''मिलेगा कुछ नहीं तो वोट काटने की जरूरत नहीं है'' : यूपी चुनाव को लेकर ममता बनर्जी ने कांग्रेस को दी सलाह

ममता बनर्जी का यह बयान ऐसे समय आया है जब गोवा विधानसभा चुनाव को लेकर तृणमूल और कांग्रेस पार्टी के बीच तनातनी की स्थिति है.

''मिलेगा कुछ नहीं तो वोट काटने की जरूरत नहीं है'' : यूपी चुनाव को लेकर ममता बनर्जी ने कांग्रेस को दी सलाह

ममता बनर्जी ने कहा, हमने समझाने की कोशिश की लेकिन उन्‍होंने नहीं सुनी.

नई दिल्‍ली :

अखिलेश यादव की पार्टी के प्रचार के लिए आज यूपी पहुंच रहीं पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने कहा है कि कांग्रेस को उत्‍तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी का समर्थन करना चाहिए क्‍योंकि उसे मिलेगा कुछ नहीं. ममता ने कहा कि उनकी पार्टी ने कांग्रेस को इस संबंध में 'मनाने' की कोशिश की लेकिन इसे नहीं सुना गया. लखनऊ उड़ान भरने से पहले ममता ने कोलकाता एयरपोर्ट पर संवाददाताओं से बातचीत में कहा, 'मिलेगा कुछ नहीं तो किसी का वोट काटने की जरूरत नहीं है. ' तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख ने कहा, 'हमने समझाने की कोशिश की लेकिन उन्‍होंने नहीं सुनी. अखिलेश यादव इस चुनाव में अपना पूरा जोर लगा रहे हैं. यदि हर समुदाय, हर वोटर उनके साथ रहा तो उनकी जीतने के अवसर बनेंगे. '

'कोरोना काल में तो कांग्रेस ने हद कर दी, बड़ा पाप किया: संसद में पीएम नरेंद्र मोदी

ममता का यह बयान ऐसे समय आया है जब गोवा विधानसभा चुनाव को लेकर तृणमूल और कांग्रेस पार्टी के बीच तनातनी की स्थिति है. तृणमूल कांग्रेस ने कहा है कि उनके नेतृत्‍व ने गठजोड़ के लिए सोनिया गांधी से संपर्क किया लेकिन कोई प्रतिक्रिया नहीं मिली. कांग्रेस ने तृणमूल को अविश्‍वसनीय सहयोगी (untrustworthy ally) बताया जो उसकी (कांग्रेस की) कीमत पर अपना आधार बनाना चाहता है. टीएमसी प्रमुख ने लगातार कांग्रेस से अपील की  है कि विपक्ष की एकता के लिए वह अपनी एकल लड़ाई (solo fight) को छोड़े. ममता ने पिछले सप्‍ताह कहा था, 'मुझे यह देखकर दुख होता है कि कांग्रेस, मेघायल और चंडीगढ़ में बीजेपी के पक्ष में चुनाव लड़ रही है. हम चाहते हैं कि बीजेपी विरोधी सभी फ्रंट एक साथ आएं लेकिन यदि कोइ इससे अलग सोचता है और अहंकारी बना रहा है तो हमें दूसरा रास्‍ता चुनना होगा. क्षेत्रीय पार्टियों को बीजेपी को हराने के लिए एक साथ आना चाहिए.'

अमेठी सीट से बीजेपी के संजय सिंह के खिलाफ कांग्रेस ने आशीष शुक्‍ला को बनाया प्रत्‍याशी

ममता कल सपा अध्‍यक्ष अखिलेश यादव के साथ मंगलवार को एक प्रेस कॉन्‍फ्रेंस को संबोधित कर सकती हैं. यूपी विधानसभा चुनाव के लिए सात चरणों में वोटिंग डाले जाएंगे और अखिलेश को उम्‍मीद है कि उनकी पार्टी सत्‍ताधारी बीजेपी को कड़ी चुनौती पेश करेगी. चुनाव के नतीजे 10  मार्च को घोषित होंगे. यूपी में कांग्रेस पार्टी, प्रियंका गांधी वाड्रा की अगुवाई में चुनाव लड़ रही है. बता दें ममता ने वर्ष 2017 के चुनाव में भी ममता ने अखिलेश याादव के पक्ष में प्रचार किया था, इस चुनाव में बीजेपी ने 300 से ज्‍यादा सीटें हासिल करते हुए सरकार बनाई थी.

धर्म संसद में दिए गए बयान हिंदू कर्म, हिंदू शब्‍द नहीं: नफरती भाषणों पर बोले RSS प्रमुख

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com