सास के साथ रोज-रोज के झगड़े से हो गई हैं परेशान तो इस तरह करें बात, आपसी मनमुटाव सुलझाने में मिलेगी मदद 

Fights with mother-in-law: छोटी-मोटी दिक्कतें भी बड़ी परेशानियों का कारण बन जाती हैं. सास के साथ आपके झगड़े बढ़ने लगे हैं तो कुछ बातों पर ध्यान दिया जा सकता है.

सास के साथ रोज-रोज के झगड़े से हो गई हैं परेशान तो इस तरह करें बात, आपसी मनमुटाव सुलझाने में मिलेगी मदद 

How to deal with mother-in-law: इस तरह सासुमां के साथ झगड़े सुलझाने में मिलेगी मदद. 

Family Problems: शादी करके नए घर जाना और वहां झगड़ा करना शायद ही किसी की इच्छा होगी. लेकिन, कई बार सास के साथ बहुत सी बातों पर आपसी सहमति नहीं बन पाती जिस कारण झगड़े (Fights) शुरू होने लगते हैं. ऐसे में आपका खुद का मूड तो खराब रहने ही लगता है साथ ही घर का वातावरण भी तनाव से भर जाता है. आप छोटे होने के नाते ही सही सासुमां (Mother-in-law) की तरफ दोस्ती या साझेदारी का हाथ बढ़ा सकती हैं. आपकी समझदारी घर में खुशियां और शांति लाने का काम करे तो इसमें हर्ज कैसा. यहां आपके लिए कुछ ऐसे ही टिप्स दिए जा रहे हैं जिन्हें अपनाने पर ना आपको बुरा महसूस होगा और ना ही सास के साथ झगड़ा होगा. 

Parenting Tips: माता-पिता के ये 6 काम बच्चों के लिए नहीं हैं ठीक, कहीं बिगड़ ना जाएं आपके नन्हे-मुन्ने 

सास के साथ झगड़े सुलझाने के तरीके | Ways to resolve fights with mother-in-law

कुछ बातों को नजरअंदाज करना सीखना 

सभी के साथ हमारी हर मसले पर सहमति हो ऐसा जरूरी नहीं है. आपकी सास जाहिरतौर पर ऐसी कई बातें मानने वाली या कहने वाली हो सकती हैं जिनसे आपके मन को ठेस पहुंचे. आप उनकी हर बात का जवाब दें या उन्हें गलत साबित करने पर तुलें ऐसा जरूरी नहीं है. आप कुछ बातों को नजरअंदाज करने की कोशिश कर सकती हैं. 


आपसी पसंद पर फोकस करना 


ऐसा तो बिल्कुल नहीं हो सकता कि आपके और आपकी सास के बीच कुछ भी पसंद का ना मिले. जो चीजें आपकी पसंद की हों उन्हें साथ में करने की सोचें. बैठकर बात करना, मंदिर जाना, टीवी देखना या फिर कहानियां सुनना आप दोनों को पसंद हो तो साथ में इन चीजों को करने की कोशिश करें. 


झगड़े में संयम ना खोना 


जब आप घर पर अपने माता-पिता से लड़ती थीं तो संयम (Patience) बनाए रखती थीं उसी तरह अपनी सास से अगर कभी झगड़ा हो तो आपको यही संयम बनाए रखना है. उन्हें असम्मानित करने से आपको खुदको खुशी नहीं मिलेगी. इसलिए अपने गुस्से पर काबू आपको रखना ही होगा. 


आराम से बात करके देखें 


अपनी सास के साथ अकेले बैठें और उन्हें समझाने और उनसे बात करने के बारे में सोचें. आप उन्हें बता सकती हैं कि उनकी बातें आपके मन-मस्तिष्क पर प्रभाव डालती हैं और बार-बार के झगड़े आपकी खुशियों के बीच में आ रहे हैं. आपकी बात वे जरूर समझेंगी. 


परेशानी की जड़ तक पंहुचना 


जाहिर सी बात है हर झगड़े की कोई वजह तो होती ही है. सास के साथ जिन वजहों (Reasons) से झगड़े हो रहे हैं उनके कारण को सुलझाने की कोशिश करें. अगर उन्हें आपके व्यवहार या घर के काम ना करने से दिक्कत है तो आप उनसे इस मसले पर बात करें. घर के कामों के लिए आप किसी हाउस हेल्प को रख सकती हैं. व्यवहार आप किसी और के लिए बदल तो नहीं सकतीं लेकिन उनसे इस मसले पर थोड़ी दूरी बनाए रखना आपके काम आएगा. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

इस स्क्रब से दूर होगा चेहरे का रूखापन, डेड स्किन सेल्स हटाने में भी असरदार है Homemade Scrub 

जान्हवी कपूर ने फिल्म 'मिली' की स्क्रीनिंग में रेखा को गले लगाया

Featured Video Of The Day

मध्‍य प्रदेश के मुरैना जिले में भारतीय वायुसेना के दो विमान दुर्घटनाग्रस्‍त, जांच के आदेश