ग्रेटा थनबर्ग की ओर से ट्वीट किए गए ''टूलकिट'' के आधार पर दर्ज की FIR, नाम का जिक्र नहीं : दिल्‍ली पुलिस

दिल्ली पुलिस ने ऐसे सोशल मीडिया हैंडल के खिलाफ केस रजिस्टर किया था जो गलत जानकारी फैला रहे थे.. इस 'टूलकिट' के जरिये माहौल और भारत सरकार की छवि खराब करने की साजिश थी.

ग्रेटा थनबर्ग की ओर से ट्वीट किए गए ''टूलकिट'' के आधार पर दर्ज की FIR, नाम का जिक्र नहीं : दिल्‍ली पुलिस

ग्रेटा थनबर्ग ने ट्वीट करके किसान आंदोलन का समर्थन किया है

नई दिल्ली:

Farmer's Protest: किसानों के प्रदर्शन को लेकर ग्रेटा थनबर्ग (Greta Thunberg)  के ट्वीट को लेकर दिल्‍ली पुलिस (Delhi Police) ने केस दर्ज किया है. पुलिस ने गुरुवार को एक प्रेस कॉन्‍फ्रेंस करके बताया कि FIR में किसी का नाम नहीं डाला गया है. प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में बताया गया कि 300 से ज्यादा ट्विटर हैंडल पर उसकी नजर थी. किसान आंदोलन (Kisan Aandolan) को लेकर चल रही जांच में सोशल मीडिया पर भी गहराई से नजर रखी गई थी. दिल्ली पुलिस ने ऐसे सोशल मीडिया हैंडल के खिलाफ केस रजिस्टर किया था जो गलत जानकारी फैला रहे थे. पुल‍िस केे अनुुुुुसार, इस 'टूलकिट' के जरिये माहौल और भारत सरकार की छवि खराब करने की साजिश थी.

''कोई भी धमकी...'': दिल्‍ली पुलिस के केस दर्ज करने के बाद ग्रेटा थनबर्ग का नया ट्वीट

पुलिस के अनुसार, इसमें खास तारीख पर 'ट्विटर स्ट्रोम' का भी जिक्र किया गया है (ग्रेटा का बिना नाम लिए). उसके द्वारा अपलोड किए गए टूलकिट पर नजर है, जिसकी जांच हो रही है. इसको लेकर दिल्ली पुलिस ने सेक्शन 124 A (sedition), 153A, 153 और 120 B के तहत मुकदमा दर्ज किया है. पुलिस ने साफ किया है कि FIR में ग्रेटा थनबर्ग का नाम नहीं लिखा गया है उसके ट्वीट और टूलकिट पर हम केस रजिस्टर कर जांच कर रहे हैं. इस टूलकिट के जरिये माहौल खराब करने और भारत सरकार की छवि खराब करने की साजिश रची गई थी.


किसान संगठनों का 6 फरवरी को देशभर में चक्का जाम

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com