प्रमुख बुनियादी उद्योगों की वृद्धि दर अक्टूबर महीने में 12.1 प्रतिशत

बुनियादी उद्योगों में वृद्धि का प्रमुख कारण कमजोर तुलनात्मक आधार और चार क्षेत्रों...कोयला, इस्पात, सीमेंट और बिजली में दहाई अंक में वृद्धि है. बुनियादी उद्योग की वृद्धि दर सितंबर महीने में 9.2 प्रतिशत रही थी. आंकड़ों के अनुसार, चालू वित्त वर्ष में अप्रैल से अक्टूबर के दौरान आठ बुनियादी उद्योगों की उत्पादन वृद्धि 8.6 प्रतिशत रही, जो पिछले साल समान माह में 8.4 प्रतिशत थी.

प्रमुख बुनियादी उद्योगों की वृद्धि दर अक्टूबर महीने में 12.1 प्रतिशत

नई दिल्ली: कोयला, इस्पात, सीमेंट और बिजली क्षेत्र के बेहतर प्रदर्शन से आठ प्रमुख बुनियादी उद्योगों का उत्पादन इस साल अक्टूबर में 12.1 प्रतिशत बढ़ा. पिछले साल इसी महीने में इसमें 0.7 प्रतिशत की वृद्धि हुई थी. बृहस्पतिवार को जारी आधिकारिक आंकड़ों में यह जानकारी दी गई. ये आंकड़े इसलिए भी महत्वपूर्ण हैं क्योंकि आठ प्रमुख क्षेत्रों- कोयला, कच्चा तेल, प्राकृतिक गैस, रिफाइनरी उत्पाद, उर्वरक, इस्पात, सीमेंट और बिजली - का औद्योगिक उत्पादन सूचकांक (आईआईपी) में 40.27 प्रतिशत का योगदान है.

बुनियादी उद्योगों में वृद्धि का प्रमुख कारण कमजोर तुलनात्मक आधार और चार क्षेत्रों...कोयला, इस्पात, सीमेंट और बिजली में दहाई अंक में वृद्धि है. बुनियादी उद्योग की वृद्धि दर सितंबर महीने में 9.2 प्रतिशत रही थी. आंकड़ों के अनुसार, चालू वित्त वर्ष में अप्रैल से अक्टूबर के दौरान आठ बुनियादी उद्योगों की उत्पादन वृद्धि 8.6 प्रतिशत रही, जो पिछले साल समान माह में 8.4 प्रतिशत थी.

समीक्षाधीन महीने के दौरान कोयला उत्पादन में 18.4 प्रतिशत तो इस्पात उत्पादन में 11 प्रतिशत वृद्धि हुई, जबकि अक्टूबर 2022 में यह क्रमशः 3.8 प्रतिशत और 5.8 प्रतिशत रही थी. सीमेंट उत्पादन में अक्टूबर महीने में 17.1 प्रतिशत की वृद्धि हुई जबकि एक साल पहले इसी माह में इसमें 4.2 प्रतिशत की गिरावट आई थी. बिजली उत्पादन में आलोच्य महीने में 20.3 प्रतिशत की वृद्धि हुई जबकि पिछले साल इसी महीने इसमें 1.2 प्रतिशत की गिरावट आई थी.

इस साल अक्टूबर में कच्चे तेल का उत्पादन 1.3 प्रतिशत और प्राकृतिक गैस का उत्पादन 9.9 प्रतिशत बढ़ा, जबकि अक्टूबर, 2022 में इनमें क्रमशः 2.2 प्रतिशत और 4.2 प्रतिशत की गिरावट आई थी. इस साल अक्टूबर में रिफाइनरी उत्पादों का उत्पादन 4.2 प्रतिशत रहा, जबकि अक्टूबर 2022 में इसमें 3.1 प्रतिशत की गिरावट आई थी. हालांकि, इस साल अक्टूबर में उर्वरक उत्पादन में वृद्धि 5.3 प्रतिशत रही, जबकि अक्टूबर 2022 में यह 5.4 प्रतिशत थी.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

ये भी पढ़ें:- 
"ऐतिहासिक उपलब्धि": मणिपुर के उग्रवादी समूह के साथ सरकार के शांति समझौते पर अमित शाह



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)