के कई द्विपक्षीय रूपों की स्वीकृति की सराहना की और उम्मीद जतायी कि विकसित देश भारत को सौर ऊर्जा सहित अपने लक्ष्य को प्राप्त करने में मदद प्रदान करेंगे.



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)