MCD में भी चली 'झाड़ू', 15 साल की BJP की सत्ता छीनकर AAP ने पाया बहुमत

MCD Election Results: इस चुनाव में चौंकाने वाली बात ये रही कि भाजपा का वोट पिछले चुनाव के मुकाबले 0.6% बढ़ा लेकिन 77 सीटें कम हो गईं. पार्टी का वोट शेयर इस बार 39.09% रहा, जबकि पिछले चुनाव में उसे 39.03% लोगों ने वोट दिया था. इसी तरह आम आदमी पार्टी के वोट शेयर में पिछले साल के मुकाबले करीब 17% की बढ़ोतरी हुई. आप को इस बार 42.05% वोट मिले

नई दिल्ली:

दिल्ली नगर निगम चुनाव (MCD Election) में आम आदमी पार्टी (AAP) को बहुमत मिला है. पिछले 15 साल से दिल्ली नगर निगम पर भाजपा (BJP) का शासन था, जिसे आम आदमी पार्टी ने छीन लिया है. आम आदमी पार्टी (AAP) ने 134 सीटों पर जीत हासिल की है. दूसरे नंबर पर भाजपा है, जिसने 104 सीटें जीती हैं. कांग्रेस की बात करें तो वह केवल 9 ही सीटें जीत पाई है. तीन सीटों पर निर्दलीय उम्मीदवारों ने जीत हासिल की है. मुस्लिम बहुल इलाकों में कांग्रेस ने अच्‍छा प्रदर्शन किया है. अबुल फजल से कांग्रेस उम्मीदवार अरिबा खान ने जीत हासिल की है. उनके पिता आसिफ खान चुनाव के दौरान पुलिसकर्मियों से बदसलूकी के आरोप में जेल में बंद हैं. कांग्रेस ने जाकिर नगर सीट भी अपने कब्जे में कर ली है. सुल्तानपुरी ए वार्ड से आम आदमी पार्टी की उम्मीदवार बॉबी किन्नर चुनाव जीत गई हैं. बॉबी इन चुनाव में बहुत चर्चा में रहीं.

आम आदमी पार्टी के लिहाज से बात करें तो दिल्ली सरकार के मंत्री सत्येंद्र जैन के विधानसभा क्षेत्र शकूरबस्ती में भाजपा ने तीनों सीटें सरस्वती विहार, पश्चिम विहार और रानी बाग जीत ली हैं. एमसीडी नतीजों पर प्रतिक्रिया देते हुए दिल्ली के उप-मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने ट्वीट किया, "दिल्ली MCD में आम आदमी पार्टी पर भरोसा करने के लिए दिल्ली की जनता का दिल से आभार… दुनिया की सबसे बड़ी और सबसे नेगेटिव पार्टी को हराकर दिल्ली की जनता ने कट्टर ईमानदार और काम करने वाले अरविंद केजरीवाल को जिताया है. हमारे लिए ये सिर्फ़ जीत नहीं बड़ी ज़िम्मेदारी है."

केजरीवाल बोले- पीएम मोदी का आर्शीवाद चाहिए
MCD में आप की जीत पर CM अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली की जनता को बधाई दी. पार्टी ऑफिस में कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा- दिल्ली की जनता ने अपने बेटे और भाई को दिल्ली की सफाई और भ्रष्टाचार खत्म करने की जिम्मेदारी दी है. हमें केंद्र सरकार का भी सहयोग चाहिए. प्रधानमंत्री जी का भी आशीर्वाद चाहिए.

लोग नफरत की राजनीति को पसंद नहीं करते-मान
पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान ने कहा कि आम आदमी पार्टी ने पहले दिल्ली से कांग्रेस की 15 साल की सत्ता को उखाड़ा था, अब एमसीडी से भाजपा की 15 साल की सत्ता को उखाड़ दिया. इसका मतलब है कि लोग नफरत की राजनीति को पसंद नहीं करते हैं. लोग बिजली, सफाई, इंफ्रास्ट्रक्चर को वोट देते हैं. अधिकांश चुनाव पूर्व सर्वेक्षणों और एक्जिट पोल में में भाजपा पर ‘आप' की बड़ी जीत और कांग्रेस के तीसरे स्थान पर रहने का पूर्वानुमान जताया गया था. हालांकि, बीजेपी इन चुनावों में आप को कड़ी टक्‍कर देती नजर आई. 

भाजपा सकारात्मक रूप से जनता की समस्याएं उठाती रहेगी-आदेश गुप्ता
एमसीडी रिजल्ट के बाद दिल्ली भाजपा के अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने कहा है कि दिल्ली की जनता ने हमे लगभग 40 मत प्रतिशत के साथ 104 वार्डों में विजयी बना कर एक सशक्त विपक्ष का दायित्व सौंपा है. हम एक सकारत्मक रूप से जनता की समस्याओं को उठाते रहेंगे. आदेश गुप्ता ने कहा है कि हम उम्मीद करते हैं की वह अगले 6 माह में दिल्ली की तीनों लैंडफिल साइट की सफाई करने का अपना वायदा तो निभायेंगे ही साथ ही आर.डब्लू.ए. सहित समाज के विभिन्न वर्गों से किये वादे भी अविलंब पूरे करेंगे.

भाजपा के 10 कैंडिडेट की जमानत जब्त
MCD चुनाव में इस बार कांग्रेस का प्रदर्शन पिछले चुनाव की तुलना में बेहद खराब रहा. पार्टी के इस बार 9 प्रत्याशी ही जीत दर्ज कर पाए, जबकि 188 कैंडिडेट्स अपनी जमानत भी नहीं बचा पाएं. इसी तरह भाजपा के 10 और आम आदमी पार्टी के 3 उम्मीदवार इस बार अपनी जमानत नहीं बचा पाएं. 370 निर्दलीय उम्मीदवारों की जमानत जब्त हुई है. इसी तरह बहुजन समाज पार्टी के 128, NCP के 25, ओवैसी की पार्टी AIMIM के 13 उम्मीदवार अपनी जमानत नहीं बचा पाए.

आप को इस बार 42.05% वोट मिले
इस चुनाव में चौंकाने वाली बात ये रही कि भाजपा का वोट पिछले चुनाव के मुकाबले 0.6% बढ़ा लेकिन 77 सीटें कम हो गईं. पार्टी का वोट शेयर इस बार 39.09% रहा, जबकि पिछले चुनाव में उसे 39.03% लोगों ने वोट दिया था. इसी तरह आम आदमी पार्टी के वोट शेयर में पिछले साल के मुकाबले करीब 17% की बढ़ोतरी हुई. आप को इस बार 42.05% वोट मिले, जबकि पिछले चुनाव में उसे 25.08% मतदाताओं ने वोट दिया था. वहीं, कांग्रेस को पिछली बार 21.02% वोट मिले थे, जो इस बार घटकर 11.68% पर पहुंच गया.


मेयर सीट को लेकर बीजेपी का बड़ा दावा
इस बीच बीजेपी नेताओं की ओर से मेयर सीट को लेकर बड़ा दावा किया गया. बीजेपी नेता अमित मालवीय ने चंडीगढ़ का जिक्र करते हुए कहा, 'अब दिल्ली का मेयर चुनने की बारी है. ये सब अब मेयर चुनाव में पार्षदों के मतदान पर निर्भर करेगा. उदाहरण के लिए बता दूं, चंडीगढ़ में बीजेपी का मेयर है.' बीजेपी नेता तेजिंदर पाल बग्गा ने कहा, 'दिल्ली में फिर एक बार बीजेपी का मेयर बनेगा.' बीजेपी के इस दावे को आप नेता और दिल्ली के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने चुनौती देते हुए कहा कि हम चुनौती देते हैं, दिल्ली में बीजेपी अपना मेयर बनाकर दिखाए. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

यह भी पढ़ें -
-- दिल्ली नगर निगम चुनाव : किस वॉर्ड में कौन आगे, कौन पीछे, किसे मिलेगी गद्दी - देखें पूरी लिस्ट

-- MCD के रुझानों और नतीजों के बीच जीत के जश्न के लिए गुब्बारों से सज रहा AAP का दफ्तर