पंजाब की आप सरकार का बड़ा फैसला, 424 वीआईपी लोगों की सुरक्षा हटाई

पंजाब की भगवंत मान सरकार ने 424 वीआईपी लोगों की सुरक्षा वापस ले ली है. जिनकी सुरक्षा वापस ली गई, उनमें कई सेवानिवृत्त अधिकारी और पूर्व विधायक भी शामिल हैं. इससे पहले अप्रैल में भी पंजाब सरकार ने पूर्व मंत्रियों और नेताओं सहित 184 लोगों की सुरक्षा वापस लेने का आदेश दिया था.

चंडीगढ़:

पंजाब की आप सरकार ने 424 वीआईपी लोगों की सुरक्षा वापस ले ली है. जिन वीआईपी लोगों की सुरक्षा वापस ली गई उनमेंं कई सेवानिवृत अधिकारी और और पूर्व विधायक भी शामिल हैं. कहा जा रहा है कि सुरक्षा वापस लेने से पहले पंजाब की नई-नवेली सरकार ने इस मसले पर एक रिव्यू बैठक की थी जिसमें इस बात पर विचार विमर्श किया गया था कि क्या 424 लोगों को सुरक्षा की जरूरत है.

इस बैठक के बाद राज्य सरकार ने सुरक्षा में कटौती के आदेश जारी किए हैं. सुरक्षा को वापस लिए जाने का एक कारण यह भी बताया जा रहा है कि पंजाब पुलिस में पहले से ही कर्मचारियों की भारी कमी है. ऐसे में कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए आम स्थानों पर सुरक्षा कर्मियों की कमी को पूरा करना मुश्किल जा रहा है.

आपको बता दें कि इससे पहले अप्रैल में, पंजाब सरकार ने पूर्व मंत्रियों और पूर्व विधायकों और अन्य नेताओं सहित 184 लोगों की सुरक्षा वापस लेने का आदेश दिया था. गौरतलब है कि पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी, कैप्टन अमरिंदर सिंह के बेटे रणिंदर सिंह और कांग्रेस विधायक प्रताप सिंह बाजवारे की पत्नी के परिवार की सुरक्षा पिछले महीने वापस ले ली गई है.

ये भी पढ़ें: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का गुजरात दौरा आज, नैनो यूरिया प्लांट और अस्पताल का करेंगे उद्घाटन

ये भी पढ़ें: लालू के प्रशंसकों ने जुदा अंदाज में बटोरी सुर्खियां, भैंस पर सवार होकर उनसे मिलने पहुंचे

ये भी पढ़ें: मथुरा की शाही मस्जिद ईदगाह में ‘यथास्थिति' बनाए रखने के लिए कोर्ट से अनुरोध, तीन अलग-अलग आवेदन दाखिल

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


VIDEO: नोएडा में बहुमंजिला इमारत में लगी भीषण आग, कोई हताहत नहीं