यूक्रेन मुद्दे पर प्रधानमंत्री मोदी की उच्च-स्तरीय बैठक, ये अधिकारी और मंत्री रहे मौजूद

यूक्रेन के खिलाफ रूस द्वारा की जा रही सैन्य कार्रवाई के मद्देनजर प्रधानमंत्री मोदी की यह चौथी बैठक है. प्रधानमंत्री की यह बैठक ऐसे समय में हो रही है जब रूस ने यूक्रेन पर हमले तेज कर दिए हैं.

यूक्रेन मुद्दे पर प्रधानमंत्री मोदी की उच्च-स्तरीय बैठक, ये अधिकारी और मंत्री रहे मौजूद

भारतीय दूतावास ने विद्यार्थियों सहित सभी भारतीय नागरिकों को तुरंत कीव छोड़ने की सलाह दी. (File Photo)

नई दिल्ली:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यूक्रेन में जारी युद्ध के मद्देनजर वहां से भारतीयों, विशेषकर छात्रों की सुरक्षित निकासी को केंद्र में रखते हुए मंगलवार को एक उच्च-स्तरीय बैठक की अध्यक्षता की. आधिकारिक सूत्रों ने यह जानकारी दी. यूक्रेन के खिलाफ रूस द्वारा की जा रही सैन्य कार्रवाई के मद्देनजर प्रधानमंत्री मोदी की यह चौथी बैठक है. इस बैठक में विदेश मंत्री एस जयशंकर, केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल और शीर्ष अधिकारी मौजूद थे.

प्रधानमंत्री की यह बैठक ऐसे समय में हो रही है जब रूस ने यूक्रेन पर हमले तेज कर दिए हैं. इस हमले में मंगलवार को एक भारतीय छात्र की मौत भी हो गई. रूस द्वारा खारकीव में की गई गोलाबारी में भारतीय छात्र नवीन शेखरप्पा ज्ञानगौदर की मौत हो गई. नवीन कर्नाटक के हावेरी जिले में चलगेरी के निवासी थे. प्रधानमंत्री की प्राथमिकता यूक्रेन में फंसे भारतीयों को वापस लाने पर है.

इससे पहले, भारतीय दूतावास ने मंगलवार को ही विद्यार्थियों सहित सभी भारतीय नागरिकों को तुरंत कीव छोड़ने की सलाह दी. यूक्रेन में फंसे भारतीयों की सुरक्षित वापसी के लिए शुरू किए गए ‘‘ऑपरेशन गंगा'' में और तेजी के प्रयास के तहत प्रधानमंत्री मोदी ने मंगलवार को ही भारतीय वायुसेना से इस अभियान में शामिल होने के लिए कहा है. भारतीय वायुसेना के सी-17 विमान को जल्द ही ‘‘ऑपरेशन गंगा'' में शामिल किया जा सकता है.

यह भी पढ़ें:
"यह नरक जैसा था" : यूक्रेन से दिल्ली लौटे छात्र ने NDTV से कहा
'अगर तुम्हारे पास झंडा हो' : यूक्रेन में मारे गए भारतीय छात्र को पिता ने 2 दिन पहले दी थी आखिरी सलाह
Ukraine में बमबारी में जान गंवाने वाले भारतीय छात्र के पिता से PM मोदी ने की बात, जताया दु:ख

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


यूक्रेन में फंसे भारतीयों को वापस लाने के लिए क्या रेड क्रॉस से मदद लेनी चाहिए?



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)