राष्ट्रपति चुनाव में यशवंत सिन्हा की जीत के लिए हरसंभव प्रयास करना हमारा कर्तव्य : शरद पवार

पवार ने कहा, ‘‘जब हम चुनाव लड़ते हैं, तो हम जीतने के लिए लड़ते हैं. जब दो उम्मीदवार हों, तो दोनों जीत नहीं सकते. प्रत्येक उम्मीदवार के लिए स्थिति अलग है. यह मुकाबला सिद्धांतों के बारे में है.’’

राष्ट्रपति चुनाव में यशवंत सिन्हा की जीत के लिए हरसंभव प्रयास करना हमारा कर्तव्य : शरद पवार

नई दिल्ली:

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) प्रमुख शरद पवार ने कहा है कि राष्ट्रपति चुनाव में विपक्षी दलों को अपने साझा उम्मीदवार यशवंत सिन्हा की जीत सुनिश्चित करने के लिए हर संभव प्रयास करने होंगे. पवार ने कहा कि यदि कोई राष्ट्रपति चुनाव के अंकगणित पर नजर डाले तो स्थिति उतनी खराब नहीं है, जितनी बताई जा रही है और विपक्षी दलों को अच्छी लड़ाई लड़ने के लिए ठोस प्रयास करने होंगे.

राकांपा प्रमुख की टिप्पणी ऐसे समय में आई है जब वाईएसआर कांग्रेस पार्टी और बहुजन समाज पार्टी (बसपा) जैसे कुछ विपक्षी दलों ने पहले ही 18 जुलाई के चुनाव में भाजपा के नेतृत्व वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) की उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू को समर्थन देने की घोषणा कर दी है.

वहीं झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो) का झुकाव संथाल समुदाय से ओडिशा की एक आदिवासी नेता मुर्मू की ओर हो रहा है. झामुमो उस विपक्षी समूह का हिस्सा है, जिसने सिन्हा को राष्ट्रपति पद के लिए अपने साझा उम्मीदवार के रूप में चुना था.

पवार ने कहा, ‘‘जब हम चुनाव लड़ते हैं, तो हम जीतने के लिए लड़ते हैं. जब दो उम्मीदवार हों, तो दोनों जीत नहीं सकते. प्रत्येक उम्मीदवार के लिए स्थिति अलग है. यह मुकाबला सिद्धांतों के बारे में है. हमने यशवंत सिन्हा को अपने साझा उम्मीदवार के रूप में चुना है और उनकी जीत सुनिश्चित करने के लिए हर संभव प्रयास करना हमारी जिम्मेदारी है. परिणाम कुछ भी हो, हम इसके बारे में बाद में बात कर सकते हैं.''

पवार ने मुर्मू को लेकर पूछे गए सवालों पर कहा, ‘‘अगर संख्या हमारे खिलाफ है तो क्या हमें चुनाव नहीं लड़ना चाहिए.''

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


राकांपा प्रमुख ने कहा कि यह राजनीतिक दलों का कर्तव्य है कि वे उन सिद्धांतों के आधार पर चुनाव लड़ें जिनमें वह विश्वास करते हैं. चाहे वह लोकसभा हो या विधानसभा.