देवेंद्र फडणवीस ने संजय राउत के 'डेथ वारंट' वाले बयान पर किया पलटवार

संजय राउत ने दावा किया कि एकनाथ शिंदे की अगुवाई वाली महाराष्ट्र सरकार का 'डेथ वारंट' जारी हो गया है और अगले 15-20 दिन में सरकार गिर जाएगी. महाराष्‍ट्र में उपमुख्‍यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने अब इस पर पलटवार किया है.

नई दिल्‍ली:

एकनाथ शिंदे के नेतृत्व वाली महाराष्ट्र सरकार के लिए नेता संजय राउत की "डेथ वारंट" वाली टिप्पणी पर उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने पलटवार किया है. एक कुश्ती कार्यक्रम में फडणवीस ने राउत का नाम लिए बिना मराठी में बोलते हुए कहा कि कुछ लोग सुबह नौ बजे उठकर कुश्ती करने की कोशिश कर रहे हैं. उन्‍होंने कहा, "राजनीति में भी कुश्ती चल रही है. हम सभी जानते हैं कि कुछ पहलवानों को कुश्ती में डोपिंग के लिए प्रतिबंधित कर दिया गया था. अब, राजनीति में भी कुछ लोग आज सुबह 9 बजे उठकर कुश्ती करने की कोशिश कर रहे हैं, लेकिन जो पहलवान डोपिंग करते हैं उन्हें अंततः खेल से बाहर होना ही होता है. केवल 'असली' पहलवान जीतते हैं."

फडणवीस ने आगे कहा, "हमने (मुख्यमंत्री) एकनाथ शिंदे के नेतृत्व में आपके आशीर्वाद से लड़ाई जीती. हमें आशीर्वाद देते रहें, ताकि हम 2024 (लोकसभा चुनाव) में फिर से जीत सकें."

संजय राउत का दावा- सरकार कुछ दिन की मेहमान
इससे पहले शिवसेना (उद्धव बालासाहेब ठाकरे) के नेता संजय राउत ने रविवार को दावा किया कि एकनाथ शिंदे की अगुवाई वाली महाराष्ट्र सरकार का 'डेथ वारंट' जारी हो गया है और यह अगले 15-20 दिन में गिर जाएगी. हालांकि, सत्तारूढ़ शिवसेना (शिंदे के नेतृत्व वाली) ने राउत को ‘फर्जी ज्योतिषी' करार दिया और कहा कि उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली शिवसेना (यूबीटी) में ऐसे कई नेता हैं, जो इस तरह की भविष्यवाणियां करते हैं.

अदालत के आदेश का इंतजार
शिवसेना के पूर्व मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की अगुवाई वाले धड़े के प्रमुख नेता राउत ने जलगांव में पत्रकारों से कहा कि उनकी पार्टी अदालत के आदेश का इंतजार कर रही है और उम्मीद कर रही है कि न्याय किया जाएगा. राज्यसभा सदस्य राउत उच्चतम न्यायालय में लंबित उन याचिकाओं का जिक्र कर रहे थे, जिनमें से एक में शिवसेना (शिंदे धड़े) के 16 विधायकों को अयोग्य ठहराने का अनुरोध किया गया है, जिन्होंने उद्धव के नेतृत्व के खिलाफ बगावत की थी.

राउत को बताया ‘फर्जी ज्योतिषी'
राउत ने दावा किया, "मौजूदा मुख्यमंत्री और उनके 40 विधायकों की सरकार 15-20 दिन में गिर जाएगी. इस सरकार का ‘डेथ वारंट' जारी हो गया है. अब यह तय होना है कि कौन इस पर हस्ताक्षर करेगा." शिवसेना (यूबीटी) के नेता ने पूर्व में भी दावा किया था कि शिंदे सरकार फरवरी में गिर जाएगी. वहीं, पुणे में महाराष्ट्र के शिक्षा मंत्री एवं शिंदे के नेतृत्व वाली शिवसेना के सदस्य दीपक केसरकर ने राउत को ‘फर्जी ज्योतिषी' बताया. केसरकर ने कहा कि उच्चतम न्यायालय को कम से कम याचिकाओं पर अपना फैसला देने के लिए समय दिया जाना चाहिए, जिसमें शिवसेना के 16 विधायकों को अयोग्य ठहराने के अनुरोध वाली याचिका भी शामिल है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

ये भी पढ़ें:-
भारतीय कुश्ती संघ के चुनाव पर लगी रोक, पहलवानों के धरने के बीच आया फैसला
"आजादी के बाद की सरकारों ने पंचायती राज व्यवस्था को ध्वस्त किया" : PM मोदी का कांग्रेस पर तंज, 10 प्वाइंट्स