महाराष्‍ट्र बंद के दौरान शिवसेना कार्यकर्ता ने मारा ऑटोरिक्‍शा चालक को थप्‍पड़ 

बंद के दौरान शिवसेना कार्यकर्ताओं को ठाणे जिले में सड़कों पर गश्त करते और ऑटोरिक्शा चालकों को रोकते देखा गया. इस दौरान उन्होंने एक ड्राइवर को थप्पड़ भी मार दिया.

महाराष्‍ट्र बंद के दौरान शिवसेना कार्यकर्ता ने मारा ऑटोरिक्‍शा चालक को थप्‍पड़ 

बंद के दौरान शिवसेना कार्यकर्ता ने एक ऑटो ड्राइवर को थप्पड़ भी मार दिया.

मुंबई :

महाराष्‍ट्र (Maharashtra) के ठाणे में शिवसेना कार्यकर्ताओं (Shiv Sena Worker) ने ऑटोरिक्शा चालकों (Auto Rickshaw Driver) पर हमला कर दिया. इस घटना का एक वीडियो सामने आया है. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के लखीमपुर खीरी (Lakhimpur Kheri) में चार किसानों को कुचले जाने की घटना के एक हफ्ते बाद महा विकास अघाड़ी सरकार (Mahavikas Aghadi Government) ने किसानों के साथ एकजुटता दिखाने के लिए महाराष्‍ट्र बंद (Maharashtra Bandh) का आह्वान किया था. बंद के दौरान शिवसेना कार्यकर्ताओं को ठाणे जिले में सड़कों पर गश्त करते और ऑटोरिक्शा चालकों को रोकते देखा गया. इस दौरान उन्होंने एक ड्राइवर को थप्पड़ भी मार दिया. साथ ही कुछ लोगों के पास लाठियां भी थीं, जिससे वह वहां से गुजर रहे ऑटोरिक्शा चालकों को मारते नजर आए. 

समाचार एजेंसी पीटीआई ने बताया कि कुछ लोगों द्वारा पथराव किए जाने के बाद दिन के अधिकांश समय सार्वजनिक बसें भी सड़कों से नदारद रहीं.  शाम करीब चार बजे बंद खत्म होने के बाद बस सेवा बहाल हो सकी. 

जीआरपी आयुक्‍त कैसर खालिद ने कहा कि ठाणे, मुलुंड और विक्रोली में तीन रेलवे स्टेशनों पर प्रदर्शनकारियों को देखा गया. खालिद ने ट्वीट किया, "प्रदर्शनकारियों द्वारा ठाणे, मुलुंड और विक्रोली रेलवे स्टेशनों पर प्रदर्शन किया गया है. अधिकारियों ने उन्हें स्टेशन परिसर में प्रवेश नहीं करने या यात्रियों के लिए असुविधा पैदा न करने की सलाह दी है. इसके बाद वे चले गए."

महाराष्ट्र में व्यापारियों के एक संघ ने रविवार को बंद का विरोध किया, लेकिन बाद में इसका समर्थन करने का फैसला किया. इस कदम को सत्तारूढ़ महाविकास अघाड़ी द्वारा जबरदस्ती के रूप में देखा गया. क्योंकि भाजपा ने कहा था कि वह शिवसेना, कांग्रेस और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी गठबंधन सरकार को बंद के दिन जबरन दुकानें बंद करने की अनुमति नहीं देगी. 

महाराष्ट्र के मंत्री नवाब मलिक ने आज पहले दावा किया कि बंद "शांतिपूर्वक है". हालांकि उन्होंने स्वीकार किया कि "लोगों द्वारा पत्थर फेंकने की कुछ घटनाओं" की खबर है. मलिक ने कहा, "कुछ जगहों पर लोगों द्वारा पत्थर फेंकने की खबरें हैं, जो सही नहीं है. किसी को भी ऐसी गतिविधियों में शामिल नहीं होना चाहिए."

- - ये भी पढ़ें - -
* ''फार्मर्स लाइव्‍स मैटर " : लखीमपुर खीरी हिंसा को लेकर NDTV से उर्मिला मातोंडकर
* 'जनता क्यों भुगते', महाराष्ट्र में बंद से नाखुश लोगों ने दी तीखी प्रतिक्रिया, BJP भी भड़की
* महाराष्ट्र बंद : मुंबई में ज्यादातर दुकानें और बसें बंद, बेस्ट की 8 बसों में हुई तोड़फोड़

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


लखीमपुर हिंसा के विरोध में महाराष्ट्र बंद, कई जगह जबरन बंद कराया गया