बेंगलुरू, चेन्‍नई में भारी बारिश के बाद बाढ़ की स्थिति, बचाव कार्य में लगानी पड़ीं नाव

अल्लालसन्द्रा तालाब भरकर ओवर फ्लो हो गया और इससे आसपास की जगहों में पानी घुस गया है.

बेंगलुरू, चेन्‍नई में भारी बारिश के बाद बाढ़ की स्थिति, बचाव कार्य में लगानी पड़ीं नाव

कई इलाकों में भरा पानी.

बेंगलुरू/ चेन्‍नई:

बेंगलुरु के उत्तरी इलाके में रविवार रात जमकर बारिश हुई है, जिसकी वजह से कई इलाकों में पानी भर गया है. बारिश के चलते लोगों का काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है. अल्लालसन्द्रा तालाब भरकर ओवर फ्लो हो गया और इससे आसपास की जगहों में पानी घुस गया है. वहीं, शहर में रातभर हुई बारिश के चलते सड़कों पर भी पानी भर गया है. एलहंका, नागवारा, कोगिलु क्रॉस और विद्यारण्यपुरा इलाकों में बारिश की वजह से ज्यादा पानी भरा है. पिछले 24 घंटे में सिर्फ एलहंका इलाके में ही 134 MM बारिश हुई है. उधर तमिलनाडु की राजधानी चेन्‍नई के मनाली (Manali) उपनगर के कई हिस्‍सों में भी भारी बारिश के कारण बाढ़ जैसी स्थिति बन गई है. यहां के कई घरों में पानी भर गया.. उत्‍तरी चेन्‍नई के कई हिस्‍से सासथाईवर नदी से अतिरिक्‍त पानी छोड़े जाने के कारण जलमग्‍न हो गए हैं. पड़ोस के राज्‍य आंध्र के चित्‍तूर की ओर से आए पानी के कारण भी यह नौबत आई है. उत्‍तरी चेन्‍नई के कुछ हिस्‍सों में तो हालात से निपटने के लिए नाव लगानी पड़ी हैं. 

आंध्र प्रदेश में भारी बारिश में फंसे लोगों के लिए 'मसीहा' बनी भारतीय वायु सेना, देखें Video

बता दें, दक्षिण भारत के कई राज्यों में जमकर बारिश हो रही है. न्यूज एजेंसी भाषा की एक रिपोर्ट के मुताबिक, उत्तरी-पूर्वी मानसून के कारण तमिलनाडु में इस बार सामान्य से 68 प्रतिशत ज्यादा वर्षा हुई है. सलेम के मेत्तुर बांध से भाी मात्रा में पानी छोड़ा जा रहा है.  यह बांध कावेरी के डेल्ट क्षेत्र में स्थित जिलों की पानी की जरूरत पूरा करता है. विल्लुपुरम में थेनपेन्नाई नदी और कांचीपुरम में पलार में पानी उफान पर हैं. 

आंध्र के सबसे बड़े जलाशय में रिसाव के बाद बाढ़ का खतरा, हजारों लोगों पर संकट


वहीं, आंध्र प्रदेश में पेन्ना नदी में बाढ़ आने की वजह से सैकड़ों वाहन और यात्री फंस गए हैं, अहम राजमार्गों पर यातायात बंद कर दिया है और दक्षिणी हिस्से को देश के अन्य भागों से जोड़ने वाले रेल मार्ग के प्रभावित होने से 100 से ज्यादा ट्रेनों को रद्द करना पड़ा है. बाढ़ के पानी में से कुछ और शव मिले हैं। इसके बाद प्रदेश में अलग अलग जिलों में बारिश से संबंधित घटनाओं में मृतकों की संख्या बढ़कर 31 हो गई है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


आंध्र प्रदेश में बारिश और बाढ़ का कहर, वेंकटेश्वर मंदिर में भी पानी भरा