देखें Video:  क्वॉड समिट में बोले बाइडेन, "पीएम मोदी, आपको देखकर अच्छा लगा"

Quad के चारों देशों के क्षेत्रीय संगठन को चीन की बढ़ती सैन्य और आर्थिक शक्ति के खिलाफ संतुलन कायम करने के एक प्रयास के तौर पर देखा जा रहा है. बैठक में हिन्द प्रशांत महासागर क्षेत्र के साथ कोरोना वायरस की महामारी पर चर्चा हुई.

देखें Video:  क्वॉड समिट में बोले बाइडेन,

Quad Alliance की पहली बैठक ऑनलाइन आयोजित की गई

नई दिल्ली:

अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन (US President Joe Biden) सत्ता संभालने के बाद पहली बार किसी मंच पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi Quad Summit) के आमने-सामने नजर आए. भले ही यह बैठक वर्चुअल तरीके से आयोजित की गई हो, लेकिन दोनों नेताओं के बीच गर्मजोशी देखी गई. बाइडेन ने अपने शुरुआती संबोधन में कहा, प्राइम मिनिस्टर मोदी... आपको देखकर बहुत अच्छा लगा. अमेरिकी राष्ट्रपति ने ये बात उस वक्त कही, जब उन्होंने संबोधन शुरू किया.

पीएम मोदी ने कहा, मैं अपने दोस्तों के बीच आकर अच्छा महसूस कर रहा हूं. मैं राष्ट्रपति बाइडेन को इस पहल के लिए धन्यवाद देता हूं. मोदी ने कहा कि हम अपने लोकतांत्रिक मूल्यों के कारण एकजुट है और आपसी सहयोग को नए मुकाम पर ले जाएंगे. पीएम मोदी ने कहा कि वैक्सीन, जलवायु परिवर्तन और उभरती तकनीक के क्षेत्र में सहयोग के जरिये क्वॉड दुनिया की भलाई करने वाली नई ताकत बनेगा.


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन, ऑस्ट्रेलियाई पीएम स्कॉट मॉरिसन और जापान के प्रधानमंत्री योशिहिदे सुगा के बीच शुक्रवार को क्वॉड समूह (Quad Group) की पहली बैठक शुरु हुई. पीएम मोदी ने कहा कि भारत के प्राचीन दर्शन वसुधैव कुटुंबकम के विस्तार को सकारात्मक दृष्टिकोण से देखते हैं, जो पूरी दुनिया को एक परिवार मानता है. हम परस्पर सहयोग को नई ऊंचाइयों पर ले जाएंगे. हम साझा मूल्यों के साथ धर्मनिरपेक्ष, स्थिर और समृद्ध हिन्द-प्रशांत क्षेत्र के लिए सहयोग बढ़ाएंगे.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


प्रधानमंत्री ने कहा कि यह सम्मेलन समय के साथ और सामयिक होगा. यह हिन्द प्रशांत क्षेत्र में स्थिरता के महत्वपूर्ण स्तंभ के तौर पर काम करेगा. अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने कहा कि उनका देश इस क्षेत्र में स्थिरता के लिए क्वॉड के सदस्य देशों और क्षेत्र के अन्य सहयोगियों के साथ काम करने को लेकर प्रतिबद्ध है. यह समूह विशेष तौर पर महत्वपूर्ण है, क्योंकि यह व्यावहारिक समाधानों और ठोस नतीजों पर ध्यान देता है.