"मुझे आज़ाद कीजिए..." : राजस्थान के मंत्री के ट्वीट से सामने आईं कांग्रेस की दिक्कतें

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के लिए मंत्रियों तथा विधायकों का राज्य की नौकरशाही से नाराज़ होना चिंता का सबब है, क्योंकि राज्यसभा चुनाव सिर पर हैं, और एक-एक वोट बेहद कीमती है.

जयपुर:

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के करीबी माने जाने वाले एक मंत्री ने सूबे की नौकरशाही पर गुस्सा ज़ाहिर किया है, और मंत्रिपद छोड़ देने की बात कही है. राजस्थान के मंत्री अशोक चांदना ने माइक्रो-ब्लॉगिंग वेबसाइट ट्विटर पर मुख्यमंत्री से अपील की है कि उन्हें मंत्रिपद से मुक्त कर दिया जाए, और सभी विभाग CM के प्रधान सचिव कुलदीप रांका को सौंप दिए जाएं.

अशोक चांदना राजस्थान में खेल, युवा मामलों, कौशल विकास, रोज़गार, उद्यमिता तथा आपदा प्रबंधन व राहत विभागों के मंत्री हैं.

उन्होंने ट्वीट में लिखा, "माननीय मुख्यमंत्री, मेरा व्यक्तिगत अनुरोध है, कि आप मुझे इस क्रूर मंत्री पद से मुक्त कर दें, मेरे सभी विभागों का प्रभार कुलदीप रांका जी को दे दिया जाना चाहिए, क्योंकि वैसे भी सभी विभागों के मंत्री वही हैं... धन्यवाद..."

गौरतलब है कि बूंदी विधानसभा क्षेत्र के जनप्रतिनिधि अशोक चांदना की इस शिकायत से कुछ ही दिन पहले राज्य के जनजातीय नेता तथा विधायक गणेश घोगरा का सूबे की नौकरशाही के साथ ज़मीनों की डीड के वितरण को लेकर विवाद हुआ था.

विधानसभा में डूंगरपुर सीट की प्रतिनिधित्व करने वाले युवा कांग्रेस की राजस्थान इकाई के प्रमुख गणेश घोगरा ने 18 मई को इस्तीफा दे दिया था, और कहा था कि सत्तासीन पार्टी का विधायक होने के बावजूद उन्हें दरकिनार किया जा रहा है.

चांदना के ट्वीट के कुछ ही मिनट बाद भारतीय जनता पार्टी (BJP) की राजस्थान इकाई के प्रमुख सतीश पूनिया ने कांग्रेस नेता पर कटाक्ष करते हुए ट्वीट किया, और 2023 में होने वाले विधानसभा चुनाव की तरफ इशारा किया. उन्होंने लिखा, "जहाज़ डूब रहा है... 2023 के रुझान सामने आने शुरू हो गए हैं..."

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के लिए मंत्रियों तथा विधायकों का राज्य की नौकरशाही से नाराज़ होना चिंता का सबब है, क्योंकि राज्यसभा चुनाव सिर पर हैं, और एक-एक वोट बेहद कीमती है.

राजस्थान में मामूली राजनैतिक उथल-पुथल भी चिंता का कारण बन सकती है, क्योंकि पार्टी में वैसे भी अशोक गहलोत और उनके युवा प्रतिद्वंद्वी के बीच विधायक बंटे हुए हैं. कांग्रेस अगले साल विधानसभा चुनाव में लगातार दूसरा कार्यकाल पाने की उम्मीद कर रही है, लेकिन राजस्थान के पिछले 30 साल के इतिहास में किसी भी दल को कभी लगातार दूसरा मौका नहीं मिला है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


--- ये भी पढ़ें ---
* राजस्थान के मंत्री अशोक चांदना पर अधिकारी ने लगाया आरोप, मारे थप्पड़
* कांग्रेस MLA गणेश घोघरा ने दिया इस्तीफा, कहा - हो रही अनदेखी
* दिल्ली पुलिस ने राजस्थान के CM अशोक गहलोत के OSD से पूछताछ की