"ऐसा तो अंग्रेज करते थे": केंद्र के चावल, गेहूं पर जीएसटी लगाने पर बोले अरविंद केजरीवाल

अरविंद केजरीवाल ने हिमाचल प्रदेश के आम आदमी पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि हमने लोगों को कुछ राहत देने की कोशिश की. "हमने दिल्ली में मुफ्त में चिकित्सा, पानी, बिजली उपलब्ध कराई. हम यह सब करने में सक्षम हैं क्योंकि हमने भ्रष्टाचार को समाप्त कर दिया है. हमने कोई कर नहीं बढ़ाया है. मैं केंद्र सरकार से बढ़ा हुआ जीएसटी वापस लेने की अपील करता हूं. यहां आप सरकार बनाएं. हिमाचल प्रदेश में और हम बदले में आपको महंगाई से राहत देंगे."

अरविंद केजरीवाल के निशाने पर बीजेपी

नई दिल्ली:

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सोमवार को केंद्र सरकार से बढ़े हुए जीएसटी को वापस लेने की अपील करते हुए कहा कि लोग महंगाई से राहत चाहते हैं. दिल्ली के मुख्यमंत्री ने कहा कि केंद्र सरकार ने दही, लस्सी, गेहूं, चावल और अन्य खाद्य पदार्थों पर जीएसटी लगाया है, ऐसा तो अंग्रेज किया करते थे." उन्होंने अपने वक्तव्य में कहा, "आजकल लोग महंगाई से परेशान हैं. उन्होंने मतलब कि केंद्र सरकार ने दही, लस्सी, गेहूं, चावल और अन्य खाद्य पदार्थों पर जीएसटी लगाया है. अंग्रेज भी तो यही करते थे.

अरविंद केजरीवाल ने हिमाचल प्रदेश के आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए ये बातें कहीं. उन्होंने  कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि हमने लोगों को कुछ राहत देने की कोशिश की. "हमने दिल्ली में मुफ्त में चिकित्सा, पानी, बिजली उपलब्ध कराई. हम यह सब करने में सक्षम हैं क्योंकि हमने भ्रष्टाचार को समाप्त कर दिया है. हमने कोई कर नहीं बढ़ाया है. मैं केंद्र सरकार से बढ़ा हुआ जीएसटी वापस लेने की अपील करता हूं. यहां आप सरकार बनाएं. हिमाचल प्रदेश में और हम बदले में आपको महंगाई से राहत देंगे."

ये भी पढ़ें: 'पार्थ चटर्जी के पास कोई भी लिस्‍ट और पैसा भेज देता था तो नौकरी मिल जाती थी' : दिलीप घोष

इसके साथ ही उन्होंने कहा, "आप पूरे देश में अपना प्रसार कर रही है और इसलिए कई समस्याएं आएंगी. लेकिन आपको चिंता करने की ज़रूरत नहीं है. हम चाहते हैं कि आप हिमाचल प्रदेश में एक ईमानदार सरकार बनाएं. " इस बीच, इससे पहले दिन में दिल्ली भाजपा नेताओं और कार्यकर्ताओं ने अरविंद केजरीवाल सरकार की आबकारी नीति के कार्यान्वयन में कथित अनियमितताओं को लेकर आप के कार्यालय के पास प्रदर्शन किया. प्रदर्शनकारी कथित तौर पर राष्ट्रीय राजधानी के आईटीओ इलाके में जमा हो गए और उन्होंने मार्च करने की कोशिश की.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


VIDEO: सरकार की 'घर-घर तिरंगा' योजना के तहत करीब 20 करोड़ घरों पर फहराया जाएगा तिरंगा