कोरोना रिटर्न्स! संक्रमण की रफ्तार बढ़ी लेकिन मुंबई के बाज़ार हैं बेख़ौफ़

भारत में कोरोना के कुल 219262 ऐक्टिव केस हैं, महाराष्ट्र में 130547. मतलब देश में कोरोना के 59% ऐक्टिव मामले महाराष्ट्र से ही हैं. राज्य सरकार लॉकडाउन (Lockdown) लगाने के पक्ष में नहीं है पर 31 मार्च तक कुछ सख़्त पाबंदियों का ऐलान हुआ है.

कोरोना रिटर्न्स! संक्रमण की रफ्तार बढ़ी लेकिन मुंबई के बाज़ार हैं बेख़ौफ़

बढ़े मामलों को देखते हुए महाराष्ट्र सरकार ने 31 मार्च तक के लिए पाबंदियों का ऐलान किया है

खास बातें

  • राज्य में 31 मार्च तक लगी कुछ पाबंदियां
  • शादी में 50, अंतिम संस्कार में 20 लोगों की इजाज़त
  • लॉकडाउन नहीं पर कड़े नियम लागू : राजेश टोपे
मुंबई:

कोरोना हॉटस्पॉट महाराष्ट्र में देश के कुल 59% ऐक्टिव कोरोना (Coronavirus) मामले हैं. नयी लहर के दौरान 24 घंटों में देश की 40% मौतें भी महाराष्ट्र से रिपोर्ट हुई हैं. मुंबई में कोरोना (Mumbai Coronavirus) की रफ़्तार बढ़ी है लेकिन बाज़ारों में बेख़ौफ़ और लापरवाह भीड़ पर कोई लगाम नहीं. राज्य सरकार लॉकडाउन (Lockdown) लगाने के पक्ष में नहीं है पर 31 मार्च तक कुछ सख़्त पाबंदियों का ऐलान हुआ है. मुंबई की सबसे बड़ी फूल मंडी दादर बाज़ार सबसे व्यस्त बाज़ारों में एक, सब्ज़ी, फल, कपड़ों का थोक बाज़ार है, स्टेशन से लगा है. सुबह 4 से शाम 6 के बीच बड़ा व्यापार व्यापारी करते हैं, आम ख़रीददारों की भीड़ यहां हमेशा दिखती है. कोरोना की नयी लहर के बीच यहां की भीड़ में कोई कमी नहीं है, बिना मास्क या मुंह के नीचे मास्क के साथ लोग दिख रहे हैं. बीएमसी के मार्शल तैनात हैं लेकिन लोगों में कुछ ख़ास डर नहीं. 

महाराष्ट्र के अधिकारी कोरोना के कहर से बचने के लिए ठीक से काम नहीं कर रहे : केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव

भारत में कोरोना के कुल 219262 ऐक्टिव केस हैं, महाराष्ट्र में 130547. मतलब देश में कोरोना के 59% ऐक्टिव मामले महाराष्ट्र से ही हैं. 24 घंटों में देश में 26,291 नए मामले रिपोर्ट हुए, 118 की मौत के साथ तो महाराष्ट्र में 24 घंटे में 15051 कोरोना के नए मरीज मिले हैं और 48 की मौत हुई. यानी 24 घंटे में कुल 57% मामले महाराष्ट्र से आए और 40% मौतें भी इसी राज्य से रिपोर्ट हुईं.

बढ़े मामलों को देखते हुए महाराष्ट्र सरकार ने अधिसूचना जारी करते हुए 31 मार्च तक के लिए पाबंदियों का ऐलान किया है. सभी सिनेमा हॉल 50% से काम करेंगे, सभी दफ़्तरों में 50% से काम होगा. सामाजिक, सांस्कृतिक, राजनीतिक और धार्मिक एकत्रीकरण को मंजूरी नहीं दी जाएगी. जबकि, शादियों में सिर्फ़ 50 और अंतिम संस्कार में 20 लोगों को शामिल होने की इजाज़त होगी. नियमों का उल्लंघन करने पर इन प्रतिष्ठानों को तब तक के लिए बंद कर दिया जाएगा जब तक कोविड-19 महामारी को लेकर केंद्र सरकार की अधिसूचना लागू है.

एस्ट्राज़ेनेका को लेकर मिल रही शिकायतों पर केंद्र गंभीर, लेकिन कोविशील्ड वैक्सीन पर रोक के आसार नहीं : सूत्र

महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री कहते हैं कि लॉकडाउन लगाने की बजाय कड़े प्रतिबंध लगाए गए हैं. स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने कहा, ''शादी में और सामाजिक कार्यक्रमों में इकट्ठा होने वाले भीड़ को रोकने के लिए सरकार कड़े नियम लगा रही है. साथ ही लोगों से ये गुजारिश भी की जा रही है कि वो बेवजह की भीड़ ना करें और सतर्क रहें. कोरोना की रोकथाम के लिए बनाए गए नियमों का पालन अनिवार्य रूप से करें.''


मुंबई में सोमवार को कोविड19 के 1712 नए केस दर्ज हुए थे. तीन हफ़्तों में मामले दोगुने हुए हैं, आर्थिक राजधानी मुंबई पर सरकार लॉकडाउन की चोट नहीं देना चाहती लेकिन बीमारी की नयी लहर के बीच ऐसी लापरवाह भीड़ सरकार-बीएमसी के लिए चिंता का विषय है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com