"इजरायल पर हमला, अमेरिका पर भी हमला" : US के पूर्व राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार

इस आतंकी हमले में अब तक 1300 से ज्यादा इजरायली मारे गए हैं. वहीं, गाजा पट्टी में 1800 लोग इजरायल के जवाबी हमलों में अपनी जान गंवा चुके हैं. जंग में अमेरिका के 27 नागरिकों की भी मौत हो गई है. कई लापता हैं.

इजराइल अगले 48 घंटों के अंदर गाजा में बड़े पैमाने पर जमीनी हमले शुरू कर सकता है.

नई दिल्ली:

फिलिस्तीनी संगठन हमास के साथ जंग (Israel Palestine Conflict) में अमेरिका अपने करीबी दोस्त इजरायल का भरपूर साथ दे रहा है. अमेरिका इजरायल को हाईटेक हथियार और फंड्स मुहैया करा रहा है. इस बीच अमेरिका (US-Israel Relation) के पूर्व राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जॉन बोल्टन ने कहा कि इजरायल पर हमास का आतंकी हमला अमेरिका पर हमला है. बोल्टन ने कहा कि इजरायल अगले 48 घंटों में गाजा (Gaza Strip) में हमास (Hamas) के खिलाफ अपना मुख्य जमीनी हमला शुरू कर सकता है.

Hamas Secret Tunnels: 'मौत का कुआं' हैं  हमास की खुफिया सुरंगें, इजरायल के लिए आसान नहीं है जमीनी हमला
 

अमेरिका के पूर्व राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जॉन बोल्टन ने NDTV के साथ एक इंटरव्यू में कहा, "जब आप पर आतंकवादी हमला होता है, जैसा कि भारत पर हुआ है, तो एक राष्ट्र के पास सेल्फ डिफेंस का लीगल राइट है. इसके साथ ही उसे भविष्य के हमले के खतरे को खत्म करने का भी हक है. इजरायल ने इसे काफी समय से सहन किया है." 

इजरायल ने गाजा पट्टी में घुसकर हमास के खात्मे की बात कही है. इसके लिए इजरायल ने गाजा के लोगों को 24 घंटे के अंदर दूसरी महफूज जगह चले जाने को कहा है. गाजा पट्टी में सायरन बच रहे हैं. बॉर्डर पर भारी तादाद में इजरायल डिफेंस फोर्स (IDF) के टैंक पहुंच गए हैं. इस बीच इजरायली सेना ने शुक्रवार को कहा कि घनी आबादी वाले फिलिस्तीनी क्षेत्र गाजा पर अपेक्षित जमीनी हमले से पहले ग्राउंड फोर्सेस ने पिछले 24 घंटों में छापे मारे.

आखिर गाजा में कब घुसेगा इजरायल, कितना मुश्किल होगा हमास के खिलाफ जमीनी हमला?
 

बोल्टन ने कहा, "इजरायल पर हमला अमेरिका पर भी हमला है. हमास के लड़ाकों ने 15 से 20 अमेरिकियों को बंधक बना लिया है. हमास का आतंकवादी हमला न सिर्फ इजरायल के लिए, बल्कि पूरी दुनिया के लिए एक समस्या है." बोल्टन का बयान अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन के उस संबोधन के बाद आया, जिसमें उन्होंने कहा था कि अमेरिकियों को आजाद करने के लिए हम कुछ भी कर सकते हैं. बाइडेन ने हमास हमले के बाद से लापता 14 अमेरिकियों के परिवारों से भी बात की है. जंग में कम से कम 27 अमेरिकी मारे जा चुके हैं.

इस बीच बोल्टन ने आरोप लगाया कि शनिवार को हमास के आतंकी हमले में ईरान का हाथ है. उन्होंने NDTV से कहा, "ईरान की संलिप्तता के बहुत सारे सबूत हैं." उन्होंने मोसाद समेत इजरायली खुफिया एजेंसियों की नाकामी पर भी चिंता जाहिर की. बोल्टन ने कहा, "किसी को भी यह नहीं आंकना चाहिए कि यह कितनी बड़ी खुफिया नाकामी थी. अमेरिका और इजरायल को इस फेल्योर के सोर्स का पता लगाने के लिए फोरेंसिक जांच करानी चाहिए."

इस बीच इजरायल ने शुक्रवार को उत्तरी गाजा के 1.1 मिलियन (11 लाख) निवासियों को जमीनी हमले से पहले जगह छोड़ देने का अल्टीमेटम दिया है. हालांकि, संयुक्त राष्ट्र ने इस कदम की निंदा की है. संयुक्त राष्ट्र ने इजरायल से उसके अल्टीमेटम को वापस लेने की अपील की है.

इजरायल के अल्टीमेटम के बाद अपना घर-बार छोड़कर गाजा से निकलने लगे लोग, सामने आया VIDEO 

 

इस आतंकी हमले में अब तक 1300 से ज्यादा इजरायली मारे गए हैं. वहीं, गाजा पट्टी में 1800 लोग इजरायल के जवाबी हमलों में अपनी जान गंवा चुके हैं.

हमलों के बीच अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन ने शुक्रवार को इजरायल से फिलिस्तीनी नागरिकों की मौतों को सीमित करने के लिए कहा. ब्लिंकन ने फिर से इजरायल के प्रतिक्रिया देने के अधिकार का बचाव किया, लेकिन निर्दोष फिलिस्तीनियों की रक्षा के लिए भी आवाज उठाई.

ब्लिंकन ने कतर में एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, "हमने इजरायलियों से नागरिकों को नुकसान से बचने के लिए हर संभव सावधानी बरतने का आग्रह किया है." उन्होंने कहा, "हम मानते हैं कि गाजा में कई फिलिस्तीनी परिवार बिना किसी गलती के पीड़ित हैं. फिलिस्तीनी नागरिकों ने अपनी जान गंवाई है. लेकिन हमास को सबक सिखाने का अधिकार इजरायल के पास है. उन्होंने कहा, "इज़राइल जो कर रहा है वह प्रतिशोध (बदला) नहीं है. इजरायल अपने लोगों की जिंदगी की रक्षा कर रहा है."
 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

Explainer: इजरायल ने 24 घंटे के अंदर गाजा छोड़ने का दिया आदेश, कहां जाएंगे 11 लाख लोग?