तीसरी लहर की तैयारी, रिकॉर्ड 16 दिनों में DRDO ने जम्मू में बनाया 500 बेड का कोविड अस्पताल

अस्पताल में 24 घंटे डॉक्टर और पैरा मेडिकल स्टाफ की सुविधा जम्मू-कश्मीर प्रशासन मुहैया करवा रही है. अस्पताल में 2×20 KL लिक्विड मेडिकल ऑक्सिजन स्टोरेज टैंक लगाए गए है ताकि सभी बेड को पर्याप्त मात्रा में ऑक्सिजन मिल सके. इसके अलावा अस्पताल में 50,000 लीटर शुद्ध पेयजल का रोजाना सप्लाई का इंतजाम किया गया है.

तीसरी लहर की तैयारी, रिकॉर्ड 16 दिनों में DRDO ने जम्मू में बनाया 500 बेड का कोविड अस्पताल

500 ऑक्सिजन बेड वाले DRDO के इस अस्पताल में 125 आईसीयू बेड हैं.

जम्मू:

पीएम केयर्स फंड (PM Cares Fund) के तहत डीआरडीओ (DRDO) के द्वारा जम्मू के भगवती नगर में बनाया गया कोविड (Covid-19) अस्पताल पूरी तरह से ऑपेरशनल हो गया है. 500 ऑक्सिजन बेड वाले अस्पताल में 125 आईसीयू बेड हैं. सारे आइसीयू बेड में वेंटिलेटर लगे हुए हैं. यह अस्थायी अस्पताल रेकॉर्ड 16 दिनों में बनकर तैयार किया गया है. इसको बनाने में जम्मू कश्मीर केंद्र शासित प्रदेश ने भी मदद की है.

कोविड महामारी के दौर में इस अस्पताल को बनाने का मकसद जम्मू इलाके के गंभीर मरीजो को बेहतर मेडिकल सुविधा मुहैया कराना है. यहां पर कोरोना मरीजों के लिये मुफ्त में दवा, पीपीईएस, मेडिकल टेस्टिंग सुविधा, लैब सुविधा, इंटरनेट सहित और सारी मेडिकल सुविधाएं  उपलब्ध कराई गई हैं. 

अस्पताल में 24 घंटे डॉक्टर और पैरा मेडिकल स्टाफ की सुविधा जम्मू-कश्मीर प्रशासन मुहैया करवा रही है. अस्पताल में 2×20 KL लिक्विड मेडिकल ऑक्सिजन स्टोरेज टैंक लगाए गए है ताकि सभी बेड को पर्याप्त मात्रा में ऑक्सिजन मिल सके. इसके अलावा अस्पताल में 50,000 लीटर शुद्ध पेयजल का रोजाना सप्लाई का इंतजाम किया गया है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


हालांकि, अब बड़े शहरों में कोरोना के मामले अब कम आ रहे हैं, इसके बावजूद जम्मू शहर में ऐसे कोविड अस्पताल के ऑपेरशनल होने से कोरोना संक्रमितो की जान बहुत हद तक बचाई जा सकेगी.