'हम सभी यही चाहते हैं कि...' : सोनिया गांधी से मुलाकात के बाद बोले सचिन पायलट

सचिन पायलट का कहना था, ‘मुझे पूरा यकीन है कि हम पूरी मेहनत करके राजस्थान में दोबारा सरकार बनाएंगे.'

'हम सभी यही चाहते हैं कि...' : सोनिया गांधी से मुलाकात के बाद बोले सचिन पायलट

सचिन पायलट ने उम्मीद जतायी कि राज्य के संदर्भ में पार्टी अध्यक्ष सकारात्मक निर्णय लेंगी.

नई दिल्ली:

राजस्थान में जारी राजनीतिक संकट के बीच राज्य के पूर्व उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट ने बृहस्पतिवार को कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात के बाद कहा कि उन्होंने अपनी भावनाओं एवं फीडबैक से उन्हें अवगत कराया है . साथ ही उन्होंने उम्मीद जतायी कि राज्य के संदर्भ में पार्टी अध्यक्ष सकारात्मक निर्णय लेंगी. 

सोनिया गांधी के आवास के बाहर उन्होंने संवाददाताओं से कहा, ‘कांग्रेस अध्यक्ष ने हमें सुना. राजस्थान का जो घटनाक्रम है, उस पर चर्चा की गई. मैं मानता हूं कि जो हमारी भावनाएं थी, फीडबैक था, वो मैंने सोनिया गांधी जी को बताया है. हम सभी यही चाहते हैं कि मेहनत करके 2023 का विधानसभा चुनाव जीतें. इसके लिए हमें मिलकर काम करना होगा.'

'अब मैदान साफ है तो...' : NDTV से बोले कांग्रेस अध्यक्ष पद की रेस में शामिल दिग्विजय सिंह

पायलट का कहना था, ‘मुझे पूरा यकीन है कि हम पूरी मेहनत करके राजस्थान में दोबारा सरकार बनाएंगे. राजस्थान में पांच साल कांग्रेस होती है और पांच साल भाजपा होती है. इस बार इस परिपाटी को तोड़ना है.'

राजस्थान के राजनीतिक हालात के संबंध में पूछे गए एक सवाल पर उन्होंने कहा, ‘राजस्थान के संदर्भ में जो भी सकारात्मक निर्णय है, वो सोनिया गांधी लेंगी.'

उधर, कांग्रेस के संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल ने कहा कि पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी अगले एक-दो दिन में राजस्थान के मुख्यमंत्री के बारे में फैसला करेंगी.

'राजस्थान संकट को बेहतर तरीके से हैंडल किया जा सकता था' : NDTV से बोले कांग्रेस नेता पी चिदंबरम

वहीं, राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भी आज दिन में सोनिया गांधी से मुलाक़ात की थी. उन्होंने जयपुर में कांग्रेस विधायक दल की बैठक नहीं हो पाने की घटना के लिए सोनिया से माफी मांगी. गहलोत ने यह भी कहा कि वह अब अध्यक्ष पद का चुनाव नहीं लड़ेंगे

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

       

सोनिया गांधी के आवास ‘10 जनपथ' पर उनसे मुलाकात के बाद गहलोत ने कहा कि उनके मुख्यमंत्री पद पर बने रहने के बारे में फैसला सोनिया गांधी करेंगी.



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)