विज्ञापन
Story ProgressBack
This Article is From May 15, 2022

मानिक साहा ने त्रिपुरा के CM पद की ली शपथ, 6 साल पहले कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में हुए थे शामिल

राज्य के 11वें सीएम के रूप में शपथ ले रहे 69 साल के मानिक साहा का नाम सीएम पद के दावेदार के लिए बिपलव कुमार देव के इस्तीफा देने के कुछ ही घंटों बाद सामने आया.

Read Time: 3 mins
मानिक साहा ने त्रिपुरा के CM पद की ली शपथ, 6 साल पहले कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में हुए थे शामिल
मानिक साहा ने त्रिपुरा के CM पद की ली शपथ
अगरतला (त्रिपुरा):

बीजेपी (BJP) नेता बिपलव कुमार देव (Biplav Kumar Deo) के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देने के बाद आज त्रिपुरा बीजेपी के प्रमुख मानिक साहा (Manik Saha) मुख्यमंत्री पद की शपथ ली. रविवार को अगरतला स्थित राजभवन में मानिक ने राज्य का जिम्मा बतौर सीएम संभाला. राज्य के नए मुख्यमंत्री के तौर पर चुने गए मानिक बीजेपी के राज्यसभा सांसद हैं. साथ ही त्रिपुरा बीजेपी के प्रमुख भी हैं, जहां अगले साल मार्च महीने विधानसभा चुनाव होना है.

बता दें कि ये कोई पहली घटना नहीं है, इससे पहले उत्तराखंड में भी बीजेपी के साथ ऐसा हो चुका है. विधानसभा चुनाव से ठीक कुछ महीने पहले सीएम ने इस्तीफा दे दिया था. ऐसे में उत्तरपूर्वी राज्य जहां अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव में तृणमूल कांग्रेस कड़ी टक्कर देने को तैयार है, डेंटल सर्जरी के प्रोफेसर मानिक से पार्टी को बहुत उम्मीद है. पार्टी ने उन्हें मुख्यमंत्री पद का जिम्मा सौंपा ताकि वे पार्टी को मजबूती प्रदान करें, जिससे आने वाले चुनाव में बीजेपी की जीत हो.

इस्तीफा के कुछ ही घंटों बाद सामने आया नाम

राज्य के 11वें सीएम के रूप में शपथ लेने वाले 69 साल के मानिक साहा का नाम सीएम पद के दावेदार के लिए बिपलव कुमार देव के इस्तीफा देने के कुछ ही घंटों बाद सामने आया था. नाम के सामने आने के बाद विधायक मंडल की बैठक हुई, जिसमें सभी ने इस फैसले पर सहमति जताई. इधर, अचानक हुए इस सियासी उथल-पुथल ने लोगों को चौंका दिया है. 

साल 2016 में ज्वॉइन की है बीजेपी

बता दें कि कांग्रेस का दामन छोड़कर मानिक ने साल 2016 में बीजेपी ज्वॉइन की है. साल 2020 में उन्हें पार्टी प्रमुख बनाया गया था. वहीं, इसी साल मार्च महीने उन्हें राज्यसभा भेजा गया था. बहरहाल, अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव के पहले मुख्यमंत्री देव ने आनन फानन में इस्तीफा दे दिया है. राज्यपाल सत्यदेव नारायण आर्य को अपना इस्तीफा सौंपने के बाद उन्होंने कहा कि पूरे दिल से राज्य की जनता की उन्होंने सेवा की है.

गौरतलब है कि देव ने राज्य में बीजेपी के पहले मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ ली थी. सीपीआई का गढ़ माने जाने वाले त्रिपुरा में साल 2018 में बीजेपी की जीत में उनका महत्वपूर्ण योगदान माना जाता है.

यह भी पढ़ें -

बीजेपी ने मानिक साहा को त्रिपुरा का मुख्यमंत्री बनाया, विधायक ने विरोध में तोड़ी कुर्सी, हंगामा

राजस्थान में भीषण गर्मी से जनजीवन बेहाल, धौलपुर में पारा 48.5 डिग्री सेल्सियस

Video: मुंडका आग: 2 भाइयों ने खो दी अपनी 3 बेटियां

NDTV.in पर ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें, व देश के कोने-कोने से और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
सरकार के खिलाफ क्‍या है प्‍लान, पहली बार संसद में चुनकर आए चंद्रशेखर आजाद ने जानें क्‍या कहा
मानिक साहा ने त्रिपुरा के CM पद की ली शपथ, 6 साल पहले कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में हुए थे शामिल
तब फूट-फूटकर रोए थे चंद्रबाबू नायडू...खाई थी कसम, जानें क्या हुआ था ऐसा और कैसे पूरी की प्रतिज्ञा
Next Article
तब फूट-फूटकर रोए थे चंद्रबाबू नायडू...खाई थी कसम, जानें क्या हुआ था ऐसा और कैसे पूरी की प्रतिज्ञा
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
;