"केवल तिरंगा लगाने से राष्ट्रभक्त नहीं बन जाता कोई", उद्धव ठाकरे ने मोदी सरकार पर कसा तंज

उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) ने कहा कि लोगों के पास घर नहीं है और यह घर-घर तिरंगा की बात कर रहे हैं. डीपी पर तिरंगा लगाना आनंद की बात है, लेकिन जो लोग अपना घर छोड़कर देश की रक्षा करने के लिए सरहद पर खड़े हैं, उनके बजट में कटौती करने की बात करना दुर्भाग्य है.

नई दिल्ली:

महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) ने हर घर तिरंगा अभियान को लेकर केंद्र सरकार पर तंज कसा है. उन्होंने (Uddhav Thackeray) कहा कि हम देश में इन दिनों आजादी का अमृत महोत्सव मना रहे हैं, लेकिन हम सब को ये सोचने की जरूरत है कि आज आखिर लोकतंत्र 75 साल बाद कितना बचा हुआ है. ठाकरे (Uddhav Thackeray) ने आगे कहा कि आजकल माई-बाप सरकार ने घर घर तिरंगा लगाने के लिए कहा है, लेकिन इसपर एक तस्वीर मैं साझा करता हूँ, मुझे किसी ने बताया. इस तस्वीर में एक गरीब कहता है कि मेरे पास तिरंगा है, लेकिन घर नहीं. लोगों के पास घर नहीं है और केंद्र सरकार घर-घर तिरंगा की बात कर रहे हैं. डीपी पर तिरंगा लगाना आनंद की बात है, लेकिन जो लोग अपना घर छोड़कर देश की रक्षा करने के लिए सरहद पर खड़े हैं, उनके बजट में कटौती करने की बात करना दुर्भाग्य है.

अगर आप सेना के लोगों को कम करोगे तो फिर हथियार किसे दोगे. उन्होंने (Uddhav Thackeray) आगे कहा कि आज स्थिति ये है कि सेना में युवाओं की भर्ती के लिए आपके पास पैसे नहीं हैं. लेकिन राज्यों में सरकार गिराने के लिए आप पैसे हैं. ठाकरे ने चीन और अरुणाचल प्रदेश का जिक्र भी किया. उन्होंने कहा कि आज लद्दाख और अरुणाचल प्रदेश में चीन हमारी जमीन में घुस रहे हैं, ऐसे में सिर्फ घर पर तिरंगा लगाने से चीन हमारी जमीन से वापस नहीं चले जाएगा.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


घर के साथ-साथ दिल में भी तिरंगा होना चाहिए. उन्होंने (Uddhav Thackeray) इस दौरान बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा द्वारा राज्य की क्षेत्रीय पार्टियों को खत्म करने के बयान पर भी टिप्पणी की. उन्होंने कहा कि नड्डा राज्य की पार्टियों को खत्म करने की बात कर रहे हैं. इसपर लोगों को विचार करना चाहिए.