इंडियन एक्सप्रेस 'मोस्ट पॉवरफुल इंडियन्स' लिस्ट के टॉप 10 में गौतम अदाणी

अंग्रेज़ी दैनिक 'इंडियन एक्सप्रेस' की देश के 100 सबसे शक्तिशाली व्यक्तियों की सूची (IE100) में शीर्ष स्थान पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हैं, और शीर्ष 10 में CJI डी.वाई. चंद्रचूड़ तथा अरबपति उद्योगपति गौतम अदाणी ही दो नाम हैं, जो राजनेता नहीं हैं.

इंडियन एक्सप्रेस 'मोस्ट पॉवरफुल इंडियन्स' लिस्ट के टॉप 10 में गौतम अदाणी

अंग्रेज़ी दैनिक 'इंडियन एक्सप्रेस' की 100 सबसे शक्तिशाली भारतीयों की सूची के शीर्ष 10 में गौतम अदाणी एकमात्र उद्योगपति हैं...

नई दिल्ली:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) केंद्र की सत्ता में शीर्ष पद पर दो कार्यकाल लगभग पूरे कर चुके हैं, तीसरे कार्यकाल के लिए कुछ ही हफ़्ते में चुनाव का सामना करने जा रहे हैं, और आज भी वही देश के सबसे शक्तिशाली व्यक्ति (The Most Powerful Indians) हैं. PM की मौजूदा लोकप्रियता को देखते हुए अंग्रेज़ी दैनिक 'इंडियन एक्सप्रेस' द्वारा जारी की गई देश के 100 सबसे शक्तिशाली व्यक्तियों की सूची (IE100) में शीर्ष स्थान पर उनका काबिज़ होना बेहद स्वाभाविक लगता है. उनके बाद शीर्ष 10 में मौजूद शख्सियतों में भी अधिकतर भारतीय जनता पार्टी (BJP) और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) के ही नेता हैं, बस, देश के प्रधान न्यायाधीश (CJI) डी.वाई. चंद्रचूड़ (DY Chandrachud) तथा अरबपति उद्योगपति गौतम अदाणी (Gautam Adani) ही दो नाम हैं, जो राजनेता नहीं हैं.

'Indian Express' ने अपनी सूची में अव्वल पायदान पर 73-वर्षीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के होने की वजह के तौर पर उनकी अभूतपूर्व लोकप्रियता का हवाला दिया है. समाचारपत्र के अनुसार, कोई भी प्रधानमंत्री दो कार्यकाल के बाद लोकप्रियता के ऐसे शिखर पर नहीं रहा है, और उनके दो कार्यकाल के बावजूद उनका कद भी बढ़ा है, और वह पहले से कहीं ज़्यादा मज़बूत नज़र आ रहे हैं.

दूसरे स्थान पर शाह, तीसरे पर भागवत

सूची में PM के बाद केंद्रीय गृहमंत्री 59-वर्षीय अमित शाह का नाम दर्ज है, और लिखा गया है कि वह भले ही BJP प्रमुख नहीं हैं, लेकिन पार्टी के मुख्य रणनीतिकार वही हैं. तीसरे पायदान पर मौजूद हैं RSS के सरसंघचालक, यानी प्रमुख 73-वर्षीय मोहन भागवत. सूची में चौथे स्थान पर मौजूद हैं भारत के प्रधान न्यायाधीश 64-वर्षीय डी.वाई. चंद्रचूड़, जिन्हें बेहद अहम और जटिल वक्त में न्यायिक व्यवस्था और कॉलेजियम में बदलाव के लिए श्रेय दिया गया है.

पांचवें पायदान पर जयशंकर, छठे पर योगी

पांचवें पायदान पर केंद्रीय विदेशमंत्री 69-वर्षीय सुब्रह्मण्यम जयशंकर का नाम है, जिन्हें वैश्विक मंच पर भारत की सबसे सटीक और सधी हुई आवाज़ के तौर पर दर्ज करते हुए विचारक-राजनयिक-राजनेता करार दिया गया है. सूची में छठा स्थान हासिल किया है उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री 51-वर्षीय योगी आदित्यनाथ ने, जिन्हें आबादी के लिहाज़ से सबसे बड़े और सबसे ज़्यादा लोकसभा सीटों वाले सूबे की सरकार के मुखिया के तौर पर चुनावी साल में बेहद अहम किरदार बताया गया है. यही नहीं, उनकी छठे स्थान पर मौजूदगी की वजह के तौर पर उनके 'बुलडोज़र इंसाफ़' का भी ज़िक्र किया गया है, जिसे कई गैर-BJP मुख्यमंत्रियों ने भी अपनाया.

सातवां स्थान राजनाथ को, आठवें पर निर्मला

सातवें पायदान पर केंद्रीय रक्षामंत्री 72-वर्षीय राजनाथ सिंह का नाम दर्ज किया गया है, और उन्हें प्रधानमंत्री का वरिष्ठतम सहयोगी बताते हुए उनके व्यापक प्रशासनिक तथा राजनैतिक अनुभव का ज़िक्र किया गया है. देश के सबसे शक्तिशाली व्यक्तियों की सूची में आठवें स्थान पर देश की वित्तमंत्री 64-वर्षीय निर्मला सीतारमण मौजूद हैं, जिन्हें चुनावी साल में राजकोषीय विवेक का भरपूर इस्तेमाल करने का श्रेय दिया गया है. निर्मला सीतारमण देश की पहली पूर्णकालिक तथा सबसे लम्बे समय तक वित्तमंत्री रहने वाली महिला भी हैं.

नवें पायदान पर काबिज हैं जेपी नड्डा

समय और माहौल के साथ स्वर बदल सकने में सक्षम शख्स के तौर पर ज़िक्र करते हुए 'Indian Express' ने अपनी सूची में नवें पायदान पर BJP प्रमुख 63-वर्षीय जगत प्रकाश नड्डा का नाम दर्ज किया है, जिनकी विशेषता प्रधानमंत्री और गृहमंत्री के विश्वस्त सहयोगी होने के साथ-साथ पार्टी के निचले स्तर के कार्यकर्ताओं के बीच भी लोकप्रियता हासिल करना रहा है.

शीर्ष 10 में एकमात्र उद्योगपति हैं गौतम अदाणी

अंग्रेज़ी दैनिक की इस सूची में शीर्ष 10 में एकमात्र उद्योगपति 61-वर्षीय गौतम अदाणी हैं, जो 101 अरब अमेरिकी डॉलर (लगभग ₹8,37,600 करोड़) की अपनी नेटवर्थ के साथ देश के दूसरे सबसे रईस शख्स हैं. समाचारपत्र का कहना है कि गौतम अदाणी के नेतृत्व में अदाणी समूह ने सीमेंट, ऊर्जा, एयरपोर्ट, हरित ऊर्जा और बंदरगाहों जैसे बुनियादी ढांचे से जुड़े क्षेत्रों में बेहद तेज़ी से तरक्की की है.

हिमंता हैं राहुल गांधी से ज़्यादा शक्तिशाली

गौरतलब है कि शीर्ष 100 शक्तिशाली व्यक्तियों की इस सूची में असम के मुख्यमंत्री हिमंता बिस्वा सरमा (14) तथा पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (15) भी कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (16) से ऊपर मौजूद हैं. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (18) के अलावा कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्धरामैया (22), बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (24), तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एम.के. स्टालिन (25) के नाम भी कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी (29) से ऊपर दर्ज हैं. सूची से जुड़ा एक दिलचस्प तथ्य यह है कि बॉलीवुड के 'किंग ख़ान' कहे जाने वाले शाहरुख ख़ान (27) का नाम भी क्रिकेट जगत के मौजूदा सुपरस्टार विराट कोहली (38) से ऊपर दर्ज किया गया है.



Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

(Disclaimer: New Delhi Television is a subsidiary of AMG Media Networks Limited, an Adani Group Company.)