PM मोदी के बयान के बाद राहुल गांधी ने फिर दागे सवाल, पूछा- अगर जमीन चीन की थी तो...

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने कुछ देर पहले एक ट्वीट कर एक बार फिर मोदी सरकार पर निशाना साधा है.

PM मोदी के बयान के बाद राहुल गांधी ने फिर दागे सवाल, पूछा- अगर जमीन चीन की थी तो...

राहुल गांधी ने गालवान हिंसा को लेकर केंद्र सरकार से सवाल पूछे हैं. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

गालवान घाटी (Galwan Valley) में भारत-चीन (India China Clash) सैनिकों के बीच हुई हिंसा को लेकर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) लगातार केंद्र सरकार पर हमलावर हैं. राहुल गांधी ने कुछ देर पहले एक ट्वीट कर एक बार फिर मोदी सरकार पर निशाना साधा है. उन्होंने मोदी सरकार से सवाल पूछते हुए ट्वीट किया, 'प्रधानमंत्री ने भारतीय क्षेत्र को चीन के सामने आत्मसमर्पण कर दिया है. अगर जमीन चीन की थी तो हमारे जवान क्यों मारे गए. उन्हें किस जगह मारा गया.'

राहुल गांधी ने यह ट्वीट पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) के उस बयान के बाद दिया है, जिसमें प्रधानमंत्री ने कहा था, 'न वहां (गालवान घाटी) कोई हमारी सीमा में घुसा हुआ है, न ही हमारी कोई पोस्ट किसी दूसरे के कब्जे में है. आज हमारे पास ये कैपेबिलिटी है कि कोई भी हमारी एक इंच जमीन की तरफ आंख उठाकर भी नहीं देख सकता है.'

इससे पहले राहुल गांधी ने 'कौन जिम्मेदार है' कैप्शन लिखते हुए अपने एक वीडियो में पूछा था, 'भाइयों और बहनों, चीन ने हिंदुस्तान के शस्त्रहीन सैनिकों की हत्या करके एक बहुत बड़ा अपराध किया है. मैं पूछना चाहता हूं, इन वीरों को बिना हथियार खतरे की ओर किसने भेजा और क्यों भेजा. कौन जिम्मेदार है. धन्यवाद.'

भारत के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) ने गालवान घाटी हिंसा में सैनिकों की जान जाने पर संवेदना व्यक्त करते हुए एक ट्वीट किया था, जिसे री-ट्वीट करते हुए राहुल गांधी ने उनसे पांच सवाल पूछे थे. राहुल ने लिखा, 'अगर आपको इतना दर्द महसूस हो रहा है तो बताइए कि क्यों आपने ट्वीट में चीन का नाम न लेकर भारतीय सेना को अपमानित किया. क्यों दो दिन बाद सांत्वना व्यक्त कर रहे हैं. क्यों रैली को संबोधित कर रहे थे, जब एक ओर जवान शहीद हो रहे थे. क्यों छिपे हुए हैं और मीडिया के जरिए भारतीय सेना को इस घटना के लिए जिम्मेदार ठहरा रहे हैं. क्यों मीडिया के जरिए सरकार की जगह सेना को जिम्मेदार ठहराया जा रहा है.'

बता दें कि पूर्वी लद्दाख स्थित गालवान घाटी में चीनी सैनिकों के साथ हिंसक झड़प में 20 भारतीय सैनिकों को जान गंवानी पड़ी, जबकि दर्जनों सैनिक गंभीर रूप से घायल हुए. घायलों का लेह के अलग-अलग अस्पतालों में इलाज चल रहा है. झड़प में चीन के भी काफी सैनिक हताहत हुए. LAC पर तनावपूर्ण स्थिति को देखते हुए वायुसेना प्रमुख ने आज (शनिवार) कहा कि भारतीय सेना हर हालात से निपटने में सक्षम है. इस विवाद को हम शांतिपूर्ण तरीके से हल करना चाहते हैं.


VIDEO: खबरों की खबर : कैसे बिगड़े लद्दाख सीमा पर हालात

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com