विज्ञापन
Story ProgressBack

अयोध्या के राम मंदिर में अब कोई दर्शनार्थी नहीं होगा वीआईपी, सब भक्त होंगे एक समान 

राम मंदिर बने हुए चंद दिन ही हुए हैं. इसलिए व्यवस्था को लगातार ठीक करने के लिए लगातार बदलाव किए जा रहे हैं. अच्छी बात यह है मंदिर की देखरेख करने वाला ट्रस्ट भक्तों को लेकर सजग है.

Read Time: 2 mins
अयोध्या के राम मंदिर में अब कोई दर्शनार्थी नहीं होगा वीआईपी, सब भक्त होंगे एक समान 
श्री राम जन्मभूमि मंदिर में कई व्यवस्थात बदलाव किए गए हैं,

अयोध्या के श्री राम जन्मभूमि मंदिर की व्यवस्था से जुड़े तीन अहम बदलाव किए गए हैं. अब कोई विशिष्ट व्यक्ति हो या अति विशिष्ट व्यक्ति, श्री राम मंदिर परिसर में उसको चंदन या तिलक नहीं लगाया जाएगा. दूसरा अब किसी को चरणामृत नहीं दिया जाएगा और तीसरा और सबसे अहम यह कि अब दर्शनार्थी पुजारी को पैसा देने के बजाय केवल दान पत्र में ही अर्पण कर सकेंगे.  

नहीं लगेगा किसी को चंदन

श्री राम जन्मभूमि मंदिर में काफी दिनों से यह शिकायत श्री राम मंदिर ट्रस्ट के पास आ रही थी कि सभी राम भक्तों के साथ समान व्यवहार नहीं हो रहा है. कुछ लोगों को विशिष्ट सुविधा मिल रही हैं. जैसे उन्हें चंदन का तिलक लगाया जा रहा है और चरणामृत दिया जा रहा है. इस व्यवस्था को ट्रस्ट ने समाप्त कर दिया है और अब किसी को विशिष्ट व्यक्ति नहीं माना जाएगा और सभी को एक समान माना जाएगा.

चरणामृत भी नहीं मिलेगा

श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के कार्यालय प्रभारी प्रकाश गुप्ता ने कहा कि बदलाव कुछ नहीं हुआ है. कुछ व्यवस्थाओं में परिवर्तन किया गया है. इससे कुछ श्रद्धालुओं के मन में शंका भी होती थी और ट्रस्ट के प्रति रोष भी होता था. जैसे किसी को चरणामृत मिल रहा है. किसी को टीका लग रहा है. किसी को नहीं मिल रहा है. लिहाजा अगर ऐसा हो तो सभी के साथ हो, सभी के साथ समान व्यवहार हो, क्योंकि हमारे लिए सभी बराबर हैं. 

भगवान के चरणों में नहीं होगा दान 

इसी के साथ अब राम मंदिर ट्रस्ट ने एक और बड़ा बदलाव किया है. अब तक दर्शनार्थी राम मंदिर के पुजारियों को भगवान के चरणों में अर्पण के लिए पैसे और कीमती वस्तुएं सीधे देते थे, जिसे बाद में पुजारी रख लेते थे. अब राम मंदिर ट्रस्ट ने कहा है कि जो भी पुजारी उन्होंने नियुक्त किए हैं, उनको पर्याप्त वेतन दिया जाता है और जो भी पैसा भगवान के चरणों में चढ़ाया जाता है, वह दान पात्र में डाला जाना चाहिए. दान ट्रस्ट के पास आना चाहिए. इसलिए दर्शनार्थी अब अपना अर्पण दान पत्र के जरिए ही करेंगे.

NDTV.in पर ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें, व देश के कोने-कोने से और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
शादी में मछली और मांस खाने को नहीं मिला तो दूल्हा मंडप से भागा, जमकर हुई मारपीट; देखें वीडियो
अयोध्या के राम मंदिर में अब कोई दर्शनार्थी नहीं होगा वीआईपी, सब भक्त होंगे एक समान 
हाथरस हादसे में भोले बाबा पर कार्रवाई के बजाय क्लीन चिट, मायावती ने SIT रिपोर्ट पर उठाए सवाल
Next Article
हाथरस हादसे में भोले बाबा पर कार्रवाई के बजाय क्लीन चिट, मायावती ने SIT रिपोर्ट पर उठाए सवाल
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
;