'भारत जोड़ो यात्रा' में शामिल होना ऊर्जा, प्रतिबद्धता और प्रेम प्रेरित करने वाला था: स्वरा भास्कर

इससे पहले भी सिनेमा जगत की कई हस्तियां यात्रा में शामिल हो चुकी हैं. हॉलीवुड अभिनेता जॉन कुसैक ने भी ट्विटर पर इस पदयात्रा का समर्थन किया है.

'भारत जोड़ो यात्रा' में शामिल होना ऊर्जा, प्रतिबद्धता और प्रेम प्रेरित करने वाला था: स्वरा भास्कर

स्वरा भास्कर ने लोगों से इस यात्रा में शामिल होने की अपील की है.

उज्जैन (मप्र):

अभिनेत्री स्वरा भास्कर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के साथ मध्य प्रदेश के उज्जैन में गुरुवार को ‘भारत जोड़ो यात्रा' में शामिल हुईं और लोगों को आह्वान किया कि वे इस अभियान से जुड़ें. कांग्रेस के ट्विटर हैंडल से राहुल के साथ भास्कर की तस्वीर साझा की गई. ट्वीट में लिखा है, ‘‘आज मशहूर अभिनेत्री स्वरा भास्कर ‘भारत जोड़ो यात्रा' का हिस्सा बनीं. समाज के हर वर्ग की उपस्थिति ने इस यात्रा को सफल बनाया है.''

स्वरा विभिन्न समसामयिक मुद्दों पर अपने विचार मुखरता से रखने के लिए जानी जाती हैं. अभिनेत्री ने भी कांग्रेस पार्टी के ट्वीट को ‘रीट्वीट' किया.

स्वरा ने राहुल गांधी के साथ यात्रा की तस्वीरें साझा करते हुए ट्वीट किया, ‘‘आज मैं ‘भारत जोड़ो यात्रा' में शामिल हुई और राहुल गांधी के साथ पदयात्रा की. ऊर्जा, प्रतिबद्धता और प्रेम प्रेरित करने वाला था. गर्मजोशी भरे आम लोगों और उत्साह से भरे कांग्रेस कार्यकर्ताओं का इसमें शामिल होना तथा राहुल गांधी का सभी के प्रति ध्यान देना और अपनेपन का भाव रखना काफी प्रभावशाली पहलू है.'' उन्होंने लोगों से इस यात्रा में शामिल होने की अपील की.

इससे पहले, अमोल पालेकर, संध्या गोखले, पूजा भट्ट, रिया सेन, सुशांत सिंह, मोना अम्बेगांवकर, रश्मि देसाई और आकांक्षा पुरी जैसी टेलीविजन और सिनेमा जगत की कई हस्तियां यात्रा में शामिल हो चुकी हैं. हॉलीवुड अभिनेता जॉन कुसैक ने भी ट्विटर पर इस पदयात्रा का समर्थन किया है.

इस बीच, भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने स्वरा भास्कर के यात्रा में शामिल होने पर कड़ी प्रतिक्रिया देते हुए उन्हें ‘‘राष्ट्र विरोधी मानसिकता'' वाली व्यक्ति बताया.

मध्य प्रदेश के गृह मंत्री और भाजपा नेता नरोत्तम मिश्रा ने भास्कर की भागीदारी को लेकर यात्रा पर जमकर निशाना साधा. उन्होंने कहा, ‘‘भारत जोड़ो यात्रा में स्वरा भास्कर और टुकड़े-टुकड़े गैंग से ताल्लुक रखने वाले कन्हैया कुमार जैसे राष्ट्र विरोधी मानसिकता वाले लोगों की भागीदारी ने साबित कर दिया है कि यह यात्रा उन लोगों के समर्थन में निकाली जा रही है, जो देश को तोड़ना चाहते हैं.''

सात सितंबर को तमिलनाडु के कन्याकुमारी से कांग्रेस का यह व्यापक जनसंपर्क कार्यक्रम शुरू हुआ था. राहुल गांधी के नेतृत्व में ‘भारत जोड़ो यात्रा' एक दिन के विश्राम के बाद गुरुवार सुबह उज्जैन से फिर से शुरू हुई और मध्य प्रदेश के आखिरी जिले आगर मालवा पहुंची.

उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह, पूर्व सांसद प्रेमचंद गुड्डू, अखिल भारतीय महिला कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष शोभा ओझा भी राहुल गांधी के साथ यात्रा में शामिल नजर आए. उज्जैन के बाहरी इलाके में स्थित आरडी गार्डी मेडिकल कॉलेज से यात्रा सुबह करीब छह बजे शुरू हुई थी.

राहुल की अगुवाई वाली यात्रा महाराष्ट्र से गुजरने के बाद ‘‘दक्षिण का द्वार'' कहे जाने वाले बुरहानपुर जिले के बोदरली गांव से मध्य प्रदेश में 23 नवंबर को दाखिल हुई थी. यह यात्रा चार दिसंबर को राजस्थान में दाखिल होने से पहले, 12 दिन के भीतर पश्चिमी मध्य प्रदेश के मालवा-निमाड़ अंचल में 380 किलोमीटर का फासला तय करेगी. मध्य प्रदेश में यात्रा अब तक बुरहानपुर, खंडवा, खरगोन और इंदौर जिलों से होकर गुजरी है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

भाजपा शासित मध्य प्रदेश में अगले साल विधानसभा चुनाव होने हैं. यात्रा के दौरान राहुल गांधी ने उज्जैन में मंगलवार को देश के 12 ज्योतिर्लिंगों में से एक प्रसिद्ध भगवान महाकाल मंदिर के दर्शन किए. इससे पहले, उन्होंने खंडवा जिले में एक अन्य ज्योतिर्लिंग ओंकारेश्वर मंदिर में पूजा-अर्चना की थी.

Featured Video Of The Day

फिर से बढ़ सकती है लोन की ईएमआई, RBI ने छठी बार रेपो रेट में किया इजाफा