MP : छात्रों की मदद के लिए सांसद वरुण गांधी आए आगे, आगर-मालवा के बच्चों के लिए भिजवाई साइकिलें

एक छात्र शराफत ने कहा कि वरुण गांधी ने हमें साइकिल दी है. अब हमें पैदल नहीं चलना पड़ेगा.

भोपाल:

कुछ दिनों पहले एनडीटीवी ने एक खबर दिखाई थी कि कैसे मध्यप्रदेश के सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले साढ़े पांच लाख बच्चे असमंजस में हैं. स्कूल खुले महीनों हो गये, लेकिन उन्हें सरकारी साइकिल नहीं मिली है. कुछ जिलों में सरकार पायलट के तहत साइकिल खरीदने वाउचर देने वाली थी, तो कुछ जिलों में प्रशासन रेट के फेर में अटका है. खबर को देखने के बाद सरकार ने अबतक कुछ नहीं किया, लेकिन बीजेपी सांसद वरुण गांधी ने आगर-मालवा के बच्चों को साइकिल उपहार में दी है.  

इसके बाद यहां पढ़ने वाले छात्र शराफर, फरदीन, संदीप जैसे कई छात्रों का सफर अब थोड़ा सुहाना और कम हो गया है. छात्रों को 15-20 किलोमीटर पैदल नहीं चलना पड़ेगा. अब ये छात्र साइकिल से स्कूल आ सकते हैं. एक छात्र शराफत ने कहा कि हम एनडीटीवी को शुक्रिया करना चाहते हैं, क्योंकि सबसे पहले उन्होंने हमारी समस्या को दिखाया. वरुण गांधी ने हमें साइकिल दी है. अब हमें पैदल नहीं चलना पड़ेगा.

छात्र शराफत के पिता कहते हैं कि हमारे बच्चे जो गांव पैदल आते थे, जिन्हें स्कूल आने में बहुत कठिनाइयां होती थीं. साइकिल से आएंगे तो उन्हें अब सुविधा होगी. बता दें कि एनडीटीवी पर खबर देखकर सांसद वरूण गांधी ने इन बच्चों के लिए साइकिल भिजवाई है. समाजसेवी बसंत गुप्ता कहते हैं कि वरुण गांधी ने जो बच्चों के लिए साइकिल वितरण कराया है, यह देश में अपनेआप में एक संवेदनशीलता का उदाहरण है. 

वैसे 25 बच्चों को साइकिलें भले ही मिल गईं , मगर मध्यप्रदेश के हजारों बच्चों की उम्मीदे अभी भी पूरी नहीं हुई हैं. हालांकि, वरुण गांधी के इस पहल ने कुछ बच्चों के चेहरे पर मुस्कान जरूर दी है. 

ये भी पढ़ें-

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

8 यूट्यूब चैनल किए गए ब्लॉक, भारत की सुरक्षा पर असर डालने वाली सामग्री पोस्ट करने का आरोप
NDTV की खबर का असर : कारम डैम से जुड़ी दो कंपनियों को सरकार ने किया ब्लैकलिस्ट
रेप की FIR दर्ज करने के HC के आदेश के खिलाफ SC पहुंचे शाहनवाज़ हुसैन, सुप्रीम कोर्ट का जल्द सुनवाई से इंकार