एस्ट्राज़ेनेका को लेकर मिल रही शिकायतों पर केंद्र गंभीर, लेकिन कोविशील्ड वैक्सीन पर रोक के आसार नहीं : सूत्र

भारत में दी जा रही कोविशील्ड वैक्सीन के सिलसिले में सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों के साथ बैठक की गई है, लेकिन फिलहाल Covishield पर रोक लगाए जाने के आसार नहीं हैं.

खास बातें

  • AstraZeneca वैक्सीन को लेकर मिल रही ख़बरों पर स्वास्थ्य मंत्रालय गंभीर
  • Covishield Vaccine पर रोक का फिलहाल सवाल ही पैदा नहीं होता : सूत्र
  • Covishield की वजह से भारत में ब्लड क्लॉटिंग की कोई शिकायत नहीं आई

COVID-19 के उपचार के लिए दुनिया के कई देशों द्वारा दी जा रही AstraZeneca वैक्सीन के बाद खून के थक्के जमने की शिकायतों के बारे में मिल रही ख़बरों को लेकर भारत का स्वास्थ्य तथा परिवार कल्याण मंत्रालय भी गंभीर है, तथा भारत में दी जा रही कोविशील्ड वैक्सीन के सिलसिले में सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों के साथ बैठक की गई है, लेकिन फिलहाल Covishield पर रोक लगाए जाने के आसार नहीं हैं.

मंत्रालय के शीर्ष सूत्रों ने बताया है कि Covishield Vaccine पर रोक लगाने का फिलहाल सवाल ही पैदा नहीं होता, क्योंकि इस वैक्सीन की वजह से भारत में अब तक ब्लड क्लॉटिंग की कोई शिकायत नहीं आई है. वैसे, इसे लेकर एक-दो दिन में ही AEFI (एडवर्स ईवेन्ट्स फॉलोइंग इम्युनाइज़ेशन) की बैठक होगी, क्योंकि कोविशील्ड वैक्सीन को लेकर किसी भी तरह का फैसला लेने से पहले केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय वैज्ञानिक प्रमाणों को जांचना चाह रहा है.


गौरतलब है कि WHO, यानी विश्व स्वास्थ्य संगठन तथा दवाओं पर नज़र रखने वाली यूरोपीय संस्था यूरोपियन मेडिसिन्स एजेंसी (EMA) द्वारा AstraZeneca Corona Vaccine के सुरक्षित होने की बात कहे जाने के बाद भी जर्मनी, इटली, फ्रांस, स्पेन, पुर्तगाल, स्लोवानिया, लातविया ने AstraZeneca वैक्सीन का इस्तेमाल बंद कर दिया है, और यूरोप से बाहर इंडोनेशिया ने भी कोरोनावायरस के खिलाफ कई देशों में इस्तेमाल की जा रही एस्ट्राज़ेनेका वैक्सीन का प्रयोग निलंबित कर दिया है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


देखें VIDEO: कोरोना का खतरा अब भी बरकरार, नए इलाकों में हो रहा है विस्तार