असम में सितरंग तूफान से एक हजार से अधिक लोग प्रभावित, सैकड़ों घर हुए क्षतिग्रस्त

असम (Assam) राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (State Disaster Management Authority) के मुताबिक तूफान से 1146 लोग प्रभावित हुए हैं. अधिकारियों के अनुसार, सितरंग ने 325.501 हेक्टेयर फसल को नुकसान पहुंचाया है.

असम में सितरंग तूफान से एक हजार से अधिक लोग प्रभावित, सैकड़ों घर हुए क्षतिग्रस्त

असम में सितरंग तूफान से एक हजार से अधिक लोग प्रभावित हुए हैं.

गुवाहाटी:

असम (Assam) में चक्रवाती तूफान 'सितरंग' (Sitrang) की वजह से आई बाढ़ से 83 गांवों के करीब 1100 लोग प्रभावित हुए हैं. चक्रवात सितरंग के कारण असम में भारी बारिश (Heavy rain) और तूफान आया जिसमें सैकड़ों घर क्षतिग्रस्त हो गए हैं. असम राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के मुताबिक तूफान से 1146 लोग प्रभावित हुए हैं. अधिकारियों के अनुसार, सितरंग ने 325.501 हेक्टेयर फसल को नुकसान पहुंचाया है. सोमवार रात आए चक्रवाती तूफान के कारण राज्य के नगांव जिले के विभिन्न हिस्सों में कई पेड़ और बिजली के खंभे उखड़ गए. रिपोर्टों के अनुसार, तूफान के कारण मध्य असम जिले के कलियाबोर, बामुनि, सकमुथिया चाय बागान और बोरलीगांव क्षेत्रों में कई घर क्षतिग्रस्त हो गए हैं. क्षेत्र में अभी तक तूफान से किसी के हताहत होने की खबर नहीं है.

गांव के मुखिया ने कहा, "हमारे कलियाबोर क्षेत्र में तूफान से कई घर क्षतिग्रस्त हो गए और कई पेड़ उखड़ गए हैं. एक सरकारी ग्राम प्रधान के रूप में मैंने पूरे गांव का दौरा किया है और मैं अपने सर्कल अधिकारी को नुकसान की रिपोर्ट सौंपूंगा." इस बीच, चक्रवात 'सितरंग' अलर्ट के बीच पश्चिम बंगाल में दक्षिण 24 परगना में बक्खाली समुद्र तट के तट पर ज्वार आ गया है. नागरिक सुरक्षा पर्यटकों और स्थानीय लोगों को समुद्र के पास उद्यम न करने की चेतावनी दे रही है.

विशेष रूप से, भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने मंगलवार को सूचित किया कि चक्रवाती तूफान "सितरंग" के अवशेष, जिसने बांग्लादेश के ऊपर एक गहरा दबाव बनाया है, उत्तर-पूर्व बांग्लादेश, अगरतला के उत्तर-उत्तर-पूर्व और शिलांग के दक्षिण-दक्षिण-पश्चिम में एक अवसाद में कमजोर हो गया है. 

इससे पहले सोमवार को असम, मेघालय, मिजोरम और त्रिपुरा के लिए चक्रवात सितारंग के प्रभाव में भारी से बहुत भारी और अत्यधिक भारी वर्षा का संकेत देने वाला रेड अलर्ट जारी किया गया था.भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने सोमवार को कहा कि सोमवार और मंगलवार को त्रिपुरा में छिटपुट स्थानों पर गरज, बिजली, और भारी से बहुत भारी और अत्यधिक भारी बारिश के साथ व्यापक वर्षा होने की संभावना है.

 ये भी पढ़ें :

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

ब्रिटेन के अगले PM होंगे ऋषि सुनक, कहा- मेरे जीवन का सबसे बड़ा सौभाग्‍य