Atiq Murder: UP में धारा 144 लागू, प्रयागराज में अगले 2 दिनों तक इंटरनेट बंद

अतीक अहमद (Atiq Ahmed) और उसके भाई अशरफ अहमद (Ashraf Ahmad) की हत्या शनिवार रात हुई. आज दोनों का पोस्टमार्टम किया गया और और शाम में दोनों को सुपुर्द-ए-खाक कर दिया गया.

प्रयागराज:

माफिया अतीक अहमद(Atiq Ahmed) और उसका भाई अशरफ (Ashraf) के शव को पोस्टमार्टम (Postmortem) के बाद आज ही सुपुर्द-ए-खाक किया गया. दोनों के शवों को स्वरूप रानी अस्पताल लाया गया. जहां 5 डॉक्टरों के पैनल ने उसका पोस्टमार्टम किया. इधर सरकार कानून और व्यवस्था को लेकर लगातार सतर्कता बरत रही है. प्रयागराज में शनिवार रात से ही इंटरनेट सुविधा को स्थगित कर दिया गया है. ताजा आदेश में इसे अगले 2 दिनों के लिए बढ़ा दिया गया है.

प्रयागराज को सुरक्षा के लिहाज से 14 सेक्टरों में बांटा गया है, हर सेक्टर में IPS अधिकारी तैनात हैं. वहीं घटनास्थल से फॉरेंसिक टीम ने सबूत भी जुटा लिए हैं. उत्तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ (UP CM Yogi Adityanath) ने घटना की उच्‍च स्‍तरीय जांच का आदेश देते हुए तीन सदस्यीय जांच आयोग के गठन के निर्देश दिए हैं. अतीक और अशरफ पर फायरिंग की घटना शनिवार को हुई. जो कैमरे में दर्ज हो गई क्योंकि मेडिकल जांच के लिए पुलिस द्वारा दोनों को अस्पताल ले जाते समय मीडियाकर्मी उनके साथ चल रहे थे.

अतीक-अशरफ मर्डर के तीन हमलावरों में से एक हमलावर लवलेश तिवारी को पैर में गोली लगी है. लवलेश स्वरूप रानी अस्पताल में भर्ती है. लवलेश, अरूण मौर्य और रिंकू गुरूवार को प्रयागराज आए थे. ये अतीक और अशरफ़ की हत्या की मंशा के साथ पहुंचे थे. इन्हें लगा कि सबसे नज़दीक मीडियाकर्मी बनकर पहुंचा जा सकता है. इसलिए इन्होंने फ़र्ज़ी माइक आईडी बनाई और नकली कैमरा ख़रीदा. इन्होंने तीन फ़र्ज़ी मीडिया कार्ड भी बनाए. तीनो एक लॉज में रूके थे. लॉज के मैनेजर से पूछताछ चल रही है.

सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने प्रदेश में कानून व्यवस्था की स्थिति पर सवाल उठाया. अखिलेश यादव ने प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए ट्वीट किया, ‘‘उत्तर प्रदेश में अपराध की पराकाष्ठा हो गयी है और अपराधियों के हौसले बुलंद हैं. जब पुलिस के सुरक्षा घेरे के बीच सरेआम गोलीबारी करके किसी की हत्या की जा सकती है तो आम जनता की सुरक्षा का क्या ? इससे जनता के बीच भय का वातावरण बन रहा है. ऐसा लगता है कि कुछ लोग जानबूझकर ऐसा वातावरण बना रहे हैं.''

राष्ट्रीय लोक दल (रालोद) के अध्यक्ष व सांसद जयंत चौधरी ने भी अतीक और उसके भाई की हत्या की सनसनीखेज घटना को लेकर सरकार पर सवाल उठाया. उन्होंने ट्वीट किया '' क्या यह लोकतंत्र में संभव है ?'' उन्होंने हैशटैग जंगलराज लगाया. चौधरी ने एक वीडियो भी साझा किया जिसमें अतीक और अशरफ की हत्या का दृश्य है.

ये भी पढ़ें : बीजेपी सांसद वरुण गांधी ने पिता के खिलाफ अशोभनीय टिप्पणी करने वाले पर मानहानि का केस किया दायर

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

ये भी पढ़ें : "नहीं ले गए तो नहीं गए": गोली मारने से पहले बेटे को दफनाने पर अतीक अहमद के आखिरी शब्द

अन्य खबरें